S M L

Asia cup 2018, India vs Afghanistan: फाइनल में जगह सुरक्षित होने के बावजूद अफगानिस्तान को हल्के में नहीं लेगा भारत

भारत पहले ही फाइनल में जगह बना चुका है और वह अपना अजेय अभियान जारी रखने में कसर नहीं छोड़ेगा

Updated On: Sep 25, 2018 08:41 AM IST

FP Staff

0
Asia cup 2018, India vs Afghanistan: फाइनल में जगह सुरक्षित होने के बावजूद अफगानिस्तान को हल्के में नहीं लेगा भारत

ग्रुप चरण में श्रीलंका और बांग्लादेश को हराने के बाद अफगानिस्तान सुपर फोर मैचों में पाकिस्तान और बांग्लादेश से करीबी अंतर से हार गया. जिससे वह फाइनल की दौड़ से बाहर हो गया है. उसे एशिया कप सुपर फोर के अंतिम मैच में मंगलवार को दुबई में अपना अगला मैच भारत से खेलना है. अफगानिस्तान मजबूत भारत को कड़ी टक्कर देकर अपने अभियान का अच्छा अंत करना चाहेगा

भारत पहले ही फाइनल में जगह बना चुका है और वह अपना अजेय अभियान जारी रखने में कसर नहीं छोड़ेगा, लेकिन खिताबी मुकाबले से पहले वह अपने सभी विभागों को पूरी तरह से तैयार करना चाहेगा. हॉन्ग कॉन्ग के खिलाफ अप्रभावी प्रदर्शन के बाद भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ दोनों मैचों और बांग्लादेश के खिलाफ एक मैच में एकतरफा जीत दर्ज की है.

भारतीय टीम जब अफगानिस्तान का सामना करेगी तो उसे उम्मीद रहेगी कि अब तक बल्लेबाजी का खास मौका नहीं पाने वाले मध्यक्रम के बल्लेबाजों को क्रीज पर समय बिताने का पर्याप्त मौका मिलेगा. कप्तान रोहित शर्मा भी अब चाहेंगे कि मध्यक्रम के बल्लेबाजों को राशिद खान जैसे गेंदबाज के सामने क्रीज पर समय बिताने का पर्याप्त समय मिले. क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है और ऐसे में रोहित कोई कसर नहीं छोड़ना चाहेंगे.

टॉप ऑर्डर ने बनाए हैं अधिकतर रन

शिखर धवन (327) और रोहित (269) ने अब तक चार मैचों में भारत की तरफ से अधिकतर रन बनाए हैं तथा अन्य बल्लेबाजों ने खास योगदान नहीं दिया है. इन दोनों के बाद अंबाती रायुडू ने 116 रन बनाए हैं क्योंकि वह तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आते हैं. भारत की समस्या यह है कि महेंद्र सिंह धोनी, केदार जाधव और दिनेश कार्तिक जैसे बल्लेबाजों को अब तक क्रीज पर समय बिताने का पर्याप्त मौका नहीं मिला है.

मिडिल ऑर्डर को रहना होगा तैयार

इसका नमूना देखिए, रोहित और धवन ने अब तक क्रमश: 284 और 321 गेंदें खेली हैं जबकि रायुडू ने 162 गेंदों का सामना किया है. लेकिन कार्तिक ने 78 गेंद, धोनी ने 40 गेंद और केदार ने केवल 27 गेंदों का सामना किया है. अगर शीर्ष क्रम नहीं चल पाता है तो इन तीनों को अहम जिम्मेदारी निभानी होगी.

afghanistan

रोहित ने बांग्लादेश के खिलाफ धोनी को चौथे नंबर पर उतारा और पूर्व कप्तान ने 33 रन बनाए, लेकिन तब टीम पर दबाव नहीं था. अगर राशिद खान और मुजीब उर रहमान दबाव बनाते हैं तो फाइनल से पहले यह मध्यक्रम के लिए अच्छा अभ्यास मैच हो सकता है.

बुमराह और भुवनेश्वर को मिल सकता है आराम

भारतीय कप्तान टॉस जीतने पर पहले बल्लेबाजी का फैसला कर सकते हैं जिससे टीम को पूरे 50 ओवर खेलने को मिलें, क्योंकि भारतीय गेंदबाजों ने अब तक विरोधी टीमों पर कहर बरपाने में कसर नहीं छोड़ी है और सभी गेंदबाजों का इकोनोमी रेट पांच रन प्रति ओवर से कम है. स्पिनरों ने शानदार भूमिका निभाई है. युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने कसी हुई गेंदबाजी की है, जबकि तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने डेथ ओवरों में अपनी यार्कर से बेजोड़ गेंदबाजी की है. भुवनेश्वर कुमार ने भी निरंतर अच्छी गेंदबाजी की है. भारत फाइनल से पहले बुमराह और भुवनेश्वर को इस मैच में विश्राम दे सकता है. ऐसे में दीपक चाहर, सिद्धार्थ कौल और खलील अहमद में से किन्हीं दो को अंतिम एकादश में जगह मिल सकती है.

अपने प्रतिद्वंद्वियों को कड़ी चुनौती दी है अफगानिस्तान ने

जहां तक अफगानिस्तान की बात है तो उसने टूर्नामेंट में लगातार अपने प्रतिद्वंद्वियों को कड़ी चुनौती दी, लेकिन अनुभव की कमी उसके आड़े आई. रविवार को सुपर फोर मैच में बांग्लादेश के खिलाफ उसे अंतिम ओवर में आठ रन चाहिए थे, लेकिन उसके बल्लेबाजों के पास मुस्तफिजुर रहमान की विविधतापूर्ण गेंदों का जवाब नहीं था. एक बार फिर जीत के करीब पहुंचने के बाद गलतियों के कारण अफगानिस्‍तान को हार का सामना करना पड़ा. बांग्‍लादेश ने काफी करीब मुकाबले में तीन रन से हराया.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi