S M L

World Cancer Day: कुछ आदत बदलते ही मिल जाएगा कैंसर से छुटकारा

2020 तक भारत में कैंसर के 17.3 लाख नए मामले सामने आ सकते हैं और इस भयानक बीमारी से 8.8 लाख लोगों की मौत हो सकती है

Updated On: Feb 04, 2018 01:56 PM IST

FP Staff

0
World Cancer Day: कुछ आदत बदलते ही मिल जाएगा कैंसर से छुटकारा

दुनिया भर में खराब जीवनशैली के कारण कैंसर के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक साल 2015 में लगभग 88 लाख लोगों की मौत इस बीमारी से हुई है. दुनिया भर में होने वाली 6 मौतों में से एक का कारण कैंसर है.

दुनिया भर में इस बीमारी को बहुत बड़ी समस्या के तौर पर देखा जाता है, क्योंकि बीमारी से होने वाली मौतों में सबसे ज्यादा कैंसर से होती है. लेकिन वैज्ञानिकों का मानना है कि कुछ सावधानी बरतने से इससे बचा जा सकता है. बस जरूरत है कुछ आदतें बदलने की. कुछ खानपान में बदलाव लाने की और थोड़ी सी एक्सरसाइज की.

'वी कैन आई कैन' में बदला 'विश्व कैंसर दिवस' 

4 फरवरी को कैंसर से लड़ने और लोगों में जागरुकता फैलाने के लिए 'विश्व कैंसर दिवस' मनाया जाता है. इस दिन लोग 'वी कैन आई कैन' के नारे तले इस जानलेवा बीमारी से लड़ने का शपथ लेते हैं. कोशिश रहती है दुनिया भर के लाखों लोगों की जान बचाने की.

विश्व कैंसर दिवस का मुख्य मकसद है दुनिया भर में कैंसर से हो रही मौतों में साल 2020 तक कमीं लाना.

भारत में कैंसर हार्ट अटैक के बाद सबसे ज्यादा जान लेने वाली बीमारी है. भारत में हर साल कैंसर के लगभग 10 लाख नए केस सामने आ रहे हैं. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के आंकड़ों के मुताबिक साल 2012 में भारत के लगभग 60 हजार लोगों की मौत इस बीमारी से हुई. साल 2020 तक देश में कैंसर के 17.3 लाख नए मामले सामने आ सकते हैं और इस बीमारी से 8.8 लाख लोगों की मौत हो सकती है. इसमें स्तन कैंसर, फेफड़े का कैंसर और गर्भाशय कैंसर के मामले टॉप पर होंगे. तंबाकू, सिगरेट, पान गुटखा, पान मसाला और सुपारी के साथ खुला तंबाकू भारत में कैंसर का अहम कारण है.

वैज्ञानिकों का मानना है कि कैंसर से एक तिहाई मौतों की वजह रोजमर्रा की कुछ आदतें हैं. जैसे खान पान, हाई बॉडी मास इंडेक्स, सब्जी और फल कम खाना, फिजिकल एक्टिविटी न करना, तंबाकू और शराब लेना इसके मुख्य कारण हैं. यह सिद्ध हो गया है कि कैंसर रोजमर्रा की हमारी आदतों से उपजी एक बीमारी है जिससे आदतों में सुधार कर बचा जा सकता है.

कैसे बच सकते हैं कैंसर से

बस आपको जरूरत है तो साफ और सेहतमंद खान पान की जिसमें हरी सब्जियां और बहुत सारे फल हों. खाने में अननेचुरल शुगर का प्रयोग कम करने से भी आप इस बिमारी से बच सकते हैं. हद से ज्याद प्रोसेस्ड मीट खाकर आप इस बीमारी को खुद न्योता न दें और इसका कम से कम सेवन करें. इस तरह की आदतें बदलने से महिलाएं ब्रेस्ट केंसर से बच सकती हैं.

कैंसर का सबसे बड़ा कारण है तंबाकू, स्मोकिंग और शराब. इन नशीले पदार्थों के सेवन से मुंह, फेंफड़ा, गला, ब्लैडर और किडनी में कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है. फेंफड़े के कैंसर की बात करें तो इसमें 80 से 90 प्रतिशत खतरा अकेले तंबाकू लेने से होता है. तंबाकू और शराब छोड़ कर आप इस बीमारी से बच सकते हैं.

किसी भी बिमारी से लड़ने के लिए आपका शरीर ही सबसे बड़ा हथियार होता है. इसलिए सुबह उठ कर एक्सरसाइज कर शरीर को तंदरुस्त रखेंगे तो बीमारियां नजदीक नहीं फटकेंगी. दिन में एक बार कम से कम आधे घंटे एक्सरसाइज करने से कैंसर होने के आसार कम हो जाते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi