S M L

पूर्व कोच रे जेनिंग्स ने साउथ अफ्रीका के मददगार पिच बनाने की कोशिश की आलोचना की  

ये इतना करीबी मुकाबला था कि इस रणनीति की वजह से साउथ अफ्रीका भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज गंवा सकता था

Updated On: Feb 05, 2018 07:18 PM IST

FP Staff

0
पूर्व कोच रे जेनिंग्स ने साउथ अफ्रीका के मददगार पिच बनाने की कोशिश की आलोचना की  

साउथ अफ्रीका के पूर्व कोच रे जेनिंग्स ने भारत के खिलाफ हाल ही में खत्म हुई टेस्ट सीरीज में टीम प्रबंधन की पिचों को अपने गेंदबाजों के लिए मददगार बनाने की कोशिश की तीखी आलोचना की है. जेनिंग्स ने सोमवार को सेंचुरियन में कहा कि लेकिन यह रणनीति लगभग उलटी पड़ गई थी.

जेनिंग्स ने कहा, ‘उन्होंने टेस्ट मैचों में पिच को अपने मुफीद बनाने की कोशिश की, लेकिन ये इतना करीबी मुकाबला था कि साउथ अफ्रीका सीरीज गंवा सकता था. ऐसी पिचें कोई मदद नहीं करेंगी क्योंकि भारत के पास शानदार तेज आक्रमण है. यहां तक कि तेज गेंदबाजों को मदद करने वाली नमी भरी पिच से स्पिनरों को भी फायदा मिलता है.’ पूर्व कोच के इस बयान के बाद मेजबान खेमा शर्म महसूस कर रहा होगा.

जेनिंग्स ने कहा, ‘दस साल पहले भारत के पास कोई तेज गेंदबाज नहीं था. अब उनके पास बहुत सारे हैं. अंडर-19 स्तर से ही और उनकी न्यूनतम रफ्तार 135 किलोमीटर प्रतिघंटे है जो कुछ साल पहले तक अधिकतम होती थी. ऐसी पिचों का चयन बिस्कुल गलत है. उन्होंने पिचों में काफी नमी रखी, लेकिन ऐसी पिचें स्पिनरों की भी मदद करती हैं.’

उन्होंने बल्लेबाजी कोच डेल बेंकनस्टीन की उस बात का समर्थन किया जिसमें उन्होंने कहा था कि युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव के खिलाफ तैयारी के लिए उनके पास समय नहीं था. जेनिंग्स ने कहा, ‘इतने कम समय में कुछ भी नहीं हो सकता. इस स्तर पर अगर आप स्पिन खेलने के बारे में नहीं जानते हैं, तो आपको सिर्फ अयोग्यता के साथ रहना होगा.’

(एजेंसी इनपुट के साथ)

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi