S M L

देवधर ट्रॉफी: इन खिलाड़ियों के लिए यहां से खुल सकते हैं टीम इंडिया के बंद दरवाजे

विजय हजारे ट्रॉफी विजेता टीम मुंबई को इस बार इसमें शामिल नहीं किया गया है

Updated On: Oct 22, 2018 06:51 PM IST

FP Staff

0
देवधर ट्रॉफी: इन खिलाड़ियों के लिए यहां से खुल सकते हैं टीम इंडिया के बंद दरवाजे
Loading...

वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच मैचों की वनडे सीरीज के शुरुआती मैचों के लिए टीम में जगह बनाने में असफल रहे आर अश्विन, अजिंक्य रहाणे मंगलवार से शुरू हो रहे देवधर ट्रॉफी के जरिए वनडे क्रिकेट में अपनी उपयोगिता साबित करने उतरेंगे. वहीं इनके अलावा उभरते बल्लेबाज पृथ्वी शॉ पर भी सबकी नजरें टिकी होगी, जोे विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में मुंबई टीम से खेलते हुए फ्लॉप रहे थे. 2019 विश्व कप के लिए अब ज्यादा समय भी नहीं बचा है और भारत को इंग्लैंड विश्व कप से पहले अब सिर्फ 17 वनडे इंटरनेशनल मैच ही खेलने हैं, तो ऐसे में अश्विन, रहाणे जैसे अनुभवी खिलाड़ियों की कोशिश टीम में अपनी दावेदारी ठोंकने पर होगी, वहीं शॉ विश्व कप के लिए सीनियर खिलाड़ियों सहित चयनकर्ताओं का विश्वास जीतना चाहेंगे. पिछली प्रतियोगिताओं की तरह इस बार विजय हजारे ट्रॉफी चैंपियन टीम को इस टूर्नामेंट में जगह नहीं मिली है. कुल मिलाकर टूर्नामेंट में चार मैच खेले जाएंगे, जिसका फाइनल 27 अक्टूबर को होगा. भारत ए के कप्तान दिनेश कार्ति, बी के कप्तान श्रेयस अय्यर जबकि भारत सी के कप्तान रहाणे हैं.

घरेलू स्तर पर खेलने वाले युवा खिलाड़ियों के लिए यह अगले महीने होने वाले न्यूजीलैंड के ए दौरे के लिए दावेदारी पेश करने का मौका होगा.टेस्ट में अश्विन के स्पिन जोड़ीदार रवीन्द्र जडेजा एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में वापसी करने में सफल रहे हैं लेकिन इस दिग्गज आॅफ स्पिनर को जुलाई 2017 से भारत के लिए सीमित ओवरों का मैच खेलने का मौका नहीं मिला है.

विश्व कप के लिए और अधिक संभावना दिख सके

 

vijay 2

वैसे देवधर ट्रॉफी में विजय हजारे ट्रॉफी विजेता को भी शामिल किया जाता है, लेकिन जब विश्व कप होने में सिर्फ सात माह का ही समय बचा है तो देवधर ट्रॉफी के यह सत्र भारत ए, बी और सी के बीच ही खेला जाएगा. ताकि चयनकर्ता उन संभावितों का एक मजबूत सेट तैयार कर सकती है, जो अगले साल इंग्लैंड जाएंगे.

दिनेश कार्तिक के सामने भी होगी चुनौती

खुद को साबित करने की चुनौती सिर्फ अश्विन और रहाणे पर ही नहीं बल्कि भारत ए के कप्तान दिनेश कार्तिक पर होगी, जिन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज की टीम से बाहर कर दिया गया. भले ही कार्तिक ने निदाहास ट्रॉफी में विजयी छक्का लगाकर टीम को जीत दिला दी थी, लेकिन उनसे ज्यादा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत प्रभावित करने में सफल रहे. फिलहाल भारत के सामने अभी आॅस्ट्रेलिया दौरा है और इन अनुभवी खिलाड़ियों को देवधर ट्रॉफी के बेहतरीन प्रदर्शन कर आॅस्ट्रेलिया दौरे के लिए मजबूत दावेदारी पेश करनी होगी. भारत ए के कप्तान कार्तिक शॉ जैसा बल्लेबाज, सिद्धार्थ कौल जैसा गेंदबाज और क्रुणाल पांड्या जैसे खिलाड़ी हैं.

रहाणे की जगह रायुडू को प्राथमिकता

देवधर ट्रॉफी में भारत सी कर कप्तानी करने वाले रहाणे ने अपना पिछला इंटरनेशनल वनडे मैच फरवरी में खेला था, लेकिन उसके बाद वह टीम में जगह नहीं बना पाए. चौथे स्थान पर उनकी जगह अंबाती रायुडू फिलहाल चयनकर्ताओं की पहली पसंद हैं. रहाणे की टीम में अंडर 19 विश्व विजेता टीम के सदस्य शुभमन गिल और अनुभवी सुरेश रैना जैसे बल्लेबाज टीम को मजबूती प्रदान कर रहे हैं.

टीमें इस प्रकार हैं:

भारत ए: दिनेश कार्तिक (कप्तान), पृथ्वी शॉ, अनमोलप्रीत सिंह, अभिमन्यु ईश्वरन, अंकित बावने, नितीश राणा, करुण नायर, क्रुणाल पांड्या, रविचंद्रन अश्विन, श्रेयस गोपाल, शम्स मुलानी, मोहम्मद सिराज, धवल कुलकर्णी और सिद्धार्थ कौल.

भारत बी: श्रेयस अय्यर (कप्तान), मयंक अग्रवाल, ऋतुराज गायकवाड़, प्रशांत चोपड़ा, हनुमा विहारी, मनोज तिवारी, अंकुश बैन्स, रोहित रायुडू, के गौतम, मयंक मार्कंडेय, एस नदीम, दीपक चहर, वरुण आरोन और जयदेव उनादकट.

भारत सी: अजिंक्य रहाणे (कप्तान), अभिनव मुकुंद, शुभमन गिल, रविकुमार समर्थ, सुरेश रैना, सूर्यकुमार यादव, इशान किशन, विजय शंकर, वाशिंगटन सुंदर, राहुल चाहर, पप्पू राय, नवदीप सैनी, रजनीश गुरबानी और उमर नजीर.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi