S M L

36 साल के हुए भारत को दो-दो विश्वकप दिलाने वाले गंभीर

उनकी यादगार पारियों में 2007 विश्वकप के फाइनल में और 2011 विश्वकप में खेली गई पारियां अहम है

Updated On: Oct 14, 2017 01:01 PM IST

FP Staff

0
36 साल के हुए भारत को दो-दो विश्वकप दिलाने वाले गंभीर

भारत क्रिकेटर गौतम गंभी शनिवार को 36 साल के हो गए. 14 अक्टूबर 1981 को जन्मे गंभीर भारतीय क्रिकेट में एक बेहतरीन ओपनर रहे हैं. गंभीर अपने क्रिकेट करियर के अलावा निजी जिंदगी की वजह से भी सुर्खियों में रहते हैं. गौतम भले अभी टीम इंडिया से बाहर चल रहे हों, लेकिन एक वक्त ऐसा था, जब उनके बिना भारत की क्रिकेट टीम की कल्पना भी मुश्किल थी. इसका कारण था, उनका लाजवाब बल्लेबाजी प्रदर्शन.

2003 में अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करिअर का आगाज करने वाले गौतम गंभीर सभी फॉर्मेट में कुल 242 मैच खेले. इसमें उन्होंने 10324 रन बनाए. लेकिन एक समय ऐसा आया जब गंभीर अपने करिअर के प्रचंड फॉर्म में थे. ये समय था जुलाई 2008 से जनवरी 2010 का. इस दौरान गौतम ने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट (टेस्ट, वनडे, टी-20) की 78 पारियों में 3384 रन बनाए. इस 18 महीने के दौरान गौतम ने  9 शतक और 19 अर्धशतक जमाए. इसमें एक दोहरा शतक भी शामिल है, जो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दिल्ली टेस्ट में बनाया.

उनकी यादगार पारियों में 2007 विश्वकप के फाइनल में और 2011 विश्वकप में खेली गई पारियां अहम है.

गंभीर सिर्फ क्रिकेटर ही नहीं है बल्कि वे एक देशभक्त और समाज सेवक के रूप में भी पहचाने जाते है. वे हमेशा सोशल साइट्स पर एक्टिव रहते है. और लोगो को देश सेवा के लिए प्रेरित करते रहते है.

हाल में गौतम गंभीर तब सुर्खियों में आ गए थे जब कश्मीर के अनंतनाग जिले में आतंकी हमले में शहीद हुए सहायक पुलिस निरीक्षक अब्दुल राशिद की पांच वर्षीय बेटी जोहरा के आंसू देखकर उन्होंने जोहरा की शिक्षा में सहायता देने का वादा किया था. उनके इस कार्य की बहुत सराहना की गई थी. खेलो में अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए उन्हें वर्ष 2008 में भारत का दूसरा सबसे बड़ा खेल पुरस्कार अर्जुन पुरस्कार प्रदान किया गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi