S M L

जानिए आखिर क्यों मिताली राज को विराट कोहली से इतनी कम तनख्वाह दे रही है बीसीसीआई

पुरुष क्रिकेटरों के साथ महिला क्रिकेटरों की तनख्वाह की तुलना गैरवाजिब है - डायना एडुलजी

Updated On: Mar 10, 2018 03:46 PM IST

FP Staff

0
जानिए आखिर क्यों मिताली राज को विराट कोहली से इतनी कम तनख्वाह दे रही है बीसीसीआई

हाल ही में बीसीसीआई को चलाने के लिए सुप्रीम कोर्ट की बनाई प्रशासकों की समिति यानी सीओए ने महिला और पुरुष क्रिकेटरों के सालाना कॉन्ट्रैक्ट का ऐलान किया. इस करार में क्रिकेटरों की तनख्वाहों में काफी इजाफा किया गया साथ ही बोर्ड से महिला क्रिकेटरों को तुलना में पुरुष क्रिकेटों की सालाना कमाई में भारी अंतर की बात भी सामने आई. महिला दिवस यानी आठ मार्च की पूर्व संध्या पर हुए इस ऐलान के बाद सोशल मीडिया बीसीसीआई के ऊपर महिला –पुरुष क्रिकेटरों में भेदभाव के आरोप भी लगे.

अब इसी सीओए की सदस्य और भारत की पूर्व महिला कप्तान डायन एडुलजी ने इस मामले में सफाई दी है. डायना का मानना है कि पुरुष क्रिकेटरों की तनख्वाहों की महिला क्रिकेटरों के साथ तुलना करना ही गैरवाजिब है.

Former Indian government auditor, Vinod Rai (L) gestures towards former India women cricket captain, Diana Edulji (C) as banker Vikram Limaye looks on during a media oppurtunity in Mumbai on January 31, 2017. The first woman to hold a top post at India's powerful and immensely wealthy cricket board vowed Tuesday to put the scandal-plagued body's house in order. / AFP PHOTO / Punit PARANJPE

समाचार पत्र मिड डे के साथ बात करते हुए डायना एडुलजी ने कहा ‘यह तुलना सही नहीं है, महिला क्रिकेट अभी परिपक्व होने की राह पर है. इसके मुकाबलों की टीवी कवरेज को बड़ा मुकाम हासिल करने में अभी वक्त लगेगा.’

डायना एडुलजी ने टेनिस के खेल की नजीर देते हुए कहा कि जिस तरह से महिला टेनिस को बड़े रूप में पॉपुलेरिटी हासिल करने में वक्त लगा उसी तरह महिला क्रिकेट को भी टीवी पर कवरेज हासिल करने में वक्त लगेगा.

उन्होंने दावा किया कि सीओए की ओर से महिला क्रिकेट को व्यापक टीवी कवरेज दिलवाने की भरपूर कोशिश की जा रही है. अगर महिला क्रिकेट से भी रेवेन्यू आने लगा तो फिर उनकी तनख्वाहों में इजाफा होना लाजिमी है.

बोर्ड के नए कॉन्ट्रैक्ट के मुताबिक टीम इंडिया को टॉप ग्रेड के खिलाड़ी को सात करोड़ रुपए सालाना मिलेंगे जबकि महिला टीम की टॉप ग्रेड खिलाड़ी को सालाना 50 लाख रुपए मिलेगें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता
Firstpost Hindi