S M L

महज चार पारियों में ही कैप्टन कोहली को रायुडू की 'बुद्धिमानी' दिख गई...

2015 के वर्ल्ड कप के बाद से अब तक टीम इंडिया नंबर चार की पोजिशन पर 11 बल्लेबाजों को आजमा चुकी है

Updated On: Oct 30, 2018 07:57 PM IST

Bhasha

0
महज चार पारियों में ही कैप्टन कोहली को रायुडू की 'बुद्धिमानी' दिख गई...
Loading...

भारत ने विश्व कप 2015 के बाद जो 72  वनडे मैच खेले उनमें 11 खिलाड़ियों को नंबर चार पर उतारा लेकिन पहली बार कप्तान विराट कोहली को लग रहा है कि टीम को इस महत्वपूर्ण नंबर पर अंबाती रायुडु के रूप में एक बुद्धिमान बल्लेबाज मिला है.

दिलचस्प बात यह है कि रायुडु केवल चार पारियों में नंबर चार पर खेलने के लिये उतरे हैं जिनमें उन्होंने 72.33 की औसत से 217 रन बनाए हैं. इनमें सोमवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ मुंबई में बनाया गया शतक भी शामिल है जिसके बाद कोहली और उप कप्तान रोहित शर्मा ने उन्हें इस स्थान के लिये सबसे उपयुक्त बल्लेबाज करार दिया था.

India cricketer Rohit Sharma (R) celebrates with teammate Ambati Rayudu after scoring a century during the fourth one day international (ODI) cricket match between India and West Indies at the Brabourne Stadium in Mumbai on October 29, 2018. (Photo by PUNIT PARANJPE / AFP) / ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / GETTYOUT कोहली ने मैच के बाद कहा था, ‘रायुडु ने मौके का पूरा फायदा उठाया. हमें 2019 विश्व कप तक उसका समर्थन करने की जरूरत है. वह खेल को अच्छी तरह से समझता है, इसलिए हमें खुशी है कि कोई बुद्धिमान बल्लेबाज नंबर चार पर बल्लेबाजी कर रहा है.’

एशिया कप में कोहली की अनुपस्थिति में रायुडु नंबर तीन पर बल्लेबाजी के लिये उतरे थे जहां उन्होंने निरंतरता दिखाई थी. अब कप्तान की वापसी के बाद उन्हें नंबर चार पर आजमाया गया जिसमें वह खरे उतरे हैं. इसलिए एशिया कप में कप्तान रहे रोहित को लगता है कि भारत की लंबे समय से चली आ रही नंबर चार की समस्या सुलझ गई है.

रोहित ने कहा, ‘उम्मीद करता हूं कि उसने चौथे नंबर को लेकर सभी रहस्य सुलझा दिए हैं. मुझे लगता है कि विश्व कप तक अब चौथे नंबर को लेकर कोई बात नहीं होगी.’

विश्व कप अगले साल इंग्लैंड में खेला जाएगा। रायुडु हाल के इंग्लैंड दौरे पर नहीं जा पाए थे क्योंकि वह यो-यो टेस्ट में नाकाम रहे थे.

ms dhoni

ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में खेले गये पिछले विश्व कप के बाद भारत ने 11 बल्लेबाजों को नंबर चार पर उतारा. इनमें से महेंद्र सिंह धोनी सर्वाधिक 11 पारियों में इस नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरे जिनमें उन्होंने 32.81 की औसत से 361 रन बनाए. धोनी हालांकि पिछले कुछ समय से फॉर्म से जूझ रहे हैं.

अंजिक्य रहाणे को एक समय नंबर चार के लिये आदर्श बल्लेबाज माना जाता था लेकिन वह निरंतर अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे।. रहाणे ने नंबर चार पर दस पारियों में 46.66 की औसत से 420 रन बनाए जिसमें चार अर्धशतक शामिल हैं. रहाणे फिलहाल वनडे टीम से बाहर हैं.

युवराज सिंह भी इस बीच नौ पारियों में नंबर चार पर उतरे और उन्होंने 44.75 की औसत से 358 रन बनाए जिसमें 150 रन की एक पारी भी शामिल है. युवराज इस पारी के अलावा कुछ खास जलवा नहीं दिखा पाए थे जिससे उन्हें टीम में अपना स्थान गंवाना पड़ा. दिनेश कार्तिक (नौ पारियों में 52.80 की औसत से 264 रन) अब भी इस स्थान पर अपना दावा ठोकने की कोशिश कर सकते हैं.

इनके अलावा मनीष पांडे (सात पारियों में 183 रन), हार्दिक पंड्या (पांच पारियों में 150 रन), मनोज तिवारी (तीन पारियों में 34 रन) लोकश राहुल (तीन पारियों में 26 रन) और केदार जाधव (तीन पारियों में 18 रन) भी इस बीच चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरे लेकिन प्रभावित करने में असफल रहे.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi