S M L

Asia Cup 2018: पहली बार हुई टूर्नामेंट में सुपर ओवर की एंट्री

अब मुकाबला टाइ रहने की सूरत में सुपर ओवर से होगा विजेता का फैसला

Updated On: Sep 15, 2018 04:48 PM IST

Shailesh Chaturvedi Shailesh Chaturvedi

0
Asia Cup 2018: पहली बार हुई टूर्नामेंट में सुपर ओवर की एंट्री

शनिवार से शुरू हो रहे एशिया कप में इस बार अगर फाइनल मुकाबला टाइ भी हो जाता है तो फिर भी कोई एक टीम ही विजेता बनेगी क्योंकि इस टूर्नामेंट में इस बार सुपर ओवर के नियम को भी शामिल कर लिया गया है.

सुपर ओवर का मतलब है कि अगर दोनों टीमों के बीच मुकाबला टाइ रहता है तो फिर विजेता का फैसला एक-एक ओवर के मैच से होगा. यानी अब किसी भी सूरत में एशिया कप में संयुक्त विजेता नहीं हो सकते हैं.

सुपर ओवर का प्रावधान पहले टी20 क्रिकेट में हुआ था बाद में इसे आईसीसी ने भी अपने टूर्नामेंट्स में अपना लिया. डेक्कल क्रोनिकल के मुताबिक एशिया कप की जो प्लेइंग कंडीशंस निर्धारित की गई हैं उनमें लिखा है, ‘ टाइ होने की सूरत में फैसला सुपर होवर से होगा और इस एक-एक ओवर को मैच का दर्जा देकर विजेता का ऐलान होगा. हालांकि इस एक-एक ओवर की टक्कर में खिलाड़ियों द्वारा बनाया गया स्कोर या विकेट्स उनके रिकॉर्ड में शामिल नहीं होंlगे.’

क्रिकेट के फैंस ने सुपर ओवर का पहला नजारा 2007 की टी20 वर्ल्ड कप में देखा था जब भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबला टाइ रहने के बाद फैसला एक-एक ओवर के बॉल आउट से किय गया था. हालांकि अब जो सुपर ओवर अमल में लाया जाता है वह इससे अलग है और इसमें फैसला एक ओवर में बनाए गए रनों की आधार पर होता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi