S M L

गुरमीत राम रहीम : कोच, मेंटर, पिच क्यूरेटर के अलावा स्टार क्रिकेटरों को गोद में बिठाने में भी माहिर

राम रहीम के बनवाए स्टेडियम में क्रिकेटर विराट कोहली और जहीर खान खेल चुके हैं. साथ ही इसकी क्रिकेट अकेडमी से बिशन सिंह बेदी और सैयद किरमानी जैसे नाम भी जुड़े हैं

Jasvinder Sidhu Jasvinder Sidhu Updated On: Aug 26, 2017 03:06 PM IST

0
गुरमीत राम रहीम : कोच, मेंटर, पिच क्यूरेटर के अलावा स्टार क्रिकेटरों को गोद में बिठाने में भी माहिर

सन 2003 की बात है. बलात्कार का दोषी साबित होने पर जेल भेजे गए विवादित राम रहीम इंसान के एक खास प्रेमी ने उन्हें सलाह दी कि क्रिकेट से जुड़ने से लगातार विवादों में रहे डेरे की इमेज को बचाने में मदद मिलेगी. एक साल बाद ही बाबा ने सिरसा में महज 42 दिन में फ्लड लाइट के साथ जबरदस्त क्रिकेट स्टेडियम तैयार कर दिया.

courtesy: google stadium sirsa

courtesy: google stadium sirsa

अगर आप शाह सतनाम जी क्रिकेट स्टेडियम के ग्राउंड स्टाफ से बात करेंगे तो वह बताएंगे कि सेंटर में जो पिचें बनीं हैं, वह बाबाजी की देखरेख में और उनकी सलाह के अनुसार तैयार की गई है. पिच तैयार होने के समय वह खुद कामकाज का जायजा लिया करते थे.

बाबा चाहते थे कि ब्लॉक में जितनी भी पिचें हैं वह फिरोज शाह कोटला, चिन्नास्वामी स्टेडियम, वानखेड़े और मोहाली क्रिकेट स्टेडियम की पिचों जैसी चाहिए.

2004 में यह स्टेडियम बन गया लेकिन फिर लगा कि स्टेडियम से ही काम नहीं चलेगा. कुछ और भी करना होगा.

विराट-जहीर जैसे क्रिकेटर भी खेले हैं सिरसा में

बाबा ने लगभग हर भारतीय क्रिकेटर को यहां आकर दोस्ताना क्रिकेट मैच खेलने का न्योता भेजा. फीस इतनी ऑफर की गई कि कोई मना नहीं कर पाया. कुछ ने किया भी क्योंकि वो राष्ट्रीय और अपनी राज्य की टीम के साथ व्यस्त थे.

स्टेडियम की तैयारी का हिस्सा रहे एक अधिकारी बताते हैं कि बाबा ने क्रिकेट खिलाड़ियों को यहां लाने और खेलने के लिए करोड़ों लगा दिए. पहले ही साल में यह स्टेडियम चर्चा में आ गया.

अधिकारी बताते है कि बाबा इतना पैसा देने लगे थे कि सारे क्रिकेटर कभी भी यहां आकर खेलने को तैयार थे.

विराट कोहली से लेकर जहीर खान जैसे स्टार क्रिकेटर सिरसा के इस स्टेडियम में आकर खेल चुके हैं.

कोहली ने तो बयान भी दिया कि क्रिकेट स्टेडियम का माहौल सुख देने वाला है और वह यहां आ कर धन्य हो गए हैं.

जबकि जहीर का कहना था कि बाबा से डेरे पर आकर उन्हें घर जैसा महसूस हो रहा है. यहां के क्रिकेट प्रेमियों ने उनका मन मोह लिया है.

खुद को क्रिकेट का ज्ञानी बताते थे गुरमीत सिंह

इस स्टेडियम में एक मैच खेल चुके पूर्व क्रिकेटर बताते हैं कि पैसा तो ठीक था लेकिन कई बार बाबा का फालतू लेक्चर सुनना पड़ता था. वह बताने की कोशिश करते थे कि उन्हें क्रिकेट के तकनीकी पहलुओं की पूरी जानकारी है.

अभी कुछ ही दिन पहले की बात है जब बाबा ने बयान दिया कि भारतीय कप्तान विराट अपनी अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में बदलने में नाकाम हो रहे थे और उन्होंने विराट को बताया था कि यह कैसे ठीक होगा.

इसमें कोई दो राय नहीं है कि लगभग 30 हजार की क्षमता वाला यह स्टेडियम देखने में खूबसूरत है. बड़े खिलाड़ियों के यहां आकर खेलने का फायदा यह हुआ कि एक साल के भीतर ही इसे रणजी मैच आयोजित करने के लायक मान लिया गया. इसके अलावा विजय हजारे ट्रॉफी के मैच भी यहां हुए हैं.

स्टेडियम में क्रिकेट अकेडमी भी है और इसके साथ सैयद किरमानी और बिशन सिंह बेदी जैसे दिग्गज भी जुड़े रहे हैं.

बाबा पर बलात्कार, एक पत्रकार की हत्या, 200 चेलों को नपुंसक बनाने जैसे कई गंभीर आरोपों के केस चल रहे हैं. बाबा ने अपनी विवादित जिंदगी में अगर कोई ढंग का काम किया है तो शायद वह यह स्टेडियम है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi