S M L

बिहार में सामाजिक बुराइयां खत्म कर रहा महिलाओं का 'म्यूजिक बैंड'

इस बैंड की अगुवाई महिलाओं के बीच 'सुधा दीदी' के नाम से मशहूर सुधा वर्गीस करती हैं, जो 'नारी गूंज' नाम का एक एनजीओ चलाती हैं

Bhasha Updated On: Jun 17, 2018 05:20 PM IST

0
बिहार में सामाजिक बुराइयां खत्म कर रहा महिलाओं का 'म्यूजिक बैंड'

भारत को आजाद हुए सात दशक बीत चुके हैं लेकिन अब भी इस देश में कई सामाजिक बुराइयां महिलाओं को आजादी महसूस करने से रोकती हैं. समय-समय पर महिलाएं खुद इन विरोधों का अनोखे तरीके से सामना करती हैं जो इन बुराइयों को उनके सामने झुकने पर मजबूर कर देती हैं.

ऐसा ही एक कदम बिहार की राजधानी पटना के बाहरी हिस्से में बसे छोटे से गांव की महिलाओं ने भी उठाया. यहां महिलाओं ने एक समूह बना कर म्यूजिक बैंड बनाया है. 'सरगम बैंड' नाम का यह बैंड बिहार जैसे राज्य में सामाजिक बुराइयों को तोड़ रहा है.

सरगम बैंड से मिली पहचान

पटना के दानापुर में धिबरा गांव की 10 महिलाएं ‘सरगम बैंड’ की सदस्य हैं. इस बैंड में शामिल महिलाओं की उम्र करीब 30 साल है. महिलाओं का यह बैंड शादी और सामाजिक कार्यक्रमों में शिरकत करता है.

इस बैंड की अगुवाई 'सुधा दीदी' के नाम से मशहूर सुधा वर्गीस करती हैं, जो 'नारी गूंज' नाम का एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) चलाती हैं. सुधा का कहना है कि रविदास समुदाय की ये महिलाएं खुद की खास पहचान बनाने में लगी हैं. और सरगम बैंड उनके लिए एक पहचान बनाने का जरिया है.

आसान नहीं समाज में बदलाव

समाज में इतना बड़ा बदलाव कभी भी आसान नहीं होता. सुधा को भी बैंड की शुरुआत करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ा था. सुधा का कहना है, ‘2016 में मुझे यह विचार सूझा जब मैं रविदास समुदाय की महिलाओं के लिए काम कर रही थी. अधिकतर महिलाएं खेतिहर मजदूह थीं. मैं उनकी सामाजिक और आर्थिक तरक्की के बारे में सोचना चाहती थी.’

सुधा ने बताया, ‘जब मैंने धिबरी की महिलाओं के साथ अपने विचार साझा किए तब शुरुआत में कई चौंकाने वाली प्रतिक्रिया सामने आई. यह हैरान करने वाला नहीं था. किसी ने भी यहां महिलाओं के संगीत बैंड के बारे में नहीं सुना था. जो काम उन्हें करने के लिए कहा जा रहा था वह मर्दों का काम माना जाता है.’ हालांकि, सुधा ने बताया कि महिलाओं ने हिम्मत से काम लिया और अब तो वे दूसरे प्रयोग करने के लिए भी तैयार हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi