S M L

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017, दक्षिण अफ्रीका-श्रीलंका: नंबर वन से कैसे पार पाएगी श्रीलंकाई टीम

कमजोर श्रीलंका का मुकाबला साउथ अफ्रीका से 3 जून को

Updated On: Jun 02, 2017 09:18 PM IST

FP Staff

0
आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017, दक्षिण अफ्रीका-श्रीलंका: नंबर वन से कैसे पार पाएगी श्रीलंकाई टीम

मजबूत बल्लेबाजी और दमदार आक्रमण के दम पर खिताब के दावेदारों में शामिल दक्षिण अफ्रीका 3 जून को ओवल में जब श्रीलंका के खिलाफ आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में अपना पहला मैच खेलने के लिए उतरेगा तो उसका लक्ष्य अपने इस प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ पिछले कुछ समय से चला आ रहा अपना विजय अभियान बरकरार रखना होगा.

साउथ अफ्रीका ने श्रीलंका से जो पिछले सात वनडे मैच खेले हैं उन सभी में जीत दर्ज की है. इनमें इस साल जनवरी-फरवरी में साउथ अफ्रीका में खेली गई पांच मैचों की सीरीज भी शामिल हैं जिसमें उसने 5-0 से क्लीन स्वीप किया था.

इससे पहले विश्व कप 2015 के सिडनी में खेले गये क्वार्टर फाइनल में साउथ अफ्रीका ने श्रीलंका को 133 रन पर समेटकर नौ विकेट से बड़ी जीत दर्ज की थी.

अफ्रीका की टीम काफी संतुलित है।.उसके पास विश्व का नंबर एक बल्लेबाज एबी डिविलियर्स और विश्व का नंबर एक गेंदबाज रबाडा हैं. बल्लेबाजी में डिविलियर्स के अलावा अनुभवी हाशिम अमला, विस्फोटक क्विंटन डि कॉक, फाफ डु प्लेसिस और जेपी ड्यूमिनी जैसे धुरंधर शामिल हैं. डेविड मिलर अपने विस्फोटक तेवरों के लिए जाने जाते हैं जबकि क्रिस मौरिस और पार्नेल की आलराउंड क्षमता टीम को संतुलन प्रदान करती है. अफ्रीकी खिलाड़ियों के प्रदर्शन का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उसके चार बल्लेबाज और दो गेंदबाज आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष दस में शामिल हैं जबकि श्रीलंका का कोई भी खिलाड़ी चोटी के दस में नहीं है.

श्रीलंका की सबसे बड़ी परेशानी है टीम के कप्तान एंजेलो मैथ्यूज की फिटनेस. मैथ्यूज अभी फिट नहीं हैं और पहले मैच में उनका न खेलना तय है.

टीम के लिए अच्छी बात यह है कि लसिथ मलिंगा फिट हैं. वह आईपीएल में फिट तो दिखे लेकिन ज्यादा अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए. जाहिर है कि 19 महीनों के बाद वह अपनी टीम की ओर से वापसी करते हुए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहेंगे. चैंपियंस ट्रॉफी में भी मलिंगा का रिकॉर्ड अच्छा रहा है. वह अबतक 13 मैचों में 22 विकेट झटक चुके हैं. पिछले कुछ सालों में श्रीलंका को ओपनिंग जोड़ी की समस्या से निजात नहीं मिल रही थी.

मौजूदा चैंपियंस ट्रॉफी में श्रीलंका टीम की बात करें तो उनके पास पहले के दिनों जैसे बड़े खिलाड़ी मुथैया मुरलीधरन, कुमार संगकारा, तिलकरत्ने दिलशान और चामिंडा वास नहीं है. बल्कि अनुभव के नाम पर उनकी उम्मीदें एंजेलो मैथ्यूज, नुवान कुलसेकरा, तिसारा परेरा, दिनेश चंडीमल, मलिंगा और उपुल तरंगा पर ही समाप्त हो जाती हैं.

श्रीलंका के लिए अच्छी बात ये है कि उनके सबसे सफल गेंदबाज मलिंगा एक बार फिर से टीम में वापस आ चुके हैं, उन्होंने पिछले 19 महीनों से कोई वनडे मैच नहीं खेला है. इसके अलावा श्रीलंका ने कुछ ऐसे खिलाड़ियों को टीम में जगह दी है जिन्होंने हाल- फिलहाल में सीमित ओवर क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन किया है. इनमें चमारा कापूगेदरा और नुवान प्रदीप प्रमुख हैं. श्रीलंका ने इस टूर्नामेंट के लिए अपनी टीम में महज दो स्पिनरों को शामिल किया है बाकी सभी तेज गेंदबाज हैं

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi