विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

चैंपियंस ट्रॉफी 2017: ये खिलाड़ी जिताएंगे इंग्लैंड को पहली बार 'मिनी वर्ल्डकप'?

इंग्लैंड के पास कई शानदार खिलाड़ियों की फौज

Lakshya Sharma Updated On: May 31, 2017 11:26 AM IST

0
चैंपियंस ट्रॉफी 2017: ये खिलाड़ी जिताएंगे इंग्लैंड को पहली बार 'मिनी वर्ल्डकप'?

1 जून से शुरू हो रही चैंपियंस ट्रॉफी में इस बार मेजबान इंग्लैंड का पलड़ा भी काफी भारी नजर आ रहा है. इंग्लैंड की टीम ने पिछले 2 सालों में प्रदर्शन किया है वह सच में काबिलेतारीफ है. एक वक्त जब इंग्लैंड की वनडे की कमजोर टीम समझा जाता था तो यही कहा जाता था कि उसे आक्रामक क्रिकेट खेलनी नहीं आती.

चैंपियंस ट्रॉफी में इंग्लैंड को अपने अभियान की शुरुआत 1 जून से बांग्लादेश के खिलाफ मैच से करनी है. ये मुकाबला केनिंग्टन ओवल में खेला जाएगा. इसके बाद टीम को अपना अगला मुकाबला 6 जून को न्यूजीलैंड के खिलाफ कार्डिफ में खेलना है, टीम अपना आखिरी लीग मैच 10 जून को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एजबेस्टन में खेलेगी.

अब बात करते है कि कौनसे वह 15 खिलाड़ी है जो इंग्लैंड को पहली बार खिताब जीताने की कोशिश करते नजर आएंगे.

ऑइन मॉर्गन- हाल में साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले वनडे में शतक लगाने वाले यह खिलाड़ी इस टीम की सबसे बड़ी ताकत है. इस खिलाड़ी ने जब से इंग्लैंड टीम की कमान संभाली है तब से टीम के रंग ढंग ही बदल गए. यह खिलाड़ी ना केवल चतुर कप्तान है बल्कि एक शानदार बल्लेबाज भी है. इस खिलाड़ी ने अब तक 179 वनडे में 38 से ज्यादा की औसत से 5511 रन बनाए हैं. वनडे करियर में वह अब तक 11 शतक लगा चुके हैं. अपने घरेलू मैदान पर मॉर्गन का प्रदर्शन और जबरदस्त है. अपने मैदान पर मॉर्गन की औसत 43 की हो जाती है. जो विरोधियों को डराने के लिए काफी है.

एलेक्स हेल्स- इंग्लैंड टीम का ये ओपनर क्या कर सकता है, ये वह पिछले दो सालों में लगातार दिखा रहे हैं. पहली ही गेंद से गेंदबाज को दबाव में कैसे लाना है यह बात हेल्स से सीखी जा सकती है. हेल्स के वनडे करियर की बात करें तो उन्होने 44 वनडे में 39 से ज्यादा की औसत से 1603 रन बनाए हैं. वनडे में वह अब तक 5 शतक लगा चुके हैं. करीब 96 का स्ट्राइक रेट दर्शाता है कि वह कितने खतरनाक बल्लेबाज है. अपने घरेलू मैदान पर हेल्स ने 34 से ज्यादा की औसत से रन बनाए हैं.

जेसन रॉय- हेल्स की तरह जेसन रॉय भी तूफानी बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं और हेल्स के साथ तो उनकी जोड़ी और जमती है. रॉय ने अब कर 44 वनडे मैचों में 37 से ज्यादा की औसत से 1432 रन बनाए हैं. करीब 103 की स्ट्राइक विरोधियों को खौफ में लाने के लिए काफी है. वह वनडे में अब तक 3 शतक लगा चुके हैं. अपनी जमीन पर उन्होने 38 की औसत और करीब 105 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं.

root

जो रूट- इंग्लैंड के मिडिल ऑर्डर के रीढ़ की हड्डी जो रूट हर फॉर्मेट में इंग्लैंड के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है. अगर वनडे फॉर्मेट की बात करें तो उन्होंने अब तक 86 वनडे में 49 की शानदार औसत से  3505 रन बनाए हैं. वह भी 85 से ज्यादा की स्ट्राइक रेट से. इस फॉर्मेट में वह अब तक 9 शतक लगा चुके हैं. अपने घर पर भी उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है. अपनी धरती पर करीब 43 की औसत से रन बनाए हैं.

बेन स्टोक्स- आईपीएल 10 में सबसे ज्यादा रकम पाने वाले स्टोक्स इंग्लैंड में भी काफी हिट है. उसका मुख्य कारण है उनका प्रदर्शन. स्टोक्स गेंद हो या बल्ला दोनों से ही अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. स्टोक्स ने अब तक 54 वनडे में 1269 रन बनाए हैं. हालांकि उनकी औसत 30 की औसत थोड़ी कम है लेकिन तेज बल्लेबाजी से वह इसकी कसर पूरी कर लेते हैं. गेंद से भी वह प्रभावी रहे हैं. वनडे में अब तक वह 46 विकेट ले चुके हैं. वैसे भी स्टोक्स का आईपीएल में प्रदर्शन अच्छा रहा था जिससे उनका हौसला काफी बढ़ा होगा. अपने घरेलू दर्शको के सामने उनका प्रदर्शन अच्छा रहा है.

जोस बटलर- इंग्लैंड की तरफ से सबसे तेज शतक लगाने वाले इस विकेटकीपर बल्लेबाज की काबिलियत कई बार दुनिया देख चुकी है. ये खिलाड़ी ऐसा है जो कभी भी अपने दम पर मैच जीता सकता है. अगर बटलर के वनडे करियर की बात करें तो इस खिलाड़ी ने अब तक 88 वनडे में करीब 36 की औसत से 2297 रन बनाए हैं. 118 से ज्यादा की स्ट्राइक रेट के साथ ये औसत कमाल की है. बटलर वनडे में अब तक 4 शतक लगा चुके हैं. अपने देश में उनका प्रदर्शन और निखर जाता है. इसका सबूत उनकी बढ़ी हुई औसत और स्ट्राइक रेट भी है. इंग्लैंड की धरती पर उन्होने 42 की औसत और 123 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं.

मोईन अली- ये ऑलराउंडर लगातार गेंद और बल्ले से इंग्लैंड के लिए अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. मोईन निचले क्रम पर बल्लेबाजी के साथ साथ स्पिन गेंदबाजी में भी कमाल दिखा रहे हैं. पहले बल्लेबाजी की बात करते हैं. मोईन ने अब तक 53 वनडे में 1138 रन बनाए हैं. 102 का स्ट्राइक रेट दिखाता है कि वह तेज बल्लेबाजी में माहिर है. वनडे में अब तक वह 2 शतक भी लगा चुके हैं. गेंदबाजी में भी वह काफी प्रभावी रहे हैं. वह वनडे में अब तक 46 विकेट से चुके हैं. इंग्लैंड में वह गेंद और बल्ले दोनों से लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं.

क्रिस वोक्स- हाल ही में आईपीएल में केकेआर की तरफ से खेलने वाले वोक्स का प्रदर्शन ठीक ठाक रहा था. हालांकि साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले वनडे में भी उन्होने 4 विकेट लिए थे. अगर वोक्स के वनडे रिकॉर्ड की बात करें तो वोक्स ने अब तक 62 वनडे में 89 विकेट लिए हैं. जो बताता है कि वह विकेट टेकिंग गेंदबाज है. वोक्स अच्छी गेंदबाजी के साथ साथ निचले क्रम में बल्लेबाजी भी कर लेते हैं.

सैम बिलिंग्स- इस युवा बल्लेबाज ने हालांकि इस साल आईपीएल में तो कोई छाप नहीं छोड़ी है लेकिन तेज बल्लेबाजी के साथ लगातार रन बनाने में ये किसी से पीछे नहीं है.

जॉनी बेयरस्टो- बेयरस्टो इस समय दुनिया के सबसे बदकिस्मत खिलाड़ी कहे जा सकते हैं. वह इंग्लैंड के लिए हर फॉर्मेट में रनों की बारिश कर रहे हैं इसके बावजूद वह टीम में अपनी जगह नहीं बना पा रहे हैं. दरअसल टीम संयोजन में अभी वह फिट नहीं बैठ रहे उसके अलावा सभी खिलाड़ी अपनी जिम्मेदारी अच्छे तरीके से निभा रहे हैं. लेकिन इस सब के बावजूद बेयरस्टो हिम्मत नहीं हार रहे और उन्हें जब भी मौका मिलता है वह अच्छा प्रदर्शन करते हैं. 25 वनडे में उन्होंने अब तक करीब 38 की औसत से 596 रन बनाए हैं. 92 की स्ट्राइक रेट भी उनकी काबिलियत को दर्शाती है.

आदिल रशीद- इंग्लैंड का ये लेग स्पिनर किसी भी टीम के लिए खतरा साबित हो सकता है. हालांकि वह रन थोड़े ज्यादा खर्च करते हैं लेकिन उसकी कसर वह विकेट लेकर पूरी कर देते हैं. रशीद ने अब कर 44 वनडे मैचों में 63 विकेट लिए हैं. हाल में उन्होने आयरलैंड के खिलाफ 5 विकेट लिए थे, जो दिखाता है कि वह अभी अच्छी लय में है. रशीद भी अंत में अच्छी खासी बल्लेबाजी कर लेते हैं.

लियम प्लंकेट-  साल 2005 में इंग्लैंड की तरफ से अपना पहला वनडे खेलने वाले प्लंकेट अब जाकर टीम के नियमित सदस्य बने हैं. ये गेंदबाज लगातार 145 से 150 के बीच में गेंदबाजी करता है. उसके साथ ही हाई आर्म एक्शन के कारण उन्हे अच्छा उछाल मिलता है जो उन्हें और खतरनाक बना देता है. इस गेंदबाज ने अब तक 52 वनडे में करीब 31 की औसत से 77 विकेट लिए हैं. इंग्लैंड में उनका प्रदर्शन और बेहतर हो जाता है.

मार्क वुड-  इस गेंदबाज ने हालांकि अब तक ज्यादा मैच नहीं खेले हैं. और हो सकता है कि यही उनकी सबसे बड़ी ताकत बने क्योंकि ज्यादातर बल्लेबाजों ने उन्हे नहीं खेला है. वुड ने अब तक 14 वनडे में 16 विकेट लिए हैं. हालांकि अब तक वह बस अपनी रफ्तार से ही प्रभावित कर पाए हैं.

डेविड विली- इंग्लैंड के इस गेंदबाज ने भी कई बार अपन टीम के लिए शानदार प्रदर्शन किया है. विली की सबसे बड़ी ताकत ये है कि वह रफ्तार के साथ गेंद को अंदर और बाहर स्विंग करा सकते हैं. इस गेंदबाज ने अब तक 27 वनडे में 33 विकेट लिए हैं. विली अंतिम ओवर्स में अच्छी यॉर्कर भी डाल सकते हैं.

जेक बॉल- इस तेज गेंदबाज ने बहुत कम समय में अपनी जगह इंग्लैंड टीम में बनाई है. हाल ही में टीम में शामिल हुए जेक ने अब तक 8 मैचों में करीब 28 की औसत से 14 विकेट लिए हैं. जेक बॉल की लंबाई लगभग 6.8 फीट है जिससे उन्हे अच्छा उछाल मिलता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi