S M L

बॉल टेंपरिंग करते पकड़े गए ऑस्ट्रेलियन, कप्तान स्मिथ ने गुनाह कबूला

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी बेनक्राफ्ट बॉल टेंपरिंग करते हुए पकड़े गए

FP Staff Updated On: Mar 25, 2018 01:27 AM IST

0
बॉल टेंपरिंग करते पकड़े गए ऑस्ट्रेलियन, कप्तान स्मिथ ने गुनाह कबूला

सीरीज पहले ही विवादों में घिरी थी. बची-खुची कसर न्यूलैंड्स में हुई घटना ने पूरी कर दी. केपटाउन टेस्ट के तीसरे दिन ऑस्ट्रेलियाई टीम ने बॉल टेंपरिंग की. यह आरोप नहीं है. यह बात तो ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ ने स्वीकार की है. ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज कैमरन बैनक्रॉफ्ट को टेंपरिंग करते हुए कैमरे ने पकड़ लिया. रिवर्स स्विंग की कोशिश में टेंपरिंग की जा रही थी.

बाकी बातों से पहले यह जान लेना जरूरी है कि घटना क्या है. दरअसल, टेस्ट मैच के तीसरे दिन बेनक्राफ्ट को अपनी पैंट के अंदर कुछ रखते टीवी कैमरे में कैद किया गया. सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल भी हो गया है. इस समय दक्षिण अफ्रीका की दूसरा पारी का 43वां ओवर चल रहा था. बेनक्राफ्ट पीले रंग की कोई चीज हाथ में लिए नजर आए.

इसके बाद अंपायर नाइजल लॉन्ग और रिचर्ड इलिंगवर्थ ने उनसे बात की. जब अंपायर ने उनसे पूछा तो बेनक्राफ्ट ने अपनी जेब से कोई दूसरा पाउच निकाला जो चश्मे रखने के पैकेट जैसा लग रहा था. अंपायर्स ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की और गेंद भी नहीं बदली.

जब स्टेडियम में लगी स्क्रीन पर बेनक्राफ्ट की हरकत के वीडियो को दिखाया गया तो दक्षिण अफ्रीकी प्रशंसकों ने शोर मचाना शुरू कर दिया. इस सीरीज से बाहर चल रहे दक्षिण अफ्रीकी धुरंधर बेनक्राफ्ट की तस्वीर को डेल स्टेन ने भी ट्वीट किया.

फिर तो कमेंट की बरसात होने लगी. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व खिलाड़ी एलन बॉर्डर ने कहा कि अगर आप गलत चीज करते हुए पकड़े जाते हो, तो आपको पेनल्टी देनी होगी. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने ट्वीट किया कि कोई मुझसे यह कह दो कि मैं बुरा सपना देख रहा हूं.

 

ऐसा लगने लगा था कि बेनक्राफ्ट फंस रहे हैं. मामले में एक बड़ा मोड़ तब आया, जब दिन के खेल के बाद ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने स्वीकार किया कि उनकी टीम टेंपरिंग कर रही थी. उन्होंने कहा कि टीम के ‘लीडरशिप ग्रुप’ का यह प्लान था. हालांकि द गार्डियन के मुताबिक उन्होंने साफ किया कि वो कप्तानी के पद से नहीं हटने वाले.

स्मिथ ने कहा, ‘जो हुआ, वो गर्व करने लायक नहीं है. यह खेल की भावना के मुताबिक नहीं है. मेरी और टीम की ईमानदारी पर झटका लगा है. ऐसा होना सही भी है. यह ठीक नहीं है और आगे ऐसा नहीं होगा, मैं यह वादा कर सकता हूं.’

 

इससे पहले पोर्ट एलिजाबेथ टेस्ट में भी टेंपरिंग का मुद्दा उठा था. तब आरोप डेविड वॉर्नर पर लगा था. वॉर्नर ने सफाई मेंकहा था कि उनके हाथ में बैंडेज इसलिए है, क्योंकि उंगली में चोट है. आरोप यही था कि वो बैंडेज टेंपरिंग के लिए लगाया गया है. इसके बाद पैट कमिंस की तस्वीरें आईं, जो गेंद पर खड़े हुए थे. उन पर भी आरोप यही था कि वो स्पाइक्स के जरिए टेंपरिंग की कोशिश कर रहे हैं. उनके मामले में भी कहा गया कि गलती से पैर पड़ गया, जानबूझकर नहीं. दिलचस्प है कि डरबन में हुए पहले टेस्ट के बाद ऑस्ट्रेलियाई कोच डैरेन लीमन ने कहा था कि बॉल को रिवर्स स्विंग कराने के लिए उनकी टीम तमाम तकनीकों को इस्तेमाल करेगी. तब शायद ही किसी ने सोचा होगा कि उनमें से एक तकनीक ये होगी, जो बेनक्राफ्ट ने इस्तेमाल की.

मामले को और साफ-साफ समझने के लिए कुछ और पॉइंट देख लीजिए.

 

-लंच के वक्त लीडरशिप ग्रुप ने बेनक्राफ्ट को गेंद पर ‘काम करने’ की जिम्मेदारी दी.

-ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज ने पीला टेप लिया, जो एक तरफ से चिपकने वाला था. उसी तरफ पिच पर रगड़ा, ताकि मिट्टी के कण उस पर चिपक जाएं. उससे गेंद को रगड़ा, ताकि रफ बने, जो रिवर्स स्विंग के लिए जरूरी है.

-बेनक्राफ्ट टेप रखते हुए कैमरे में पकड़े गए. इसके बाद कोच डैरेन लीमन ने सब्स्टीट्यूट खिलाड़ी पीटर हैंड्सकॉम्ब को कोई निर्देश किया. हैंड्सकॉम्ब दौड़कर मैदान पर गए और बेनक्राफ्ट को संदेश दिया.

-अंपायर नाइजल लॉन्ग और रिचर्ड इलिंगवर्थ ने बेनक्राफ्ट और स्मिथ से ब त की. बेनक्राफ्ट ने कुछ जेब से निकालकर दिखाया, जो चश्मे के कवर जैसा था. अंपायर ने गेंद देखी. उसे बदलने की जरूरत उन्हें नहीं महसूस हुई. न ही, बॉल टेंपरिंग के आरोप में पांच पेनल्टी रन दिए गए.

कप्तान स्टीवन स्मिथ साफ कर चुके हैं कि वो इस्तीफा नहीं देंगे. लेकिन अगर लीडरशिप ने इस तरह की प्लानिंग की थी, तो कप्तान या कोच में किसी को तो हटना होगा. ऐसे में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के रुख पर नजर होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi