S M L

ICC Women's World T20: तो क्या ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फिर आग उगलेगा कप्तान का बल्ला

साल 2017 के वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मुकाबले में हरमनप्रीत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐसी पारी खेली थी जिसके बाद दुनिया भर के लिए वह रन मशीन बन गई थी

Updated On: Nov 17, 2018 09:21 AM IST

FP Staff

0
ICC Women's World T20: तो क्या ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फिर आग उगलेगा कप्तान का बल्ला

भारत को वर्ल्ड टी20 के सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए बहुत ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी है. भारत को अब तक खेले गए अपने तीनों लीग मैचों में बहुत ज्यादा कड़ी चुनौती नहीं मिली. हालांकि अपने आखिरी लीग मैच में भारत के रोमांचक मैच की उम्मीद कर रहा होगा. शनिवार को भारत ऑस्ट्रेलिया से भिड़ने वाला है

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस मैच लोगों की नजरें भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर पर टिकी होंगी. लाजिमी भी है साल 2017 के वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मुकाबले में हरमनप्रीत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐसी पारी खेली थी जिसके बाद दुनिया भर के लिए वह रन मशीन बन गई थी.

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया का पहला विकेट पहले ही ओवर में स्मृति मंधाना का गिरता है. दूसरी सलामी बल्लेबाजी पूनम राउत भी 14 रन बनाकर पवैलियन लौट जाती हैं. 35 रन पर दो विकेट गंवा चुकी टीम इंडिया मुश्किल में नजर आती है. छह बार की वर्ल्ड चैंपियन ऑस्ट्रेलिया मुकाबले में पूरी तरह से हावी हो जाती है. ऐसे वक्त में क्रीज पर एंट्री होती है हरमनप्रीत कौर की. और फिर इतिहास बन जाता है. हरमनप्रीत ने गुरूवार को डर्बी के मैदान पर एक ऐसी पारी खेली जिसे क्रिकेट के इतिहास में हमेशा याद किया जाएगा.

इंडिया की टी20 कप्तान हरमनप्रीत कौर वीमेंस क्रिकेट की सबसे बड़ी हिटर्स में से एक हैं. इस बल्लेबाज ने टी20 इंटरनेशनल में 27.91 के औसत से 1703 रन बनाए हैं. 7 नवंबर को इंग्लैंड के खिलाफ हुए प्रैक्टिस मैच में हरमनप्रीत ने नाबाद 62 रन बनाकर टीम इंडिया को जानदार जीत दिलाई थी. हरमनप्रीत कौर ने किया सुपर लीग में भी 7 पारियों में 164 रन बनाए थे. कई मौकों पर हरमनप्रीत ने तेजी से बल्लेबाजी कर अपनी टीम को जीत दिलाई थी. ऐसे में टीम इंडिया को उनसे वर्ल्ड टी20 में भी उनसे यही उम्मीद होगी.

दूसरे छोर पर विकेट गिरते रहे लेकिन हरमनप्रीत का बल्ले से लगातार रन बरसते रहे . और बारिश से बाधित 43 ओवर के इस मुकाबले में अंत तक कंगारू गेंदबाज हरमनप्रीत का विकेट नहीं ले सकीं. अंत में जब स्कोर बोर्ड पर भारत के 281 रन दर्ज थे तो उनमें से 171 रन अकेली हरमनप्रीत के नाम पर थे. 115 गेंदों पर 20 चौके और सात छक्कों के साथ खेली इस पारी ने ना सिर्फ भारत को वर्ल्डकप के फाइनल में पहुंचा दिया बल्कि हरमनरप्रीत का नाम भी पूरी दुनिया को पता चल गया.

भारत के आत्मविश्वास के लिए सेमीफाइनल से पहले यह जीत बहुत जरूरी है. और भारतीय फैंस एक बार फिर हरमनप्रीत कौर से ऐसी ही पारी की उम्मीद करेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi