S M L

ICC Cricket World Cup 2019: सचिन तेंदुलकर ने कहा, पाकिस्तान के खिलाफ खेलकर उसे हराओ

तेंदुलकर ने कहा कि उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलकर उसे दो अंक देना गवारा नहीं है, क्योंकि इससे क्रिकेट महाकुंभ में इस चिर प्रतिद्वंद्वी को ही फायदा होगा

Updated On: Feb 22, 2019 10:23 PM IST

Bhasha

0
ICC Cricket World Cup 2019:  सचिन तेंदुलकर ने कहा, पाकिस्तान के खिलाफ खेलकर उसे हराओ

दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने शुक्रवार को कहा कि उन्हें आगामी विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलकर उसे दो अंक देना गवारा नहीं है, क्योंकि इससे क्रिकेट महाकुंभ में इस चिर प्रतिद्वंद्वी को ही फायदा होगा. तेंदुलकर ने भी सुनील गावस्कर के विचारों का समर्थन करते हुए कहा कि भारत के लिए विश्व कप में 16 जून को होने वाले मुकाबले से हटने के बजाय उसे हराना बेहतर होगा. पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के मारे जाने के बाद इस मैच से हटने की मांग उठ रही है.

तेंदुलकर ने पीटीआई को एक बयान में कहा, ‘भारत ने विश्व कप में हमेशा पाकिस्तान के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन किया है. अब फिर से उन्हें हराने का समय है. मैं निजी तौर पर उन्हें दो अंक देना पसंद नहीं करूंगा क्योंकि इससे टूर्नामेंट में उन्हें मदद मिलेगी. लेकिन मेरे लिए भारत सर्वोपरि है और मेरा देश जो भी फैसला करेगा मैं तहेदिल से उसका समर्थन करूंगा.’

हरभजन सिंह और युजवेंद्र चहल जैसे खिलाड़ियों ने जहां पाकिस्तान के पूर्ण बहिष्कार की मांग की है वहीं गावस्कर ने गुरुवार को कहा था कि अगर भारत अगर 16 जून को पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलने का फैसला करता है तो यह उसकी हार होगी. विश्व कप ब्रिटेन में 30 मई से शुरू हो रहा है. शुक्रवार को भारतीय क्रिकेट को संचालित करने वाली प्रशासकों की समिति ने कोई फैसला नहीं करने का निर्णय किया.

क्रिकेट को निशाना बनाना निराशाजनक : सरफराज

वहीं पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद ने कराची में कहा कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद क्रिकेट को निशाना बनाना निराशाजनक है और भारत और पाकिस्तान का मैच पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होना चाहिए. पाकिस्तान के कप्तान ने खेलों को राजनीति से दूर रखने की अपील करते हुए कहा कि दोनों देशों के क्रिकेट प्रेमियों की दिलचस्पी को देखते हुए यह मैच खेला जाना चाहिए.

सरफराज ने क्रिकेटपाकिस्तान.काम.पीके से कहा, ‘भारत और पाकिस्तान का मैच पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होना चाहिए क्योंकि लाखों लोग हैं जो इस मैच को देखना चाहते हैं. मेरा मानना है कि राजनीतिक हितों के लिये क्रिकेट का निशाना नहीं बनाना चाहिए.’ उन्होंने कहा, ‘यह निराशाजनक है कि पुलवामा घटना के बाद क्रिकेट को निशाना बनाया जा रहा है. मुझे याद नहीं है कि पाकिस्तान ने कभी खेलों के साथ राजनीति को जोड़ा हो.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi