S M L

बॉल टेंपरिंग: क्रिकेट के 'भगवान' पर लगे इस इल्जाम से बंट गई थी क्रिकेट की दुनिया

साल 2011 में में भारत के साउथ अफ्रीका दौरे पर सचिन पर लगे बॉल टेंपरिंग के आरोपों से क्रिकेट जगत में भूचाल आ गया था

Sumit Kumar Dubey Sumit Kumar Dubey Updated On: Mar 25, 2018 01:07 PM IST

0
बॉल टेंपरिंग: क्रिकेट के 'भगवान' पर लगे इस इल्जाम से बंट गई थी क्रिकेट की दुनिया

साउथ अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीराज के तीसरे टेस्ट में बेनक्रॉफ्ट के बॉल टेंपरिंग के गुनाह का कबूलनामा करके कंगारू कप्तान स्टीव स्मिथ ने भले ‘ईमानदारी’ दिखाई हो लेकिन यह मसला इतना ज्यादा गंभीर है कि बॉल टेंपरिंग के इल्जाम से ही किसी भी खिलाड़ी की खेलभावना तार–तार हो जाती है.

इतिहास में बॉल टेंपरिंग की ऐसी कई मिसाल देखने को मिली हैं जिनके सामने आने पर पर क्रिकेट की दुनिया में भूचाल आ गया था. भारत के लिहाज से अगर देखें तो भारतीय क्रिकेट फैंस को 2001 का वह साल हमेशा याद रहेगा जब क्रिकेट के ‘गॉड’ कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर पर भी बॉल टेंपरिंग के इल्जाम लगे थे. सचिन को इन इल्जामों के मद्देनजर एक मुकाबले से सस्पेंड भी किया गया था.

2001 में साउथ अफ्रीका दौरे पर  लगा था इल्जाम

बॉल टेंपरिंग का यह मसला भी साउथ अफ्रीका की धरती पर ही हुआ था. 2001 में भारत के अफ्रीकी दौरे पर पोर्ट एलिजाबेथ में दूसरे टेस्ट के तीसरे दिन सचिन ने मध्यम गति से चार ओवर फेंके. गेंद को एक्स्ट्रा स्विंग मिली . टेलीविजन कैमरों ने जब जूम करके दिखाया तो पता चला कि वह गेंद की सीम को कुछ अलग तरह से रगड़ रहे थे.

Indian wicket-keeper Deep Dasgupta (L) and Indian bowler Sachin Tendulkhar celebrate the fall of the wicket of South African batsman Herschelle Gibbs on the second day of the second test match played at St George's Park, Port Elizabeth 17 November 2001. The South African batsman scored 196 before he was caught by WS Laxman off the bowling of Sachin Tendulkhar. AFP PHOTO ANNA ZIEMINSKI / AFP PHOTO / ANNA ZIEMINSKI

मैच रैफरी माइक डेनिस ने इस  बॉल टेंम्परिंग करार देते हुए सचिन को एक मैच के लिए बैन करने का फैसला किया. यही नहीं कप्तान सौरव गांगुली समेत टीम इंडिया के पांच और क्रिकेटरों को भी अधिक अपील करने के आरोप में एक मैच के लिए सस्पेंड किया गया.

sachin ball tampering

यह मसला इतना बड़ा हुआ कि माइक डेनिस पर नस्लवाद के आरोप लगे और क्रिकेट की दुनिया दो हिस्सों में बंट गई. सचिन पर लेगे बेइमानी के इन आरोपों से भारत में तूफान आ गया. टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका के दौरे के बहिष्कार की धमकी दी और इस सीरीज का तीसरा टेस्ट ‘आनाधिकारिक’ टेस्टके तौर पर खेला गया.

बॉल टेंपरिंग में सस्पेंड होने वाले पहले क्रिकेटर थे वकार यूनुस

स्विंग गेंदबाजी के महारथी माने जाने वाले पाकिस्तान के तेज गेंदबाज वकार यूनुस पर भी रिवर्स स्विंग हासिल करने के लिए बॉल टेंपरिंग के आरोप लगे थे. 2001 में श्रीलंका दौरे पर वकार पर टेस्ट सीरीज के दौरान बॉल से छेड़छाड़ के आरोप लगे. इसके वाद वनडे सीरीज में भी जब वकार गेंद की सीम के उधेड़ते हुए टेलीविजन कैमरों में कैद हुए तो उनपर एक वनडे मुकाबले की पाबंदी लगा दी गई. यह पहला मौका था जब बॉल टेंपरिंग के आरोप में किसी खिलाड़ी को सस्पेंड किया गया था.

Pakistani skipper and pacer Waqar Younus (R) jubilates after he clean bowled Sri Lankan skipper Sanath Jayasuriya in the Tri-Nation Cricket tournament in Sharjah 13 April 2001. Sri Lanka scored 164-6 in 30 overs while Pakistan scored 278-9 in 50 overs. AFP PHOTO/ Saeed KHAN / AFP PHOTO / SAEED KHAN

इसी मैच में अजहर महमूद पर भी उनकी मैच फीस की 75 फीसदी रकम का जुर्माना लगा.

1994 में इंग्लैंड के कप्तान माइकल आर्थटन अपनी जेब से कुछ कुछ कानूनी चीज बॉल पर रगड़ते हुए कैमरो में कैद हुए, आर्थटन पर 2000 पाउंड का जुर्माना लगाया गया.

साभार: यू ट्यूब ग्रैब

साभार: यू ट्यूब ग्रैब

शाहिद अफरीदी भी हुए सस्पेंड

2010 में पाकिसतान के कप्तान शाहिद फरीदी वनडे मुकाबले के दौरान दांत से बॉल की सिलाई को उधेड़ते हुए कैमरे में कैद हुए जिसके बाद उनपर दो मुकाबलों की पाबंदी लगाई गई.

अफरीदी ने बाद में इस मसले पर अपनी गलती कबूलते हुए माफी भी मांगी.

राहुल द्रविड़ भी आए घेरे में

2004 में ऑस्ट्रेलिया में में वनडे मुकाबले के दौरान भारत के ऐक और बड़े खिलाड़ी राहुल द्रविड़ पर जेली जैसी किसी चीज को गेंद पर रगड़ने के आरोप लगे. मैच रैफरी क्लाइव लॉयड ने माना कि द्रविड़ ने यह हरकत जानबूझकर की थी और उनकी मैच फीस का 50 फीसदी हिस्सा काट लिया गया.बॉल टेंपरिंग से ताजा मामले से पहले का मसला साल 2016 का है जब होबार्ट में साउथ फ्रीकी कप्तान फाफ ड्यू प्लेसी गेंद पर मिंट रगड़ते हुए पकड़ गए थे. इस आरोप में उनकी पूरा मैच फीस काट ली गई थी.

भले ही इसे चीटिंग का दर्जा दिया जाए लेकिन इन वाकियों से साफ है कि बॉल टेंपरिंग अब आधुनिक क्रिकेट के रणनीतियों का हिस्सा बन गई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi