S M L

बॉल टेंपरिंग: क्या शेन वॉर्न और सचिन की मशहूर राइवलरी फिर जिंदा हो गई है!

शेन वॉर्न ने 2001 में सचिन पर लगे बॉल टेंपरिंग के आरोपों की चर्चा करके ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को मिली सजा को ठहराया गैरवाजिव

Updated On: Mar 29, 2018 10:49 AM IST

FP Staff

0
बॉल टेंपरिंग: क्या शेन वॉर्न और सचिन की मशहूर राइवलरी फिर जिंदा हो गई है!

आम तौर पर विवादास्पद मसलों के दूर रहने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने बॉल टेंपरिंग के विवाद पर अपनी चुप्पी तोड़ी है. सचिन ने बॉल टेंपरिंग के मसले पर स्टीव स्मिथ, डेविड वॉर्नर और केमरून बेनक्रॉफ्ट की दी गई सजा को वाजिब ठहराया है.

 

तेंदुलकर ने अपने ट्विटर पेज पर लिखा, ‘क्रिकेट को भद्रजनों के खेल के रूप में जाना जाता है. यह ऐसा खेल है जिसके बारे में मेरा मानना है कि इसे पाक साफ तरीके से खेलना जाना चाहिए. जो भी हुआ वह दुर्भाग्यपूर्ण है लेकिन खेल की अखंडता को बनाए रखने के लिए सही फैसला किया गया. जीतना महत्वपूर्ण है लेकिन यह अधिक महत्वपूर्ण है कि आप किस तरह जीतते हो.’

सोशल मीडिया पर सचिन का यह बयान पूर्व कंगारू स्पिनर शेन वॉर्न के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने इस मसले पर सचिन के नाम की भी चर्चा की है. वॉर्न ने अपने एक लेख में तीनों ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की दी गई सजा को जरूरत से ज्यादा बताते हुए कहा कि साल 2001 में सचिन तेंदुलकर पर भी ऐसे ही आरोप लगे थे. वॉर्न 17 साल पुराने उस टेस्ट मैच का जिक्र कर रहे थे जिसमें सचिन को बॉल टेंपरिंग के आरोप में एक टेस्ट मैच के लिए प्रबंधित किया गया था.

एक वक्त था जब क्रिकेट के मैदान पर सचिन और वॉर्न के बीच की राइवलरी मशहूर थी. वॉर्न ने खुद यह बात कबूली थी कि सचिन उनके सपनों में आकर उनकी गेंद पर छक्का जड़ते देते हैं. दोनों खिलाड़ियो के संन्यास लेने के बाद यह राइवलरी अब इतिहास की बात हो गई है. लेकिन बॉल टेंपरिंग के मसले पर पहले शेन वॉर्न का सचिन नाम की चर्चा करना और फिर सचिन का सोशल मीडिया पर बयान आना यह दिखाता है कि कहीं ना कहीं यह राइवलरी अब किसी दूसरे अंदाज में जिंदा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi