S M L

बीसीसीआई मीडिया राइट्स: क्या टीम इंडिया के मैचों को आईपीएल के मैचों से ज्यादा कीमत मिलेगी!

अगले पांच साल के लिए भारत में होने वाले मुकाबलों के प्रसारण का होगा फैसला, बड़ी-बड़ी कंपनियों में है टक्कर, जियो साबित हो सकता है छुपा रुस्तम

FP Staff Updated On: Apr 03, 2018 09:12 AM IST

0
बीसीसीआई मीडिया राइट्स: क्या टीम इंडिया के मैचों को आईपीएल के मैचों से ज्यादा कीमत मिलेगी!

टीम इंडिया के भारत में होने वाले मुकाबलों के लिए मीडिया अधिकारों के लिए सोमवार को स्टार, सोनी, जियो, फेसबुक और गूगल सहित छह कंपनियां ई्- नीलामी के जरिये बोली लगाएंगी.

बीसीसीआई मुंबई में पहली बार ई- नीलामी के जरिये इन मीडिया अधिकारों के लिए बोली प्रक्रिया का आयोजन करेगा. यह अधिकार पांच साल अप्रैल2018 से मार्च 2023 तक के लिए होंगे.

सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या बीसीसीआई को प्रति मैच आईपीएल के प्रति मैच से ज्यादा कीमत मिल पाएगी? इससे पहले स्टार इंडिया बोर्ड को हर मैच के लिए 43 करोड़ रुपए देता था. आईपीएल में 54 करोड़ रुपए प्रित मैच के हिसाब से स्टार ने अगले पांच साल के लिए मीडिया राइट्स खरीदे हैं यानी निगाहें इसी बात पर है कि क्या टीम इंडिया के मुकाबलों को आईआपीएल के मुकाबलों के ज्यादा कीमत मिल पाएगी या नहीं.

ई- नीलामी प्रक्रिया बीसीसीआई के पारंपरिक‘ बंद बोली नीलामी मॉडल( सीलबंद लीफाफे में)’ की जगह लेगी. क्रिकेट प्रशासकों की समिति यानी सीओए को लगता है कि ऑनलाइन बोली प्रक्रिया प्रतिस्पर्धी मूल्य पता करने के लिए पारदर्शी तरीका है.

इस दौरान( अगले पांच साल में) भारतीय टीम घरेलू सरजमीं पर लगभग 22 टेस्ट, 42 वनडे  और 38 टी20 मैच खेलेगी.

टेलीविजन प्रसारण अधिकार के लिए स्टार, सोनी और जियो के साथ यप्प टीवीके भी बोली लगाने की संभावना है जबकि फेसबुकऔर गूगल डिजिटल अधिकारों के लिए बोली लगा सकते हैं.

NIDAHAS JIO

स्टार, सोनी और जियो भी डिजिटल मार्केट में अपना प्रसार बढ़ा रहे हैं और ऐसे में वैश्विक संपूर्ण अधिकारों के लिए बड़ी बोली लगने पर हैरानी नहीं होगी.

स्टार ने पहले ही भारतीय क्रिकेट की सबसे प्रतिष्ठित मीडिया संपत्ति आईपीएल के प्रसारण अधिकार16,347 करोड़ रुपये में खरीदे हैं. स्टार के पास आईसीसी टूर्नामेंटों का भी अधिकार है जिसमें विश्व टी20 ( पुरुष और महिला), पुरुष और महिला टीम के50 ओवर के विश्व कप और चैंपियंस ट्राफी शामिल है.

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने पीटीआई को बताया,  आईपीएल मीडिया अधिकार हासिल करने के बाद यह देखना दिलचस्प होगा कि स्टार इन अधिकारों के लिए कितना उत्साहित होगा. सोनी भी इन अधिकारों को हासिल करने के लिए बेकरार होगा क्योंकि किसी भी प्रसारक के अस्तित्व में बने रहने के लिए जरूरी है कि उसके पास भारतीय टीम का मीडिया अधिकार हो. जियो इसमें छुपा रुस्तम साबित हो सकता है क्योंकि सिर्फ टीवी अधिकार हासिल करके वे प्रसारण क्षेत्र में भी उतर सकते हैं.’

फेसबुक ने आईपीएल के डिजिटल अधिकारों के लिए 3900 करोड़ रुपये की बड़ी बोली लगाई थी लेकिन वह स्टार से पिछड़ गया जिसने यह अधिकार एक संपूर्ण बोली के साथ हासिल किए.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi