S M L

डरबन में टीम इंडिया की ऐतिहासिक जीत के बाद कोच शास्त्री ने खोला मोर्चा

टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री ने पहले दो टेस्ट मैचों में टीम मैनेजमेंट के फैसलों पर सवाल उठाने वाले आलोचकों पर साधा निशाना

FP Staff Updated On: Feb 02, 2018 04:45 PM IST

0
डरबन में टीम इंडिया की ऐतिहासिक जीत के बाद कोच शास्त्री ने खोला मोर्चा

डरबन में साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के पहले मुकाबले में मिली जीत के बाद अब टीम इंडिया को हेट कोच रवि शास्त्री भी फॉर्म में आ गए हैं. शास्त्री ने ताल ठोकते हुए कहा कि अब वह लोग कहां हैं जो टीम मैनेजमेंट के फैसलों पर सवाल उठा रहे थे.

समाचार पत्र टाइम्स ऑफ इंडिया के साथ बात करते हुए रवि शास्त्री ने इस दौरे के पहले दो टेस्ट मैचों में प्लेइंग इलेवन के चयन पर सवाल उठाने वालों को आड़े हाथों लेते हुए अजिंक्य रहाणे को दो टेस्ट मैचों और भुवनेश्वर कुमार को दूसरे टेस्ट से बाहर बिठाने के फैसलों का वाजिब ठहराया है.

इस दौरे पर सबसे ज्यदा सवाल रहाणे को पहले दो टेस्ट मैचों से बाहर बिठाए जाने पर उठे थे. तीसरे टेस्ट में रहाणे दूसरी पारी में जोरदार खेल दिखाकर भारत की जीत का आधार तय किया और डरबन में पहले वनडे में कप्तान कोहली के साथ तीसरे विकेट के लिए रिकॉर्ड साझेदारी करते भारत को ऐतिहासिक जीत दिला दी.

अब शास्त्री का कहना है कि पहले दो टेस्ट में रहाणे की जगह रोहित को खिलाने का आदार उनकी फॉर्म थी. शास्त्री के मुताबिक रहाणे ने पिछले साल महज 30 की औसत से रन बनाए थे इसीलिए उन्हें प्लेइंग इलेवन से बाहर रखा गया. तीसरे टेस्ट से पहले रहाणे नेट प्रैक्टिस के दौरान बेहतरीन लय में दिख रहे थे जबकि रोहित संघर्ष कर रहे थे लिहाजा उनकी जगह रहाणे को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया.

शास्त्री नें कुछ ऐसी ही वजह दूसरे टेस्ट से भुवनेश्वर की जगह इशांत को शामिल करने की बताई है. उनते मुताबिक सेंचुरियन में विकेट पर बाउंस की गुंजाइश नहीं दिख रही थी लिहाजा हालात के मद्देनजर इशांत को भुवनेश्वर पर वरीयता दी गई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi