S M L

अगर नहीं होते इमरान खान तो शायद 26 साल पहले पाकिस्‍तान का वर्ल्‍ड चैंपियन बनना हो जाता मुश्किल

इमरान खाान ने बल्‍ले और गेंद दोनों में अपनी स्किल्‍स दिखाई

Updated On: Jul 26, 2018 12:17 PM IST

Kiran Singh

0
अगर नहीं होते इमरान खान तो शायद 26 साल पहले पाकिस्‍तान का वर्ल्‍ड चैंपियन बनना हो जाता मुश्किल

पूर्व पाकिस्‍तान क्रिकेटर इमरान खान अपने देश के नए प्रधान मंत्री बनने के काफी करीब पहुंच गए हैं. उनकी पार्टी पाकिस्‍तान तहरीक- ए-इंसाफ (पीटीआई) जीत से सिर्फ कुछ इंच दूर है. इमरान खान की पार्टी को जीत के लिए 272 सीट्स में से 137 सीट की जरूरत है. जहां अब यह पूर्व क्रिकेटर राजनीति के मैदन पर एक बड़ा ताज अपने सिर पहनने वाला है, वहीं क्रिकेट के मैदान पर भी इनके सिर पर सबसे बड़ा ताज अभी तक मौजूद हैं. इमरान खान वर्ल्‍ड कप उठाने वाले पाकिस्‍तान के एक मात्र कप्‍तान हैं. 26 साल पहले उन्‍होंने पाकिस्‍तान को विश्‍व विजेता बनाया था.

(FILES) In this file photo taken on March 25, 1992, Pakistan's cricket captain Imran Khan holds the 1992 World Cup trophy during the victory presentation at the Melbourne Cricket Ground in Melbourne. Imran Khan was catapulted to global fame as a World Cup cricket champion, but the man known in the West as a celebrity playboy is now seeking to lead Pakistan as a populist, religiously devout, anti-corruption reformist. / AFP PHOTO / Stephen DUPONT

1992 वर्ल्‍ड कप में इमरान खान की टीम खिताबी मुकाबले में पहुंची और उनके सामने इंग्‍लैंड की बड़ी चुनौती थी. ऐसे समय में इमरान ने बल्‍ले और गेंद दोनों से अपनी स्किल दिखाई. इंग्लिश गेंदबाजों सामने पाकिस्‍तानी बल्‍लेबाजी क्रम दम तोड़ रही थी. पाकिस्‍तान ने सिर्फ 24 रन पर दो विकेट गंवा दिए थे. आमेर सोहेल और रमीज राजा जल्‍द ही पवेलियन लौटे गए थे. इसके बाद मैदान पर आए पाकिस्‍तानी कप्‍तान, जिन्‍होंने पहले जावेद मियांदाद के साथ मिलकर 139 रन की बड़ी पार्टनर‍शिप करके टीम का हौसला बढ़ाया और मियांदाद के आउट होने के बाद कप्‍तान ने इंजमाम उल हक के साथ साझेदारी टीम इंग्‍लैंड के सामने 250 रन का लक्ष्‍य रखा . इमरान ने 110 गेंदों पर 5 चौके और एक छक्‍का लगाकर 72 रन की पारी खेली थी.

इसके बाद लक्ष्‍य को बचाने उतरी पाकिस्‍तान ने इंग्‍लैंड को 6 रन पर इयान बॉथम को डक करने पहला झटका दे दिया. इंग्‍लैंड ने 69 रन पर अपने चार विकेट गंवा दिए थे. ऐसे में फेरब्रदर ने पारी को संभालने की कोशिश की, लेकिन वह उनके रूप में टीम को 7वां झटका लगा. इंग्‍लैंड को जीत के लिए आखिरी ओवर में 23 रन की जरूरत थी और ऐसे में कप्‍तान ने गेंद अपने हाथ में ली और रिचर्ड इलिंगवर्थ को रमीज राजा के हाथों कैच करवाकर अपनी टीम को पहली बार ट्रॉफी उठाने का हक भी दिलवा दिया. ट्रॉफी उठाने के बाद इमरान खान ने वनडे क्रिकेट से संन्‍यास की भी घोषणा कर दी थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi