विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

तीनों फॉर्मेट में एक ही कप्तान होना अच्छा: धोनी

टीम की जरूरतों के हिसाब से खेलने के लिए एकदम तैयार

FP Staff Updated On: Jan 13, 2017 03:21 PM IST

0
तीनों फॉर्मेट में एक ही कप्तान होना अच्छा: धोनी

भारत और दुनिया के सबसे सफलतम कप्तानों में शुमार महेंद्र सिंह धोनी ने वनडे और टी 20 क्रिकेट में कप्तानी छोड़ने के बाद पहली बार मीडिया से कहा कि वह टीम की जरूरतों के हिसाब से खेलने के लिए एकदम तैयार हैं.

धोनी ने कहा कि पहले मेरा बैटिंग ऑर्डर फिक्स नहीं था, मुझे 25 से 30 ओवर खेलने को नहीं मिलते थे. स्वाभाविक है कि टीम की जरूरत के हिसाब से अपनी बैटिंग में बदलाव किया. जब आखिरी ओवर में आप बैटिंग करते हैं तो आपको तेज खेलने की जरूरत होती है.

उन्होंने कहा कि टीम की जरूरत के लिहाज से मेरा बैटिंग ऑर्डर बदलता रहा. उन्होंने कहा कि आने वाले समय में टीम की जरूरत के हिसाब से बैटिंग करूंगा.

मुझे  पता था कि भारत में तीनों फॉर्मेट में एक ही कप्तान होना ठीक है. मुझे भी यही लगता है कि तीनों फॉर्मेट में एक ही कप्तान हो. मैंने साउथ अफ्रीका सीरीज के दौरान ही बीसीसीआई को बता दिया था कि मैं कप्तानी छोड़ना चाहता हूं.

धोनी ने विराट के बारे में कहा कि वह अब कप्तानी संभालने के लिए पूरी तरह तैयार है. टेस्ट मैचों में वह शानदार कप्तानी कर रहे हैं. मैं भी यही चाहता था कि कोहली को तीनों फॉर्मेट में कप्तानी के लिए थोड़ा समय मिल जाए.

अबतक के सफर के बारे में उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर अब तक क्रिकेट मेरे लिए उतार-चढ़ाव भरा रहा है. कभी मेरे लिए समय सफलता से भरा रहा तो कभी कठिन दौर से गुजरना पड़ा. जब टीम के सीनियर प्लेयर्स एक-एक करके विदा हुए तो टीम अच्छे प्रदर्शन को बरकरार रखना मेरे लिए चुनौती की तरह रहा.

उन्होंने कहा कि विराट कोहली कप्तानी के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. मुझे किसी बात का अफसोस नहीं, विराट कोहली का सलाह देता रहूंगा. धोनी ने कहा कि विकेटकीपर के तौर पर मुझे हमेशा कप्तान को सलाह देने ही पड़ेगी.

धोनी ने कहा कि मौजूदा भारतीय टीम काफी मजबूत है. टीम के पास हर परिस्थिति के हिसाब से खिलाड़ी मौजूद हैं. इस भारतीय तेज गेंदबाज भी शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi