S M L

बस, तीन बार ही तो फेल हुई है हमारी बैटिंग...

पुजारा ने कहा कि टीम पर खराब बल्लेबाजों का ठप्पा नहीं लगना चाहिए

Updated On: Mar 05, 2017 08:44 PM IST

Bhasha

0
बस, तीन बार ही तो फेल हुई है हमारी बैटिंग...

भारतीय बल्लेबाज मौजूदा टेस्ट सीरीज में भले ही ऑस्ट्रेलियाई स्पिनरों के सामने लगातार घुटने टेक रहे हैं. लेकिन चेतेश्वर पुजारा ने रविवार को जोर देकर कहा कि उनके बल्लेबाजी क्रम में कुछ भी गलत नहीं है.

पुणे में पहले टेस्ट में 333 रन की करारी हार के बाद भारतीय टीम दूसरे टेस्ट की पहली पारी में भी 189 रन पर सिमट गई. टीम अभी 48 रन से पिछड़ी हुई है. पुजारा ने कहा कि तीन पारियों में विफल रहने के बाद उन पर खराब बल्लेबाजों का ठप्पा नहीं लगना चाहिए.

पुजारा ने दूसरे दिन के खेल के बाद कहा, ‘सबसे महत्वपूर्ण चीज यह रही कि हमारी कोई बड़ी साझेदारी नहीं हुई. हम लगातार विकेट गंवाते रहे. भारतीय बल्लेबाजी क्रम में कुछ भी गलत नहीं है. पिछली तीन पारियों को छोड़ दें, तो हमें स्पिनरों के खिलाफ बेहतर खेलने के लिए जाना जाता है. दूसरी पारी में हमारे पास बेहतर रणनीति होगी. हम आश्वस्त हैं कि हम अच्छा प्रदर्शन करेंगे.’ मध्यक्रम के इस बल्लेबाज ने जोर देकर कहा कि उन्होंने मौका नहीं गंवाया है. असल में गेंदबाजों ने अच्छा काम किया.

उन्होंने कहा, ‘तेज गेंदबाजों के लिए आसान नहीं था क्योंकि कुछ गेंदें नीची रह रही थीं. उन्होंने काफी कड़ी मेहनत की. स्पिनरों ने काफी अच्छा किया. आप रन गति देख सकते हैं, वह ज्यादा रन नहीं बना पाए. एक तरह से यह हमारी जीत है. हमने अच्छी लाइन और लेंथ के साथ गेंदबाजी की. हमने अच्छी गेंदबाजी की और छह विकेट हासिल किए.’

पुजारा ने कहा कि कल भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया को 300 रन के भीतर आउट करने की कोशिश करेगी. उन्होंने कहा, ‘कल के लिए हमारे पास रणनीति है. बेशक हम विचार करेंगे कि हम क्या बेहतर कर सकते थे. हमारे गेंदबाजों ने काफी अच्छी गेंदबाजी की. हम उन्हें 30 से 40 रन के भीतर रोकने की कोशिश करेंगे.’

पुजारा ने स्वीकार किया कि जब विरोधी कप्तान स्टीव स्मिथ क्रीज पर थे तो कुछ बात हो रही थी लेकिन उन्होंने इसका खुलासा नहीं किया. उन्होंने कहा, ‘हम जब भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलते हैं तो छींटाकशी होती है. मुझे नहीं पता कि असल में क्या कहा गया. लेकिन कुछ मौकों पर कुछ कहा गया. कुल मिलाकर यह खेल भावना के अनुसार था, कुछ भी निजी तौर पर नहीं था. यह सिर्फ बात करने की तरह था.’

डीआरएस के इस्तेमाल पर पुजारा ने कहा कि भारतीय टीम के लिए यह नया है और टीम अब इसका बेहतर तरीके से इस्तेमाल करना सीख रही है

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi