S M L

विनोद राय की सफाई, 'कप्तान कोहली नहीं डालते गैरजरूरी दबाव'

विनोद राय- कप्तान को ही खास जिम्मेदारी निभानी होती है उसे एक सीमा तक छूट और विशेषाधिकार मिलने चाहिए

FP Staff Updated On: May 22, 2018 04:54 PM IST

0
विनोद राय की सफाई, 'कप्तान कोहली नहीं डालते गैरजरूरी दबाव'

भारतीय क्रिकेट सर्किल में माना जाता है कि कोई भी कप्तान कितना ताकतवर हो सकता है यह बात उसके और बीसीसीआई के अध्यक्ष के बीच की केमिस्ट्री पर निर्भर होती है. सौरव गांगुली और एमएस धोनी के पावरफुल  कप्तान होने के पीछे उनके तत्कालीन अध्यक्ष क्रमश: जगमोहन डालमिया और एन श्रीनिवासन के साथ ट्यूनिंग की नजीर भी पेश की जाती है.

हाल के दिनों में विराट कोहली बेहद ताकतवर कप्तान बनकर उभरे हैं तो उसके पीछे भी सुप्रीम कोर्ट की बनाई प्रशासकों की समिति यानी सीओए के मुखिया विनोद राय का वरदहस्त होने की बात कही जाती है. कभी सीओए के सदस्य रहे इतिहासकार रामचंद्र गुहा तो खुलकर कह चुके हैं कि बोर्ड के पॉलिसी मेकिंग फैसलों में विराट कोहली की जोरदार दखलअंदाजी रहती है लेकिन विनोद राय ने सफाई दी है कि कोहली बोर्ड के फैसले में कोई भी गैरजरूरी दखल नहीं देते हैं.

पीटीआई को दिए एक इंटरव्यू में विनोद राय का कहना है, ‘कोई भी कप्तान टीम पर कुछ निश्चित प्रभाव डालता है. मैं एक निश्चित सीमा तक इस तरह की छूट और अधिकार देने के पक्ष में हूं. आखिरकार कप्तान को ही खास जिम्मेदारी निभानी होती है.’

India's captain Virat Kohli (L) walks past coach Anil Kumble during the Indian team's training session at the Maharashtra Cricket Association Stadium in Pune on February 22, 2017. India will play a four match Test series against touring Australia with the first Test scheduled to start in Pune from February 23. ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / AFP PHOTO / INDRANIL MUKHERJEE / ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / GETTYOUT

पिछले साल हेड कोच अनिल कुंबले के इस्तीफे के वक्त इस बात की चर्चा थी कि कोहली के दबाव में उन्हें इस्तीफा देना पड़ा लेकिन विनोद राय का कहना है, ‘ मैं यह स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि कोई भी मेरे पास यह शिकायत लेकर नहीं आया कि विराट ने इस तरह से प्रभाव डाला जो कि कप्तान को मिले अधिकारों से इतर हो.’

विराट कोहली के अफगानिस्तान टेस्ट को छोड़कर काउंटी क्रिकेट खेलने के फैसले का समर्थन करते हुए विनोद राय ने कहा है, ‘मैं शुरू से ही नीतिगत फैसलों में शामिल रहा हूं. साउथ अफ्रीका दौरे में हमें टेस्ट सीरीज में 1-2 से हार झेलनी पड़ी और इसको लेकर काफी आलोचना हुई कि टीम को वहां की परिस्थितियों से सामंजस्य बिठाने का पर्याप्त समय नहीं मिला.’

उन्होंने कहा, ‘टीम प्रबंधन के साथ इसको लेकर चर्चा हुई जिसमें भारत ए के कोच राहुल द्रविड़ भी थे. इसमें विस्तृत योजना तैयार की गयी ताकि हमारे खिलाड़ी वहां जल्दी पहुंचकर मैच खेलें और सीरीज के लिये तैयार रहें. इसके अलावा अफगानिस्तान के सीईओ (शाफिक स्टेनिकजई) ने भी बयान दिया कि वे भारत से खेल रहे हैं विराट कोहली से नहीं.’

विनोद राय के इस बयान से साफ है कि वह विराट कोहली जरूरत से ज्यादा दी रही शक्तियों की बात से इत्तेफाक नहीं रखते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi