S M L

फ्रेंच ओपन 2018: हर हाल में टूर्नामेंट में जीत क्यों चाहते हैं नडाल

राफेल नडाल ने माना कि फ्रेंच ओपन खिताब जीतना की उनके लिए अहम है क्योंकि कि उनके करियर का अंत ज्यादा दूर नहीं है

Updated On: Jun 09, 2018 01:46 PM IST

Bhasha

0
फ्रेंच ओपन 2018: हर हाल में टूर्नामेंट में जीत क्यों चाहते हैं नडाल

स्पेनिश स्टार राफेल नडाल ने स्वीकार किया कि 11वां फ्रेंच ओपन खिताब जीतने की उनकी इच्छा काफी प्रबल है क्योंकि वह इस बात को भी महसूस करते हैं कि उनके करियर का अंत ज्यादा दूर नहीं है.

यह 32 साल का खिलाड़ी 16 मेजर खिताब अपने नाम कर चुका है और वह अपने 24वें ग्रैंडस्लैम फाइनल में रोलां गैरां पर डोमिनिक थीम से भिड़ेगा जिनका यह पहला फाइनल होगा. अगर नडाल जीत जाते हैं तो पेरिस में यह उनका 11वां खिताब होगा और इससे वह मारग्रेट कोर्ट के इस ग्रैंडस्लैम प्रतियोगिता में सर्वकालिक जीत के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे. नडाल अब भी महान प्रतिद्वंद्वी रोजर फेडरर से चार मेजर खिताब पीछे चल रहे हैं, हालांकि यह स्विस स्टार उनसे चार साल बड़ा है.

नडाल ने शुक्रवार को सेमीफाइनल में जुआन मार्टिन डेल पोत्रो को 6-4, 6-1, 6-2 से हराने के बाद पेरिस में अपनी 85वीं जीत दर्ज की और उन्हें यहां केवल दो हार मिली हैं. उन्होंने कहा, ‘मेरे लिए यहां खेलने की प्रेरणा हमेशा काफी ज्यादा रहती है.’

उन्होंने कहा, ‘लेकिन मेरे लिए, मेरा मानना है कि आपके करियर में सीमित मौके होते हैं.’ नडाल ने कहा, ‘मैंने चोटों के कारण कई मौके गंवाए हैं और मैं जानता हूं कि आने वाले साल तेजी से निकल जाएंगे. इसलिए मेरे पास यहां खेलने के लिए 10 से ज्यादा मौके नहीं हैं.’ आंकड़े भी नडाल की चिंता को जायज ठहराते हैं क्योंकि वह कलाई और घुटने की समस्या के कारण अपने करियर में आठ ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट में नहीं खेल पाए थे.

वह रविवार को अपना 17वां ग्रैंडस्लैम जीतने के लिये प्रेरणा से भरे हैं जहां उन्हें आस्ट्रिया के 24 वर्षीय थीम  से भिड़ना है. दोनों एक दूसरे से नौ बार एक दूसरे के आमने सामने हो चुके हैं और सभी मुकाबले क्ले कोर्ट पर ही हुए हैं।

थीम  ने कहा, ‘मेरा सामना राफा से होगा इसलिए मेरे ऊपर दबाव बना हुआ है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi