live
S M L

क्या गॉल में मिली हार के बाद बाउंस बैक की यादें साउथ अफ्रीका में टीम इंडिया का मनोबल बढ़ा पाएंगी!

ढाई साल पहले श्रीलंका के गॉल टेस्ट में भी टीम इंडिया को मिली थी ऐसी ही मात, हार के बाद भारत ने 2-1 के जीती थी सीरीज

Updated On: Jan 11, 2018 03:34 PM IST

FP Staff

0
क्या गॉल में मिली हार के बाद बाउंस बैक की यादें साउथ अफ्रीका में टीम इंडिया का मनोबल बढ़ा पाएंगी!

केपटाउन में पहले टेस्ट में मिली 72 रन की मात के बाद भारतीय खेमे में मायूसी छाई हुई है. साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरी पारी में मिले 208 के टारगेट को हासिल ना कर पाने का मलाल फैंस के साथ-साथ पूरी टीम इंडिया को भी होगा. टीम के इस गिरे हुए मनोबल को बढ़ाने के लिए कोच रवि शास्त्री और कप्तान कोहली की कोशिश साल 2015 में श्रीलंका दौरे पर गॉल टेस्ट में मिली हार के बाद टीम के बाउंस बैक की यादें ताजा करने की है.

समाचार पत्र मुंबई मिरर के मुताबिक टीम इंडिया के थिंक टैंक की ओर से टीम के हर खिलाड़ी को सीरीज में टीम के बाउंस बैक के लिए आयडिया देने को तो कहा ही जा रहा है साथ सबको ढाई साल पुरानी उस सीरीज की भी यीद दिलई जा रही जब गॉल में सीरीज का पहला टेस्ट हारने के बाद भारत ने सीरीज में जोरदार बाउंस बैक करते हुए 2-1 से सीरीज फतह की थी.

गॉल में ऐसे ही बन गए थे हालात

श्रीलंका के उस दौरे में भी हालात कमोबेश ऐसे ही थे जैसे आज साउथ अफ्रीका में हैं. वह भी  12 से 15 अगस्त तक खेले गए इस मुकाबले में भी भारतीय टीम महज चार दिनों में ही मात खा बैठी थी. भारत को चौथी पारी में जीत के लिए 176 रन का टारगेट मिला था लेकिन पूरी टीम महज 112 रन पर ऑल आउट होकर 68 रन से यह मुकाबला हार गई थी.

उस वक्त भी कप्तान कोहली ही थे और रवि शास्त्री भी बतौर कोच टीम इंडिया के साथ थे. गॉल टेस्ट में मिली हार के बाद भारत ने अगले दो मुकाबलों में मेजबान टीम को शिकस्त देकर कई साल बाद श्रीलंका में सीरीज अपने नाम की थी.

हालंकि श्रीलंका और साउथ अफ्रीका को एक बराबर नहीं रखा जा सकता है. टीम इंडिया केपटाउन में मिली हार के बाद अब अगला मुकाबला सेंचुरियन में 13 जवनरी से खेलना है. टीम मैनेजमेंट चाहता है कि दूसरे टेस्ट से पहले टीम के सभी सदस्य केपटाउन में मिली हार को भुला कर सेंचुरियन में अपना बेस्ट परफॉर्मेंस देने के लिए उतरें.

केपटाउन में भारत के लिए गेंद और बल्ले दोनों से बेहतरीन प्रदर्शन करने वाला हार्दिक पांड्या को मनोबल अब भी चरम पर है, पांड्या ने एक ट्वीट करके फैंस को आश्वस्त करते हुए कहा के ‘हम केपटाउन में जीत से बस थोड़ा सा दूर रह गए लेकिन प्रिटोरिया में हम दमदार वापसी करेंगे’.

 

पांड्या की इस ट्वीट से उनका मनोबल पत चलता है . भारतीय फैंस उम्मीद करेंगे कि दूसरे टेस्ट में वाकई में टीम वैसी ही वापसी करे जैसी सील 2015 में श्रीलंका में की थी. लेकिन सवाल महज मनोबल की ही नहीं बल्कि रणनीति  और टीम सेलेक्शन का भी है. विदेशी धरती पर भरोसेंमंद बल्लेबाज और टीम इंडिया के उप कप्तान अजिंक्य रहाणे की जगह रोहित शर्मा को खिलाने के कप्तान कोहली के फैसले की काफी आलोचना हो रही है. हालांकि कोहली ने मैच के बाद रोहित की मौजूदा फॉर्म को उनके प्लेइंग इलेवन में चयन का आधार बता कर अपने फैसले को सही ठहराने की कोशिश की थी. अब देखना होगा कि क्या टीम मैनेजमेंट दूसरे टेस्ट में ऐसे ही चौंकाने वाले प्लेइंग इलेवन के साथ उतरने का जोखिम उठाता है या नहीं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi