S M L

एन श्रीनिवासन ने ठोकी ताल तो विनोद राय ने सुना दिया फरमान

टीएनपीएल में बाहरी खिलाड़ियों को खिलाने के मसले पर सीओए और तमिलनाडु क्रिकेट ऐसोसिएशन आए आमने-सामने

FP Staff Updated On: Jul 06, 2018 01:31 PM IST

0
एन श्रीनिवासन ने ठोकी ताल तो विनोद राय ने सुना दिया फरमान

बीसीसीआई को चलाने के लिए सुप्रीम कोर्ट की बनाई प्रशासकों की समिति और बोर्ड से जुड़े अधिकारियों के बीच की जंग हर रोज एक नया मुकाम हासिल कर रही है. ताजा टकराव सीओए और तमिलनाडु क्रिकेट बोर्ड के बीच का है. पूर्व के पूर्व चीफ और सर्वशक्तिमान अधिकारी रहे एम श्रीनिवासन के वर्चस्व वाली तमिलनाडु क्रिकेट ऐसोसिएशन के बीच यह पेंच तमिलनाडु प्रीमियर लीग यानी टीएमपीएल को लेकर फंस गया हा.

प्रशासकों की समिति (सीओए) ने तमिलनाडु क्रिकेट संघ (टीएनसीए) को 16 बाहरी खिलाड़ियों को बाहर करने का निर्देश दिया जो तमिलनाडु प्रीमियर लीग के तीसरे चरण में भाग लेने की तैयारी कर रहे थे.

सीओए ने बाहरी खिलाड़ियों के भाग लेने की स्थिति में टीएनपीएल को ‘ गैर मान्यता प्राप्त टूर्नामेंट ’ करार देने की धमकी भी दी और आयोजकों को छह जुलाई तक बीसीसीआई से अनुमति लेने को भी कहा है.

बीसीसीआई में कई अधिकारियों ने इस फैसले को विचित्र फरमान करार दिया जिससे ऐसा लगता है कि भारत ए के पूर्व खिलाड़ी उन्मुक्त चंद, शेल्डन जैक्सन 11 जुलाई से शुरू होने वाली राज्य की टी 20 में भाग नहीं ले पाएंगे.

भारत के मौजूदा खिलाड़ी हनुमा विहारी के भी टीएनपीएल में खेलने की उम्मीद है जो राष्ट्रीय टीम के साथ इंग्लैंड में है.

सीओए के सभी राज्य संघों को भेजे मेल के अनुसार टीएनसीए ने लीग में बाहरी खिलाड़ियों को शामिल करने के लिये पहले से अनुमति नहीं ली. इस मेल के अनुसार टीएनसीए ने मौजूदा नियमावली की धारा 28 (बी) का उल्लघंन किया है.

इस 28 (बी) नियम के अनुसार, ‘ किसी भी टूर्नामेंट के आयोजन के लिये पहले से अनुमति लेना जरूरी होता है.’

अब देखना होगा कि श्रीनिवासन विनोद राय़ के इस फरमान का सामने क्या रुख अपनाते हैं.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi