S M L

कैंसर के इन लक्षणों को याद कर आप भी बचा सकते हैं किसी की जान

भारत में कैंसर के अधिकतर मामले डॉक्टरों के सामने तब आते हैं जब वे तीसरी या चौथी स्टेज में पहुंच चुके होते हैं

Updated On: Feb 04, 2018 12:45 PM IST

FP Staff

0
कैंसर के इन लक्षणों को याद कर आप भी बचा सकते हैं किसी की जान

दुनिया भर में 4 फरवरी को कैंसर से लड़ने और इसके प्रति लोगों में जागरुकता फैलाने के लिए 'विश्व कैंसर दिवस' मनाया जाता है. इसका मकसद है दुनिया भर में कैंसर से हो रही मौतों में साल 2020 तक कमी लाना.

भारत में हर साल कैंसर के लगभग 10 लाख नए केस सामने आ रहे हैं. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के आंकड़ों के मुताबिक साल 2012 में भारत के लगभग 60 हजार लोगों की मौत इस बीमारी से हुई. एक आंकड़े के मुताबिक साल 2020 तक देश में कैंसर के 17.3 लाख नए मामले सामने आ सकते हैं और इस भयावह बीमारी से 8.8 लाख लोगों की मौत हो सकती है.

वैज्ञानिकों का मानना है कि कैंसर से होने वाली मौतों का कारण है सही समय पर कैंसर की पहचान न हो पाना. जिसके बाद उपचार में काफी देरी होना. डॉक्टरों का कहना है कि समय पर स्क्रीनिंग नहीं होने और जल्दी रोग की पहचान न होने से जुड़ी चुनौतियों की वजह से देश में केवल 12.5 प्रतिशत रोगी प्रारंभिक स्तर पर इलाज के लिए आ पाते हैं. इस चुनौती को दूर करने के लिए जागरुकता और सक्रियता जरूरी है.

भारत में कैंसर के अधिकतर मामले डॉक्टरों के सामने तब आते हैं जब वे तीसरी या चौथी स्टेज में पहुंच चुके होते हैं. लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी होती है. तो आइए आपको कैंसर के कुछ लक्षण आपको बताते हैं. जिनके जरिए कैंसर की पहचान कर आप अपने आपको या किसी करीबी को इस भयानक बीमारी का शिकार होने से बचा सकें.

कैंसर के लक्षण

- सीने में दर्द

- सांस फूलना

- सीने में लगातार जलन होना

- कुछ भी निगलने में कठिनाई

- आंतों में परिवर्तन महुसूस होना जैसे सूजन

- मल में खून आना

- मासिक धर्म के बीच में ही ब्लीडिंग होना

- मूत्र में खून आना

- खांसी में खून आना

- अचानक वजन में कमी आना

- स्तनों में असमान्य परिवर्तन

- लगातार सिर दर्द या थकान

- किसी नए तिल का उग आना या किसी पुराने तिल में कुछ परिवर्तन होना

- अंडकोष (टेस्टिकल) में गांठ पड़ जाना

- स्तनों में गांठ पड़ना या असमान्य होना

- पेशाब में समस्या होना

- हड्डियों में गंभीर दर्द होना

- कोई छाला जो ठीक न हो रहा हो

- भूख में कमी आना

- लगातार खांसी आना

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi