S M L

डोप टेस्ट में फेल हुए यूसुफ पठान... महज पांच महीने के लिए सस्पेंड

बीसीसीआई ने यूसुफ पठान की सफाई को मानते हुए बैक डेट से निलंबन लागू किया... 14 जनवरी के बाद क्रिकेट खेल सकेंगे पठान

Updated On: Jan 09, 2018 02:01 PM IST

FP Staff

0
डोप टेस्ट में फेल हुए यूसुफ पठान... महज पांच महीने के लिए सस्पेंड

एक समय टीम इंडिया का हिस्सा रहे ऑलराउंडर यूसुफ पठान डोप टेस्ट में फेल हो गए हैं. उन्हें पांच महीने के लिए निलंबित किया गया है. हालांकि बीसीसीआई ने उनकी दलीलों को माना है कि प्रतिबंधित पदार्थ उन्होंने जानबूझकर, परफॉर्मेंस बेहतर करने के लिए नहीं, बल्कि बीमारी के इलाज के लिए इस्तेमाल किया था. पठान को जो प्रतिबंधित पदार्थ लेने के लिए दोषी पाया गया है, वो आमतौर पर कफ सीरप में इस्तेमाल होता है. हालांकि पठान के लिए निलंबन की तारीख 14  जनवरी को खत्म हो रही है.

दिलचस्प बात यह है कि बीसीसीसीआई ने पिछले साल मार्च में हुए डोप टेस्ट के लिए अगस्त से निलंबन की तारीख तय की. यह तारीख महज पांच दिन बाद खत्म हो रही है. उसके करीब दो सप्ताह बाद आईपीएल का ऑक्शन होना है. यानी डोपिंग में फेल होने के बावजूद यूसुफ पठान ऑक्शन के लिए उपलब्ध हैं.

बीसीसीआई की एंटी डोपिंग टेस्टिंग प्रोग्राम के तहत यूसुफ पठान का टेस्ट 16 मार्च 2017 को किया गया था. दिल्ली में टी 20 टूर्नामेंट के दौरान के दौरान टेस्ट किया गया था. उनके सैंपल में टर्ब्यूटलाइन पाया गया है, जो प्रतिबंधित पदार्थ है. यह वाडा की प्रतिबंधित सूची में शामिल है.

27 अक्टूबर 2017 पर एंटी डोपिंग रूल वायलेशन (एडीआरवी) का चार्ज लगाया गया. यह चार्ज बीसीसीआई के एंटी डोपिंग नियम 2.1 के तहत लगाया गया. मामले के दौरान उन्हें निलंबित किया गया. पठान ने आरोपों का जवाब दिया और माना कि उन्होंने नियम तोड़ा है. उन्होंने तय दवा के बजाय गलती से दूसरी दवा ले ली, जिसमें प्रतिबंधित पदार्थ था. यह बिल्कुल वैसे ही है, जैसे डॉक्टर एक दवा लिखे और उसकी जगह दूसरी कंपनी की उसी तरह की दवा ले ली जाए.

बीसीसीआई ने पठान की दलीलें मान लीं कि उन्होंने यूआरटीआई के इलाज के लिए दवा ली थी. दवा परफॉर्मेंस सुधारने के लिए नहीं ली गई. बीसीसीआई की प्रेस रिलीज के मुताबिक सभी सबूतों को जांचने और विशेषज्ञों की राय लेने के बाद बीसीसीआई ने पठान की दलीलों को मान लिया. इसी के साथ यह तय किया गया कि जिस समय से जांच शुरू हुई थी, उसी समय से  उनकी पांच म हीने की सजा लागू कर दी जाए.

पठान 28 अक्टूबर को जांच शुरू होते ही सस्पेंड कर दिए गए थे. हालांकि यह भी पाया गया कि रिजल्ट मैनेजमेंट से हुई देरी की सजा भी पठान को न दी जाए. रिजल्ट मैनेजमेंट ने कार्रवाई देर से शुरू की थी. इस वजह से पठान के लिए निलंबन की अविध 15 अगस्त 2017 से 14 जनवरी 2018 तय की गई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi