विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017: पहली बार सेमीफाइनल में पहुंचीं तीन एशियाई टीम

बुधवार को अगर पाकिस्तान इंग्लैंड को हराता है तो एशियाई टीमों के बीच ही होगा फाइनल

Sumit Kumar Dubey Sumit Kumar Dubey Updated On: Jun 13, 2017 12:40 PM IST

0
आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017: पहली बार सेमीफाइनल में पहुंचीं तीन एशियाई टीम

श्रीलंका पर पाकिस्तान की जीत के साथ ही चैंपियंस ट्रॉफी में ग्रुप राउंड के मुकाबले खत्म हो गए हैं. और इसके साथ ही नॉक-आउट राउंड यानी सेमीफाइनल्स के मुकाबले भी तय हो गए हैं. इस बार सेमीफाइनल्स में वो होगा जो इससे पहले चैंपियंस ट्रॉफी में कभी नहीं हुआ. इस बार तीन एशियाई टीमें सेमीफाइनल में पहुंची हैं. चैंपियंस ट्रॉफी के 19 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है. चैंपियंस ट्रॉफी के इससे पहले के सात एडिशन में ऐसा कभी नहीं हुआ कि एशियाई टीमों ने सेमीफाइनल की तीन सीटों पर कब्जा जमाया हो.

अब बुधवार को फाइनल में पहुंचने की जंग में पाकिस्तान मेजबान इंग्लैंड से भिड़ेगा जबकि उसके अगले दिन यानी गुरूवार को भारत और बांग्लादेश आमने-सामने होगे. पूर्व क्रिकेटर रवि शास्त्री ने इस स्थिति पर चुटकी लेते हुए टीवी कमेंट्री के दौरान इस चैंपियंस ट्रॉफी को एशिया कप करार दे दिया जिसमें मेजबान होने के नाते इंग्लैंड की भी भागीदारी है.

शास्त्री ने यह बात भले ही मजाक में कही हो लेकिन सच्चाई यही है कि अगर भारत पाकिस्तान और श्रीलंका एक ही ग्रुप में नहीं होते तो इस बात की पूरी संभावना थी कि सेमीफाइनल में चारों टीमें एशियाई ही होतीं. भारतीय सबकॉटिनेंट की टीमों ने इस बार वाकई में सबको चकित कर दिया है. इस दौर था इंग्लैंड की धरती पर एशियाई टीमें कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाती थी. लेकिन अब वक्त बदल चुका है. इंग्लैंड की सपाट विकेट्स एशियाई टीमों को काफी रास आ रही हैं.

इसके अलावा बारिश भी एशियाई टीमों के लिए भाग्यशाली साबित हुई है. वर्ल्ड चैंपियन ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम अगर सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर हुई तो इसकी बड़ी वजह बारिश ही है. बारिश के चलते ही ऑस्ट्रेलिया को बांग्लादेश और न्यूजीलैंड के साथ अंक बांटने पड़े. वहीं मौजूदा रैकिंग के हिसाब से दुनिया की नंबर वन टीम साउथ अफ्रीका दबाव में बिखरने की अपनी पुरानी कमजोरी से अबतक निजात नहीं पा सकी है.

वहीं दूसरी ओर एशियाई टीमों ने अपने प्रदर्शन में निरंतरता बरकरार रखी है. एजबेस्टन और ओवल जैसी जगहों पर एशियाई मूल के लोगों बड़ी तादाद के चलते दर्शकों का समर्थन भी खूब हासिल हुआ है. अब बुधवार को सेमीफाइनल में अगर पाकिस्तान इंग्लैंड को हराता है तो फाइनल भी दो एशियाई टीमों के बीच ही होगा. वरना फाइनल में एक एशियाई टीम की एंट्री तो तय ही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi