S M L

आईसीसी का ऐतिहासिक फैसला, सभी 104 देशों को मिलेगी टी20 अंतरराष्ट्रीय मान्यता

सभी महिला टीम के मैचों को टी20 अंतरराष्ट्रीय मान्यता इसी साल एक जुलाई से मिल जाएगी, वहीं पुरुष टीम के मैचों को मान्यता अगले साल एक जनवरी से दी जाएगी

FP Staff Updated On: Apr 26, 2018 07:49 PM IST

0
आईसीसी का ऐतिहासिक फैसला, सभी 104 देशों को मिलेगी टी20 अंतरराष्ट्रीय मान्यता

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी)  ने गुरुवार को ऐतिहासिक फैसला लेते हुए सभी 104 देशों को टी20 अंतरराष्ट्रीय मान्यता दे दी है. कोलकाता में  आईसीसी बोर्ड की पांच दिवसीय मीटिंग के समापन के बाद आईसीसी मुख्य कार्यकारी डेव रिचर्डसन  ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि आईसीसी मीटिंग के बाद टी20 क्रिकेट खेलने सभी 104 देशों को मान्यता दे दी जाएगी. रिचर्डसन  ने कहा कि सभी महिला टीम के मैचों को टी20 अंतरराष्ट्रीय मान्यता इसी साल एक जुलाई से मिल जाएगी, वहीं पुरुष टीम के मैचों को मान्यता अगले साल एक जनवरी से दी जाएगी. इस पांच दिवसीय मीटिंग में क्रिकेट से संबंधित कई अहम विषयों पर भी चर्चा हुई.

चैंपियंस ट्रॉफी की जगह होगा टी 20 वर्ल्ड कप

रिचर्डसन  ने बताया कि 2021 में भारत में होने वाली चैंपियंस ट्रॉफी को विश्व टी 20 में बदलने का फैसला लिया गया है और इस तरह से आठ टीमों के बीच होने वाला यह टूर्नामेंट एक तरह से खत्म कर दिया गया. इसका मतलब है कि लगातार दो वर्षों में आईसीसी विश्व 20 प्रतियोगिता का आयोजन होगा. आॅस्ट्रेलिया 2020 में विश्व टी 20 की मेजबानी करेगा. इस बीच 2019 और 2023 में विश्व कप होंगे और इस तरह से चैंपियंस ट्राॅफी को हटा दिया गया. इस टूर्नामेंट को कई आलोचक अप्रासंगिक मान रहे थे, जबकि हर चाल साल में विश्व कप का आयोजन किया जाता है.

बॉल टेंपरिंग के बाद अधिक कठोर हुई आईसीसी

हाल ही में साउथ अफ्रीका के खिलाफ मैच में ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ, डेविड वॉर्नर और बेनक्रॉफ्ट द्वारा गेंद से छेड़खानी के बाद लगे एक साल के प्रतिबंध पर आईसीसी ने कहा कि खिलाड़ियों के कोड ऑफ कंडक्ट का उल्लंघन करने पर आईसीसी भी कड़ी कार्रवाई करेगी. बॉल टैंपरिंग और स्लेजिंग के लिए सख्त और भारी जुर्माना हो. हम इसके लिए दंड चाहते हैं. जुर्माना इसका सही जवाब साबित नहीं हो रहा है. क्रिकेट कमेटी इसके बारे में योजना बना रही है.

भारत-पाकिस्तान सीरीज का मुद्दा जटिल

भारत पाकिस्तान के बीच चल रहे खराब क्रिकेट संबंधों पर आईसीसी ने कहा कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सीरीज हर किसी की एक आम इच्छा है और इस काफी अच्छा होगा कि यदि दोनों देश एक दूसरे के साथ खासतौर पर द्विपक्षीय सीरीज खेलते हैं. यह एक जटिल मुद्दा है और सिर्फ दो देशों के बोर्ड की सहमति से ही इस आगे कुछ होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi