S M L

गंभीर ने अभी नहीं छोड़ी है टीम इंडिया में वापसी की उम्मीद

सलामी बल्लेबाज ने कहा, जिस दिन प्रेरणा खो दूंगा, संन्यास ले लूंगा

Bhasha Updated On: Dec 20, 2017 07:27 PM IST

0
गंभीर ने अभी नहीं छोड़ी है टीम इंडिया में वापसी की उम्मीद

उम्र पक्ष में नहीं होने के कारण घरेलू क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन के बावजूद गौतम गंभीर की राष्ट्रीय टीम में वापसी की संभावना काफी कम नजर आती है, लेकिन इस सलामी बल्लेबाज ने कहा कि उन्होंने अभी उम्मीद नहीं छोड़ी है. भारतीय क्रिकेट के सबसे पूर्ण बल्लेबाजों में से एक माने जाने वाले गंभीर ने कहा कि जो मायने रखता है वह ‘प्रेरणा’ है और जिस दिन वह इसे खो देंगे वह संन्यास लेने से पीछे नहीं हटेंगे.

गंभीर दिल्ली की टीम का नियमित हिस्सा हैं जिसने इस साल 10 वर्ष के बाद रणजी ट्रॉफी फाइनल में जगह बनाई. गंभीर भले ही फिलहाल चयनकर्ताओं की योजनाओं का हिस्सा नहीं हों, लेकिन मौजूदा सत्र में वह बेहतरीन फॉर्म में रहे हैं और यह दिल्ली की सफलता के कारणों में से एक है.

गंभीर ने एक साक्षात्कार में कहा, ‘रन बनाते रहो, इसी चीज को आप नियंत्रित कर सकते हो और यही कर सकते हो. आप उन चीजों को नियंत्रित नहीं कर सकते जो आपके हाथ में नहीं हैं. आप सिर्फ इसे नियंत्रित कर सकते हो कि मैदान पर उतरो, प्रदर्शन करो और जितना अधिक संभव हो उतने रन बनाओ. आपको यही करना चाहिए और मैं यही कर रहा हूं. मैं पिछले साल जो कर रहा था इस साल उससे अलग कुछ नहीं कर रहा. प्रेरणा वैसी ही है. जिस दिन मुझे यह पहले की तरह महसूस नहीं होगी उस दिन मैं संन्यास ले लूंगा.’

गंभीर 36 बरस के हैं और इस बात की संभावना बेहद कम है कि उन्हें राष्ट्रीय टीम में दोबारा जगह मिलेगी विशेषकर फिटनेस की दीवानी विराट कोहली की टीम में, लेकिन एक समय खेल के तीनों प्रारूपों में भारतीय टीम का नियमित हिस्सा रहा बायें हाथ का यह बल्लेबाज इससे परेशान नहीं है. उन्होंने कहा, ‘मैं चयनकर्ताओं से बात नहीं करता और मुझे चयनकर्ताओं से बात करने की जरूरत नहीं है. मेरा काम रन बनाना है और मेरा ध्यान इसी पर है.’

दिल्ली ने पिछली बार 2008 में गंभीर की अगुआई में ही रणजी ट्रॉफी फाइनल में जगह बनाई थी. वह मौजूदा सत्र में तीन शतक और दो अर्धशतक की मदद से 632 रन बना चुके हैं और सर्वाधिक रन बनाने वालों की सूची में आठवें स्थान पर हैं. गंभीर ने कहा, ‘हम फाइनल में जगह बना चुके हैं इसलिए बेशक उपलब्धि बड़ी है. उम्मीद करते हैं कि हम एक कदम आगे जा सकते हैं और 10 साल बाद इसे जीत सकते हैं जो बेहतरीन होगा.’

नंबर एक टीम भारत को हर परिस्थिति में जीतना चाहिए

भारतीय टीम से बाहर चल रहे सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर का मानना है कि दुनिया की नंबर एक टीम भारत को किसी भी परिस्थिति में जीत दर्ज करनी चाहिए. गंभीर ने यह टिप्पणी भारतीय टीम के अगले महीने के दक्षिण अफ्रीकी दौरे के संदर्भ में की जहां विराट कोहली की टीम की टेस्ट और सीमित ओवरों की सीरीज में कड़ी परीक्षा होगी.

भारतीय टीम 2018 में विदेश में अपने प्रदर्शन में सुधार करने की कोशिश करेगी. वह इसकी शुरुआत दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच जनवरी से शुरू होने वाली टेस्ट सीरीज में करेगी. इसके बाद भारत को इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर जाना है जहां परिस्थितियां स्पिनरों के अनुकूल नहीं हैं. इसके अलावा वहां भारत के मजबूत बल्लेबाजी लाइनअप की मूव करती गेंदों के सामने भी परीक्षा होगी.

गंभीर ने कहा, ‘यह कड़ा दौरा होगा क्योंकि दक्षिण अफ्रीका विशेषकर अपनी सरजमीं पर बहुत अच्छी टीम है. उनके पास बहुत अच्छे गेंदबाज और बेजोड़ बल्लेबाज हैं. भारत को उन्हें हराने के लिए वास्तव में अच्छा प्रदर्शन करना होगा. मुझे लगता है कि पिछले दो वर्षों में उन्होंने जो प्रदर्शन किया है उससे उनका आत्मविश्वास बढ़ा होगा. भले ही उन्होंने अपनी अधिकतर क्रिकेट घरेलू मैदानों पर खेली तब भी उन्हें काफी आत्मविश्वास के साथ दक्षिण अफ्रीका जाना चाहिए. दुनिया की नंबर एक टीम के रूप में उनका खुद पर भरोसा बढ़ा है और मुझे उम्मीद है कि वे वहां अच्छा प्रदर्शन करेंगे. वैसे भी नंबर एक टीम को हर तरह की परिस्थिति में जीत दर्ज करनी चाहिए. उम्मीद है कि भारत ने घरेलू सरजमीं पर जो फॉर्म दिखाई है उसे बरकरार रखेगा.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Social Media Star में इस बार Rajkumar Rao और Bhuvan Bam

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi