S M L

सीओए ने दी जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन को भ्रम ना फैलाने की चेतावनी

जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव ने लगाया था पैसों की कमी का आरोप , जिसके चलते घरेलू टूर्नामेंट्स में राज्य के खिलाड़ियों का भाग लेना हो गया है मुश्किल

Updated On: Sep 12, 2017 05:08 PM IST

FP Staff

0
सीओए ने दी जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन को भ्रम ना फैलाने की चेतावनी

प्रशासकों की समिति ने  जम्मू कश्मीर क्रिकेट संघ (जेकेसीए) सचिव इकबाल शाह को कोष की कमी के कारण आगामी रणजी ट्राफी से ‘हटने’ पर विचार करने के लिए बाध्य होने संबंधित ‘भ्रामक’ टिप्पणी के प्रति चेताया. जेकेसीए सचिव ने कहा था कि बीसीसीआई ने वार्षिक अनुदान रोक दिया है इसलिए रणजी ट्रॉफी के लिए टीम उतारना मुश्किल होगा जिसके बाद सीओए ने इसे दबाव बनाने की रणनीति करार दिया है जबकि संघ ने उच्चतम न्यायालय के निर्देशों का पालन नहीं किया है. सीओए ने कड़े शब्दों में लिखे पत्र में जेकेसीए सचिव को उच्चतम न्यायालय के आदेशों का पालन करने को कहा है.

सीओए के शाह को लिखे पत्र में लिखा गया है, ‘माननीय उच्चतम न्यायालय के सात अक्तूबर 2016 और 21 अक्तूबर 2016 के आदेशों के तहत बीसीसीआई को आदेशों का पालन नहीं करने वाले राज्य संघों को कोष जारी करने से रोका गया है.’ उन्होंने कहा, ‘प्रशासकों की समिति ने उन मीडिया रिपोर्ट पर भी गौर किया है जिसमें कहा गया है कि जेकेसीए कोष की कमी के कारण बीसीसीआई टूर्नामेंटों से हट सकता है जिसमें आपके हवाले से कहा गया है कि यह बीसीसीआई और/या प्रशासकों की समिति की निष्क्रियता के कारण है.’

जेकेसीए के सचिव इकबाल शाह ने एक इंटरव्यू में कहा था कि ‘हमारे बैंक खाते को नियमित करने के लिए और करीब 34 करोड़ रुपए का उपयोग करने के लिए हमें बीसीसीआई का पत्र बैंक को दिखाने की जरुरत होती है. मगर न तो बोर्ड अधिकारीयों, न सीईओ और न ही प्रशासकों की समिति ने पत्र जारी किया है.'

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi