S M L

संन्यास लेने के बाद अब 'सर' कहलाएंगे एलिस्टक कुक, मिलेगा खास सम्मान

अपने पूरे करियर में उन्होंने 161 टेस्ट खेले जिसमें 12,472 रन बनाए, ये दोनों ही इंग्लैंड की ओर से सर्वोच्च रिकॉर्ड हैं

Updated On: Dec 29, 2018 03:08 PM IST

FP Staff

0
संन्यास लेने के बाद अब 'सर' कहलाएंगे एलिस्टक कुक, मिलेगा खास सम्मान

34 साल के पूर्व इंग्लैंड कप्तान एलिस्टर कुक को इंग्लैंड का उच्च सम्मान नाइटहुड दिया गया है. इंग्लैंड के लिए 161 मैच खेल चुके कुक इंग्लैंड के सबसे कामयाब टेस्ट क्रिकेटर हैं. उनको इस पुरसकार को दिए जाने की घोषणा न्यू इयर ऑनर्स की घोषणा में की गई.

कुक ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से इसी साल संन्यास लिया था. उन्होंने भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज के आखिरी टेस्ट में 147 रन की पारी खेली थी और इंग्लैंड ने सीरीज 4-1 से अपने नाम की थी. यह कुक का 33वां टेस्ट शतक था. अपने पूरे करियर में उन्होंने 161 टेस्ट खेले जिसमें 12,472 रन बनाए. ये दोनों ही इंग्लैंड की ओर से सर्वोच्च रिकॉर्ड हैं. उन्होंने 59 टेस्ट मैचों में राष्ट्रीय टीम की कप्तानी की.

उन्हें साल 2011 में (MBE) से नवाजा गया था और बाद में पांच साल बाद CBE से नवाजा गया. अब वह नाइटहुड हासिल करने के साथ इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर के एक एक्सक्लूसिव क्लब का हिस्सा बन गए हैं. सर इयान बॉथम इंग्लैंड क्रिकेट टीम के आखिरी खिलाड़ी थे जब उन्हें 11 साल पहले इस अवॉर्ड से नवाजा गया था

जानिए क्या है नाइटहुड

नाइटहुड का पुरुसकार साल 1917 से ब्रिटिश सरकार  विभिन्न क्षेत्रों में अपना योगदान देने वाले ब्रिटिश नागरिकों को दे रही है. किंग जॉर्ज V के समय यह अवॉर्ड सिर्फ शीर्ष पदों पर बैठे लोगों या युद्ध के समय वीरता दिखाने वाले जवानों को दिया था लेकिन बाद में इसमें बदलाव किए गए और विभिन्न क्षेत्रों में योगदान देने वालों को भी शामिल किया गया. इसकी पांच अलग-अलग रैंक हैं- नाइट एंड डेम ग्रैंड क्रॉस (GBE), नाइट एंड डेम कमांडर (क्रमशः KBE और DBE), कमांडर (CBE), ऑफिसर (OBE) और सदस्य (MBE). इनमें से शुरुआती दो रैंक हासिल करने वालों को सर या डेम की उपाधि दी जाती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi