S M L

क्या कप्तान विराट कोहली के 'अच्छे दिन' खत्म हो चुके हैं!

दूसरे टेस्ट में प्लेइंग इलेवन चुनने के कोहली के फैसले को दिग्गजों ने लिया आड़े हाथों, सहवाग ने किया कोहली पर बड़ा हमला

FP Staff Updated On: Jan 14, 2018 02:07 PM IST

0
क्या कप्तान विराट कोहली के 'अच्छे दिन' खत्म हो चुके हैं!

भारतीय क्रिकेट में शनिवार को कुछ ऐसा हुआ जैसा पिछले कुछ सालों से नहीं हो रहा था. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली सेंचुरियन टेस्ट में अपनी प्लेइंग इलेवन को लेकर पूर्व क्रिकेटरों के निशाने पर आ गए.

अब तक भारतीय क्रिकेट जगत के चहेते रहे कोहली ने जब सेंचुरियन में दूसरे टेस्ट में के लिए भुवनेश्वर कुमार और शिखर धवन को बाहर बिठाने का फैसला किया तो उनपर पर सबसे कड़ा तंज उनके साथ क्रिकेट खेल चुके पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कसा है.

सहवाग का कोहली पर बड़ा हमला

सहवाग ने एक टीवी चैनल के साथ बात करते हुए विराट कोहली पर बड़ा हमला बोला. सहवाग का कहना है ‘शिखर धवन को महज एक टेस्ट में विफल होने के बाद और भुवनेश्वर को बिना किसी कारण के बाहर करने के विराट कोहली के फैसले को देखते हुए अगर वह सेंचुरियन में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं तो उन्हें तीसरे टेस्ट की अंतिम एकादश से खुद को बाहर कर लेना चाहिए’.

जब से कोहली टीम इंडिया के कप्तान बने हैं तबसे यह पहली बार हुआ जब मैदान पर उनके किसी फैसले कि खिलाफ किसी पूर्व क्रिकेटर ने इतनी कड़ी टिप्पणी की हो. इससे पहले तमाम पूर्व क्रिकेटर कोहली की तारीफ में कसीदे ही गढ़ते रहते थे.

गावस्कर ने भी जताई नाराजगी

कोहली के इस फैसले ने सिर्फ सहवाग ही नहीं बल्लेकि भारतीय क्रिकेट की सबसे समझदार आवाज कहे जाने वाले सुनील गावस्कर को भी नाराज कर दिया. गावस्कर ने एक चैनल के बात करते हुए कहा ‘मेरा मानना है कि शिखर धवन बलि का बकरा बनाया गया है और उसके सिर पर हमेशा तलवार लटकी रहती है. बस एक खराब पारी के बाद उसे टीम से बाहर कर दिया जाता है.' गावस्कर ने कहा, ‘मेरी समझ से परे है कि इशांत को भुवनेश्वर की जगह क्यों चुना गया. इशांत टीम में शमी या बुमराह की जगह ले सकता था, लेकिन भुवनेश्वर को बाहर रखना समझ से बाहर है.’

वीवीएस लक्ष्मण भी नहीं रहे पीछे

गावस्कर और सहवाग तो आमतौर पर क्रिकट से जुड़े मसलों पर अपनी राय रखते ही रहते हैं लेकिन इस बार वीवीएस लक्ष्मण जैसे पूर्व क्रिकेटर को भी कोहली के इस फैसले में खोट नजर आया और उन्होंने भी अपनी बात सामने रखने में कोई नरमी नहीं बरती. लक्ष्मण ने ट्विटर पर भुवनेश्वर को बाहर किए जाने पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा.

‘आज प्लेइंग इलेवन में भुवी को नहीं देखना आश्चर्यजनक था. पहले टेस्ट में उसने नई गेंद के इस्तेमाल का अपना हुनर दिखाते हुए सबसे ज्यादा 6 विकेट चटकाऐ थे और फिर संयम से खेलते हुए अच्छी बल्लेबाजी भी की थी, क्या इसमें कुछ कमी थी?’

 

इन दिग्गज भारतीय खिलाड़ियों के एक सुर में कोहली के फैसले की आलोचना से यह साफ है कि भरतीय क्रिकट के इतिहास के सबसे ताकतवर कप्तानों में से एक विराट कोहली के लिए मनमाने फैसले लेना उतना आसान नहीं रहा है. उन्हें भी आलोचनाओं का सामना करना पड़ेगा. ज्यादा वक्त नहीं बीता है जब टीम इंडिया के कोच अनिल कुंबले के साथ हुए विवाद के बाद उनके अड़ियल रवैये के चलते कुंबले की कुर्सी चली गई थी. उस वक्त भी पूर्व क्रिकेटरों ने कोहली के खिलाफ बयानबाजी नहीं की थी. लेकिन अब जिस तरह से उनके फैसलों के खिलाफ आवाज बुलंद की जा रही है उससे संकेत मिलता है कि कोहली के लिए आने वाला वक्त आसान नहीं रहने वाला है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi