S M L

पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने की बोर्ड से मुआवजे की मांग

बोर्ड ने मैच फिक्सिंग के आरोपों पर अजहर को किया था बैन, पांच साल पहले आंध्र प्रदेश हाइकोर्ट ने दिया था बैन हटाने का आदेश

Updated On: Aug 09, 2017 03:08 PM IST

FP Staff

0
पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने की बोर्ड से मुआवजे की मांग

मैच फिक्सिंग के आरोपों से बरी हो चुके ए श्रीसंत पर बैन हटाए जाने पर बोर्ड अभी कोई फैसला नहीं कर सका है और इस बीच पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने बी बोर्ड से नई मांग कर डाली है.

अजहर ने बोर्ड को लिखी चिट्टी में उनके बकाये के भुगतान की मांग की है.  अजहर ने बीसीसीआई अध्यक्ष सीके खन्ना,  सचिव अमिताभ चौधरी के साथ ही कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स (सीओए) को कॉपी भेजी है.

इस चिट्ठी में अजहर ने लिखा है कि पूर्व क्रिकेटरों को मिलने वाली उनकी राशि का हिसाब किया जाए. दरअसल बीसीसीआई पूर्व कप्तानों को वन-टाइम बेनिफिट देती है. इसके साथ ही अजहर ने मुआवजे की मांग भी की है, क्योंकि कोर्ट ने 2012 में ही उन पर लगाए गए बैन को गलत करार दे दिया था.

आपको बता दें कि , मैच फिक्सिंग के आरोप लगने के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने अजहर पर प्रतिबंध लगाया थृ. इसके खिलाफ क्रिकेटर ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. इस पर सुनवाई करते हुए आंध्रप्रदेश हाई कोर्ट पांच साल पहले ही बीसीसीआई के फैसले को गलत बता चुका है.

हालांकि बोर्ड ने अब तक इस मसले पर कोई रुख स्पष्ट नहीं किया है . लेकन टीम इंडिया के 500वें टेस्ट मैच के मौके पर कुछ महीने पहले पूर्व कप्तानों को आमंत्रित किया गया था, इनमें अजहर भी शामिल थे. न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर में खेले गए इस टेस्ट में सचिन तेंडुलकर के साथ ही कपिल देव, सुनील गावस्कर, एमएस धोनी और रवि शास्त्री का सम्मान किया गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi