S M L

युसूफ मेहरली जिन्होंने दिया 'भारत छोड़ो' का नारा

पीएम मोदी ने मन की बात में युसूफ मेहरली का जिक्र किया

FP Staff Updated On: Jul 30, 2017 11:35 AM IST

0
युसूफ मेहरली जिन्होंने दिया 'भारत छोड़ो' का नारा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 'मन की बात' करते हुए अगस्त क्रांति का जिक्र किया. 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन का जिक्र करते हुए उन्होंने युसूफ मेहरली का नाम लिया. मेहरली ही वह शख्स थे जिन्होंने 'Quit India' यानी भारत छोड़ो का नारा दिया था.

23 सितंबर 1903 को जन्मे युसूफ मेहरली भारतीय स्वतंत्रता संघर्ष के अग्रणी नेताओं में थे. वह नेशनल मिलिशिया और बॉम्बे यूथ लीग के संस्थापक थे. उन्होंने किसानों और कामगारों के आंदोलनों में भी अहम भूमिका निभाई थी. आजादी के आंदोलन के दौरान वह 8 बार जेल भेजे गए. 1942 में जेल में बंद होने के बावजूद वह बंबई (अब मुंबई) के मेयर चुने गए थे. उन्होंने ही भारत छोड़ो का नारा दिया जिसे गांधीजी ने 1942 में भारत की आजादी के लिए छेड़े गए सबसे बड़े आंदोलन के लिए अपनाया. वह आंदोलन के दौरान भूमिगत रहे और आंदोलन के बड़े नेताओं में रहे.

वह युवाओं, कामगारों और व्यवयासियों के बीच काफी लोकप्रिय नेता था. 1940 में जब उन्हें गिरफ्तार किया गया था तो बॉम्बे के कई बाजारों में कोई कारोबार नहीं हुआ. सारे बाजार खुले तो लेकिन गिरफ्तारी के विरोध में काम नहीं किया.

मेहरली एक लेखक भी थे जिन्होंने कई किताबें लिखीं. इनमें वाट टू रीड: ए स्टडी सिलेबस, लीडर्स ऑफ इंडिया, ए ट्रिप टू पाकिस्तान, द मॉडर्न वर्ल्ड: ए पॉलिटिकल स्टडी सिलेबस पार्ट 1 और द प्राइस ऑफ लिबर्टी जैसी किताबें शामिल हैं.

मेहरली का निधन 2 जुलाई 1950 को हुआ. वह महज 47 साल के थे. अगले दिन उनकी अंतिम यात्रा के लिए पूरा शहर उमड़ा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi