S M L

डब्‍ल्‍यू वी रमन बने भारतीय महिला टीम के कोच, कर्स्‍टन को मनाया नहीं जा सका

गैरी को आईपीएल और राष्ट्रीय टीम में से एक को चुनने के बारे में मनाया नहीं जा सका. ये देखते हुए बीसीसीआई ने रमन के नाम पर मुहर लगा दी

Updated On: Dec 20, 2018 11:17 PM IST

FP Staff

0
डब्‍ल्‍यू वी रमन बने भारतीय महिला टीम के कोच, कर्स्‍टन को मनाया नहीं जा सका

पूर्व ओपनर डब्‍ल्‍यू वी रमन को भारतीय महिला किकेट टीम का कोच नियुक्‍त कर दिया गया है. कोच पद के लिए रमन के अलावा साउथ अफ्रीका के गैरी कर्स्‍टन और वेंकटेश प्रसाद को शॉटलिस्‍ट किया गया था. कोच चयन के लिए बनी एडहॉक कमेटी ने डब्‍ल्‍यू वी रमन के नाम की सिफारिश की जिस पर बीसीसीआई ने मुहर लगा दी. 53 साल के रमन वर्तमान में बेंगलुरु की नेशनल क्रिकेट एकेडमी में बल्‍लेबाजी सलाहकार  हैं. वह अगले महीने न्यूजीलैंड में पहली बार टीम के साथ जाएंगे.

पूर्व कप्‍तान कपिल देव, अंशुमान गायकवाड़ और शांता रंगास्‍वामी वाली एडहॉक कमेटी ने प्राथमिकता के क्रम में कर्स्‍टन, रमन और वेंकटेश प्रसाद  के नाम की सिफारिश की थी. लेकिन कर्स्‍टन आईपीएल की फ्रेंचाइजी रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु के कोच के नाते इस जिम्मेदारी को लेने के इच्छुक नहीं थे. अगर वह रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु के कोच रहते इस पद को संभलाते तो यह हितों का टकराव होता. उन्हें आईपीएल और राष्ट्रीय टीम में से एक को चुनने के बारे में मनाया नहीं जा सका. ये देखते हुए बीसीसीआई  ने रमन के नाम पर मुहर लगा दी.

रमन ने भारत की ओर से 11 टेस्‍ट और 27 वनडे मैच खेले हैं और वह देश के सबसे ज्‍यादा योग्‍य कोचेज में से एक हैं. उन्‍होंने तमिलनाडु और बंगाल जैसे सबसे बड़ी रणजी ट्रॉफी टीमों को भी कोचिंग दी है. उन्हें 1992-93 दौरे के दौरान साउथ अफ्रीका में शतक जड़ने वाले पहले भारतीय के रूप में भी याद किया जाता है.

भारतीय महिला टीम के कोच पद के लिए कर्स्‍टन रमन और प्रसाद के सहित 28 उम्मीदवारों ने आवेदन किया था. और जिन दावेदारों को इंटरव्यू के लिए छांटा गया है उनमें हर्शल गिब्स,  रमेश पोवार, मनोज प्रभाकर, ट्रेंट जानस्टन, दिमित्री मास्करेंहास, ब्रैड हाग और कल्पना वेंकट चर मिल थे. कर्स्टन के अलावा चार अन्य से स्काइप पर और एक से फोन पर इंटरव्यू लिया गया. रमन, मनोज प्रभाकर और रमेश पोवार साक्षात्कार देने पहुंचे.

बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी ने भी कर्स्टन और आरसीबी अधिकारियों से बात की लेकिन इस पर सहमति नहीं बन सकी. बीसीसीआई के अधिकारी ने कहा, ‘गैरी का कहना था कि महिलाओं की राष्ट्रीय टीम को कोचिंग देना और पुरुषों की आईपीएल टीम की जिम्मेदारी संभालना हितों का टकराव कैसे हो सकता है. वह इस चीज से सहमत नहीं हो सके. रमन अच्छी पसंद हैं क्योंकि टीम को इस समय बल्लेबाजी कोच की जरूरत है. प्रसाद इस क्रम में तीसरे नंबर पर थे.’

अधिकारी ने कहा, ‘असल में इसमें हितों का कोई टकराव नहीं है, लेकिन अगर आप संविधान के अनुसार चलो तो इससे काफी सारे विवाद खड़े हो सकते हैं. कल रवि शास्त्री (भारतीय पुरुष टीम के कोच) मांग करेंगे कि उन्हें आईपीएल में कमेंटरी करने की अनुमति दे दी जाए और राहुल द्रविड़ (भारत ए कोच) भी अनुरोध करेंगे कि उन्हें आईपीएल फ्रेंचाइजी में मेंटर की भूमिका निभाने की अनुमति दे दी जाए’

(फोटो- साभार ट्विटर एकाउंट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi