S M L

हरभजन बोले, अश्विन की 300 टेस्ट विकेट के बाद भी जगह पक्की नहीं है तो फिर कब होगी!

दक्षिण अफ्रीका दौरे में हमारे बल्लेबाज देंगे मोर्केल आैर स्टेन को कड़ी चुनाैती

Updated On: Dec 25, 2017 10:13 PM IST

FP Staff

0
हरभजन बोले, अश्विन की 300 टेस्ट विकेट के बाद भी जगह पक्की नहीं है तो फिर कब होगी!

सीनियर स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि स्पिनर आर अश्विन की भारतीय टेस्ट एकादश में जगह पक्की होनी चाहिए. उन्होंने कहा, ‘यदि अश्विन की 300 टेस्ट विकेट के बाद भी जगह पक्की नहीं है तो फिर कब होगा.’ पिछले दिनों दक्षिण अफ्रीका दौरे में खेले जाने वाले छह वनडे मैचों की सीरीज के लिए 17 सदस्यीय भारतीय वनडे टीम का ऐलान किया गया है. लेकिन अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा की एक बार फिर अनदेखी की गई.

हरभजन ने कहा कि करियर के लिए खतरा बनी चोट से वापसी करना आसान नहीं होता और यही वजह है कि दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन भारत के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज में बड़ी चुनौती साबित नहीं होंगे. स्टेन पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच के दौरान कंधे की हड्डी खिसकने के बाद से प्रतिस्पर्धी क्रिकेट से दूर हैं.

उन्होंने  कहा,‘ डेल स्टेन पिछले दस साल में सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाज हैं, लेकिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करना आसान नहीं होता. जिम्बाब्वे के खिलाफ टेस्ट मैच इसका सूचक नहीं है कि वह भारत के खिलाफ कैसे खेल सकता है. भारत के बल्लेबाजी क्रम को देखें. हमारे पास मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा जैसे बेहतरीन बल्लेबाज हैं. यह विश्व क्रिकेट का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजी क्रम है, दो उन्हें चुनौती देगा.’

हरभजन ने कहा कि स्टेन और मोर्कल के लिए इस बल्लेबाजी क्रम पर अंकुश लगाना बहुत कठिन होगा खासकर तब जबकि वे खुद अपनी लय हासिल करने की जुगत में होंगे. उन्होंने कहा कि दक्षिण अफ्रीका में बल्लेबाजों को उछाल से पार पाना होगा. 20 ओवरों के बाद कूकाबूरा गेंद सीम लेना बंद कर देगी. उसके बाद उछाल से ही पार पाना होगा.

इस बारे में बहस चल रही है कि हरफनमौला हार्दिक पांड्या छठे नंबर के लिए सही विकल्प हैं या नहीं, लेकिन हरभजन सिंह का मानना है कि रोहित शर्मा को इस क्रम पर उतारना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘ रोहित शानदार खिलाड़ी है. वह पूल और कट शॉट बखूबी खेलता है. मेरी नजर में वह नंबर छह के लिए सबसे उपयुक्त है. हम उछाल भरी गेंदों पर भी अपने स्ट्रोक्स खेल सकता है. हार्दिक प्रतिभाशाली लड़का है और रोहित मुकम्मल बल्लेबाज हैं.’

दक्षिण अफ्रीका में पहले टेस्ट से पूर्व भारत को एकमात्र अभ्यास मैच मिला है, लेकिन हरभजन इसे ज्यादा तूल नहीं देना चाहते. उन्होंने कहा, ‘ टीम प्रबंधन ने यह फैसला लेने से पहले सोचा होगा. अभ्यास मैच नहीं मिलने पर भी नेट गेंदबाज उन्हें मैच के समान अभ्यास का पूरा मौका देंगे.’

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi