S M L

जानिए आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में कैसे और पुख्ता हो गई है टीम इंडिया की बादशाहत

ताजा रैंकिंग में भारत के 125 पॉइंट्स हो गए हैं जबकि दूसरी पोजिशन पर साउथ अफ्रीका के 112 पॉइंटस ही हैं

FP Staff Updated On: May 02, 2018 11:02 AM IST

0
जानिए आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में  कैसे और पुख्ता हो गई है टीम इंडिया की बादशाहत

विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ने हालांकि साउथ अफ्रीका दौरे के बाद कोई टेस्ट नहीं खेला है लेकिन आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में उसकी बादशाहत और ज्यादा मजबूत हो गई है.

हाल ही में जारी ताजा रैंकिंग में भारत ने ऑस्‍ट्र‍ेलिया और साउथ अफ्रीका पर अपनी बढ़त को और मजबूत कर लिया है. टेस्ट रैंकिंग की कैलकुलेशन से 2014-15 के परिणाम निकाल देने तथा 2015-16 से लेकर 2016-17 के परिणामों को 50 प्रतिशत ही महत्व देने के बाद भारत ने दूसरे नंबर पर काबिज साउथ अफ्रीका पर अपनी बढ़त 13 अंक की कर ली है. पहले यह केवल चार अंक की ही थी.

 

 

भारत ने 2014-15 के सीजन में ऑस्ट्रेलिया से चार टेस्ट मैचों की सीरीज 0-2 से गंवाई थी. इससे पहले वह 2014 की गर्मियों में इंग्लैंड से 1-3 से हार गया था. इसके बाद भारत का प्रदर्शन शानदार रहा. उसने 2016-17 के सीजन  में 13 टेस्ट मैचों में से दस में जीत दर्ज की. भारत के कुल अंक अब 125 हो गए हैं जबकि साउथ अफ्रीका के पांच अंक कम होने कारण 112 अंक ही रह गए हैं. साउथ अफ्रीका हालांकि बाकी टीमों से काफी आगे है. ऑस्ट्रेलिया 106 अंक के साथ तीसरे स्थान पर है. उसे अपडेट के बाद चार अंक का फायदा हुआ. वह फिर से न्यूजीलैंड की जगह तीसरे स्थान पर पहुंचा है जो कि तीन अप्रैल को अंतिम कट आफ डेट में उससे आगे निकल गया था. इंग्लैंड को एक अंक का फायदा हुआ है और वह पांचवें स्थान पर है.

अंतिम कट आफ डेट तक  तीसरे स्थान पर रहने के कारण न्यूजीलैंड ने अपने लिए 200,000 डॉलर सुनिश्चित किए. भारत ने कट आफ डेट पर पहले स्थान पर रहने के कारण दस लाख डॉलर और साउथ अफ्रीका ने दूसरे स्थान पर रहने से पांच लाख डॉलर जीते. नए अपडेट के बाद न्यूजीलैंड के 102 अंक हैं जबकि इंग्लैंड के 98 अंक हो गए हैं. यही नहीं, बांग्लादेश को भी फायदा हुआ है और वह वेस्टइंडीज को पीछे छोड़कर आठवें स्थान पर पहुंच गया है.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi