S M L

England tour: विश्‍व कप को ध्‍यान में रखकर टी-20 मैच से अपने इंग्‍लैंड दौरे का आगाज करेगा भारत

अगले साल इंग्‍लैंड में होने वाले विश्‍व कप में अब 12 महीने से भी कम का समय बचा है

Updated On: Jul 02, 2018 08:38 PM IST

FP Staff

0
England tour: विश्‍व कप को ध्‍यान में रखकर टी-20 मैच से अपने इंग्‍लैंड दौरे का आगाज करेगा भारत
Loading...

अगले साल इंग्‍लैंड में होने वाले विश्‍व कप में अब 12 महीने से भी कम का समय बचा है और इंग्‍लैंड में भारत का प्रदर्शन देखा जाए तो काफी निराशजनक ही रहा है. पिछले इंग्‍लैंड दौरे पर भारत को अपने प्रदर्शन के कारण काफी आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ा था. इसी कारण भारत के इस इंग्‍लैंड दौरे को विश्‍व कप और पिछली हार के लिहाज से अहम माना जा रहा है. भारतीय टीम मंगलवार को पहला टी 20 मैच के साथ इंग्‍लैंड दौरे की कड़ी चुनौती का आगाज करेगी.

पिछले कुछ समय में इंग्लिश टीम ने जोस बटलर , जेसन राय और बेन स्टोक्स जैसे स्टार खिलाड़ियों की बदौलत सीमित ओवर के खेल में काफी प्रगति की है, वहीं पिछले एक दशक में भारत की सीमित ओवरों की टीम के प्रदर्शन में निरंतरता देखने को मिली है. विश्व कप 2019 में अब 12 महीने से भी कम का समय बचा है और ऐसे में दोनों टीमों के लिए यह तैयारी का भी अच्छा मौका होगा. भारत ने इस सीरीज से पहले दो मैचों की टी 20 सीरीज में आयरलैंड पर 72 और 143 रन की जीत दर्ज की, लेकिन कोहली अच्छी तरह वाकिफ हैं कि इंग्लैंड की टीम की चुनौती काफी कड़ी होगी.

भारत ने 15 मैच तो इंग्‍लैंड ने 9 में से 5 मैच जीते

Cricket - England Nets - Emirates Old Trafford, Manchester, Britain - July 2, 2018 General view during nets Action Images via Reuters/Ed Sykes - RC1C3D0659E0

भारतीय टीम का टी20 में प्रदर्शन का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उसने अपने पिछले 20 टी20 मैच में से 15 में जीत हासिल की. जिसमें श्रीलंका में निदाहास ट्रॉफी और साउथ अफ्रीका के खिलाफ उसकी मेजबानी में सीरीज जीत भी शामिल है. हालांकि इंग्लैंड ने भारत के खिलाफ सीरीज से ठीक पहले सीमित ओवरों में ऑस्‍ट्रेलिया को 6-0 से शिकस्त दी और इस दौरान बटलर , जेसन राय , जॉनी बेयरस्‍टो ने अपना प्रभाव छोड़ा. जून 2017 से इंग्लैंड ने साउथ अफ्रीका , वेस्टइंडीज , ऑस्‍ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के खिलाफ नौ टी 20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में से पांच में जीत दर्ज की। ऑस्‍ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के खिलाफ मार्च में हुई त्रिकोणीय सीरीज में हालांकि टीम ने चार में से तीन मैच गंवाए.

फरवरी के बाद पहली बार भारत के शीर्ष खिलाड़ी एक साथ खेले

भारतीय टीम के लिए आयरलैंड दौरा अभ्यास मैचों से अधिक कुछ नहीं था और कोहली को छोड़कर शीर्ष क्रम के सभी बल्लेबाज रन बनाने में सफल रहे, जबकि कलाई के स्पिनर्स कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल ने प्रभावी गेंदबाजी की. जसप्रीत बुमराह की अंगूठे की चोट हालांकि टीम के लिए चिंता का सबब है, क्योंकि वह डेथ ओवरों की गेंदबाजी में अहम भूमिका निभा रहे थे. यह देखना रोचक होगा कि उनके विकल्प के तौर पर टीम में शामिल दीपक चाहर को पदार्पण का मौका मिलता है या नहीं. सीनियर गेंदबाज उमेश यादव को हालांकि बुमराह का संभावित विकल्प माना जा रहा है. फरवरी के बाद यह पहला मौका था जब भारत के सभी शीर्ष खिलाड़ी एक साथ खेलते नजर आए. इस दौरान खिलाड़ियों ने आईपीएल 2018 के बाद अच्छी वापसी की.

दोनों स्पिनर्स को मिल सकता है मौका

Cricket - Ireland v India - First International T20 - The Village, Malahide, Ireland - June 27, 2018 India's Kuldeep Yadav (L) and Yuzvendra Chaha celebrate after the wicket of Ireland's Stuart Poynter to win the match REUTERS/Clodagh Kilcoyne - RC1D91DC42E0

भारतीय टीम प्रबंधन के हालांकि श्रृंखला की शुरुआत में तय संयोजन के साथ उतरने की उम्मीद है. अगर किसी एक कलाई के स्पिनर को अंतिम एकादश से बाहर किया जाता है तो सिद्धार्थ कौल के नाम पर भी विचार किया जा सकता है. यह फैसला हालांकि पिच पर निर्भर करेगा, लेकिन मैनचेस्टर के स्तर के हिसाब से दो दिन से काफी अधिक गर्मी पड़ी है और ऐसे में दोनों स्पिनर्स को भी मौका मिल सकता है. टीम में हार्दिक पंड्या एकमात्र ऑलराउंडर है और ऐसे में उनके भाई क्रुणाल और चाहर को अपनी बारी के लिए इंतजार करना पड़ सकता है. मध्यक्रम में कोहली के अधिक बदलाव करने की उम्मीद नहीं है. कोहली , सुरेश रैना और महेंद्र सिंह धोनी मध्यक्रम की रीढ़ हैं जबकि मनीष पांडे की नजरें चौथे बल्लेबाज के स्थान पर टिकी हैं.

वनडे में प्रभावि‍त हो सकती है भारत की तैयारी

कोहली ने आयरलैंड में संकेत दिया था कि टीम में किसी भी स्थान के लिए समान बदलाव होगा. इसका मतलब हुआ कि बैकअप सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल को बाहर बैठना पड़ सकता है और धोनी के विकल्प दिनेश कार्तिक के साथ भी ऐसा होगा. ऐसी स्थिति में भी पांडे को मौका मिलने की संभावना बढ़ जाती है. हालांकि अगर इस नियम पर चला जाता है तो 50 ओवर के प्रारूप में भारत की तैयारी प्रभावित हो सकती है क्योंकि राहुल और कार्तिक इस प्रारूप में मध्यक्रम में बल्लेबाजी के दावेदार हैं. इंग्लैंड ने हालांकि त्रिकोणीय श्रृंखला में खराब प्रदर्शन के बाद कुछ रणनीतिक बदलाव किए. सहायक कोच पाल फारब्रेस को ऑस्‍ट्रेलिया और भारत सीरीज के लिए टीम की कमान सौंपी गई, जबकि मुख्य कोच ट्रेवर बेलिस घरेलू क्रिकेट में प्रतिभा तलाश कर रहे हैं.

टीम: भारत : विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन , रोहित शर्मा , लोकेश राहुल , सुरेश रैना , मनीष पांडे , महेंद्र सिंह धोनी , दिनेश कार्तिक , युजवेंद्र चहल , कुलदीप यादव , क्रुणाल पंड्या , भुवनेश्वर कुमार , दीपक चाहर , हार्दिक पंड्या , सिद्धार्थ कौल और उमेश यादव.

इंग्लैंड : इयोन मोर्गन (कप्तान), मोईन अली , जॉनी बेयरस्‍टो, जैक बाल , जोस बटलर , सैम कुरेन , एलेक्स हेल्स , क्रिस जोर्डन , लियाम प्लंकेट , आदिल राशिद , जो रूट , जेसन राय , डेविड विली और डेविड मलान.

 

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi