S M L

पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने की डे-नाइट टेस्ट की पुरजोर वकालत

गांगुली के मुताबिक हर देश को गुलाबी गेंद से खेलन होगा और टीम इंडिया में इसे जीतने का माद्दा है

FP Staff Updated On: May 11, 2018 08:37 AM IST

0
पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने की डे-नाइट टेस्ट की पुरजोर वकालत

बीसीसीआई भले ही डे-नाइट टेस्ट खेलने से परहेज कर रही हो लेकिन पूर्व कप्तान और बीसीसीआई के अहम सदस्य सौरव गांगुली का मानना है कि डे-नाइट टेस्ट ही इस खेल का भविष्य है और टीम इंडिया में इसे जीतने का माद्दा है.

गांगुली ने कहा है, ‘डे-नाइट टेस्ट भविष्य का क्रिकेट है. हर देश को डे-नाइट टेस्ट खेलने होंगे. भारत को थोड़ा संकोच है लेकिन यह टेस्ट क्रिकेट का भविष्य है.’

टेस्ट खेलने वाले देशों में दो देश ऐसे हैं जो अभी तक इंटरनेशनल  स्तर पर गुलाबी गेंद के क्रिकेट से बचते रहे हैं जिसमें से भारत एक है और दूसरा बांग्लादेश है.  लेकिन गांगुली ने कहा कि भारतीय टीम में डे-नाइट टेस्ट जीतने की काबिलियत है.

उन्होंने कहा, ‘भारतीय टीम अच्छी है, वे डे-नाइट टेस्ट मैच में भी जीत दर्ज करेंगे. इसमें सिर्फ गेंद का अंतर है, मुझे नहीं लगता कि इससे ज्यादा कोई और अंतर है. टीम में इतने शानदार खिलाड़ी हैं कि वे जीत दर्ज कर सकते हैं.’

गांगुली ने भारतीय कप्तान विराट कोहली के अगले महीने बेंगलुरू में अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले ऐतिहासिक टेस्ट में नहीं खेलने के फैसले का समर्थन किया है.

उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि इसमें प्रतिद्वंद्वी टीम अफगानिस्तान है, लेकिन उन्होंने काउंटी खेलने को तरजीह दी है. अगर प्रतिद्वंद्वी टीम कोई और होती, तो वह शायद नहीं जाता. यह दिखाता है कि इंग्लैंड दौरा उसके लिये कितना अहम है. मैंने हमेशा कहा कि कप्तान की पहचान उसका और उसकी टीम का विदेशों में अच्छा प्रदर्शन करना है.’

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi