S M L

नहीं हुआ नाडा मुद्दे पर फैसला, बीसीसीआई को चाहिए और वक्त

भारतीय क्रिकेटर इस नियम के खिलाफ हैं क्योंकि उन्हें डर है कि इससे उनकी निजता का उल्लघंन होगा

Updated On: Jul 23, 2018 09:38 AM IST

FP Staff

0
नहीं हुआ नाडा मुद्दे पर फैसला, बीसीसीआई को चाहिए और वक्त

बीसीसीआई ने रविवार को कोलकाता में शीर्ष अधिकारियों की बैठक में राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी के अंतर्गत आने के संबंध में इंतजार करने की नीति अपनाने का फैसला किया.

इस बैठक में कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना , कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी और कोषाध्यक्ष अनिरूद्ध चौधरी भी शामिल थे. मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी इस बैठक में विनोद राय की अगुवाईवाली प्रशासकों की समिति (सीओए) का प्रतिनिधित्व कर रहे थे.

नाडा लंबे समय से बीसीसीआई को अपने अंतर्गत लाना चाहता है लेकिन देश की सबसे अमीर खेल संस्था ने इससे इनकार कर दिया क्योंकि वह राष्ट्रीय खेल महासंघ के अंतर्गत नहीं आना चाहता.

फैसला आने में लगेगा वक्त

कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना ने आज कहा , ‘सीईओ राहुल जौहरी ने हमें बीसीसीआई के डोपिंग रोधी नीति पर मौजूदा पक्ष , नाडा और आईसीसी के साथ संवाद के बारे में अपडेट किया. हालांकि अभी तक कोई भी फैसला नहीं लिया गया है. हमने इस मुद्दे पर कुछ चर्चाएं की है. लेकिन किसी भी फैसले पर पहुंचने से पहले कुछ और बैठक करेंगे. इसमें थोड़ा समय लगेगा.’

शीर्ष भारतीय क्रिकेटरों जैसे विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी को इस विवादास्पद ‘ स्थान बताने के नियम ’ के बारे में मनाना मुश्किल होगा जिसमें खिलाड़ियों को डोपिंग रोधी संस्था को परीक्षण के लिए पहले ही अपने स्थान के बारे में बताना होगा.

भारतीय क्रिकेटर इस नियम के खिलाफ हैं क्योंकि उन्हें डर है कि इससे उनकी निजता का उल्लघंन होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi