S M L

अगले दो दिनों में अल जजीरा के अधिकारियों से मुलाकात करेगी आईसीसी

अल जजीरा चैनल ने दावा किया था कि भारत, श्रीलंका, ऑस्‍ट्रेलिया और इंग्लैंड से जुड़े मैचों के दौरान मैच फिक्सरों के कहने पर पिच के साथ छेड़छाड़ की गई थी

FP Staff Updated On: May 31, 2018 02:13 PM IST

0
अगले दो दिनों में अल जजीरा के अधिकारियों से मुलाकात करेगी आईसीसी

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने कहा कि वह स्टिंग ऑपरेशन के जरिए टेस्ट मैचों में ‘स्पॉट फिक्सिंग’ और ‘पिच फिक्सिंग’ का दावा करने वाले चैनल के प्रतिनिधियों से मिलेंगे, साथ ही आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेव रिचर्डसन ने यह भी स्पष्ट किया कि इन आरोपों को नजरअंदाज नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इसलिए हम इसकी पूरी जांच करेंगे. हम अगले दो दिनों में उनसे (अल जजीरा) मुलाकात करेंगे.

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले अल जजीरा चैनल ने दावा किया था कि भारत, श्रीलंका, ऑस्‍ट्रेलिया और इंग्लैंड से जुड़े मैचों के दौरान मैच फिक्सरों के कहने पर पिच के साथ छेड़छाड़ की गई थी. जिन मैचों पर सवाल उठाया गया है उनमें भारत बनाम श्रीलंका (गॉल, 26 से 29 जुलाई 2017), भारत बनाम आस्ट्रेलिया (रांची, 16 से 20 मार्च, 2017) और भारत बनाम इंग्लैंड (चेन्नई, 16 से 20 दिसंबर 2016) शामिल हैं.

  क्रिकेट में फिक्सिंग की बात से चिंता होती है

आईसीसी ने जांच शुरू करते समय कहा था कि यह समाचार चैनल स्टिंग के असंपादित फुटेज को साझा करने से इन्कार कर रहा है. इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के बोर्ड ने भी इन दावों को दोहराया था. आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेव रिचर्डसन ने कहा कि वे जल्द ही अल जजीरा के अधिकारियों से मिलेंगे. ‘द इंडिपेंडेंट’ के अनुसार रिचर्डसन ने कहा कि जब भी लोग क्रिकेट में फिक्सिंग की बात करते हैं तो मुझे चिंता होती है. मैं ऐसे आरोपों से थोड़ा परेशान हो जाता हूं कि हम इसे नजरअंदाज करने की कोशिश करेंगे या ऐसा अहसास दिलाएंगे जैसा कि कुछ हुआ ही नहीं हो.

  हर छोटी लीग के आयोजनकर्ता के पास हो भ्रष्‍टाचार निरोधक संहिता

रिचर्डसन ने स्वीकार किया कि छोटे स्तर पर संचालित टी20 लीग भ्रष्ट गतिविधियों का आसान निशाना बन सकते हैं क्योंकि कड़े नियमों के कारण अंतरराष्ट्रीय स्टार से संपर्क करना मुश्किल है. उन्होंने कहा कि यह आश्चर्यजनक होगा, अगर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों को निशाना बनाया जाता है. इनको निशाना बनाना बहुत मुश्किल है और इसलिए वे लोग बहुत निचले स्तर पर अब अपना खुद का लीग तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं.  रिचर्डसन ने कहा कि इसलिए हमें यह सुनिश्चित करने की जरूरत है जो भी टी20 घरेलू टूर्नामेंट का आयोजन कर रहा है विशेषकर जिसका टेलीविजन पर प्रसारण होता हो, उनके पास न्यूनतम मानक हो. यह सुनिश्चित होना चाहिए कि उनके पास भ्रष्टाचार निरोधक संहिता हो, सभी खिलाड़ी शिक्षित हो और फ्रेंचाइजी मालिकों और टूर्नामेंट से जुड़े लोगों पर हमारी निगरानी हो.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi