S M L

जब पाकिस्तान में पूछा गया-क्यों नहीं हुई अमिताभ और रेखा की शादी

इस सवाल का जवाब भला कौन दे सकता था पर ये समझ आ गया कि मियां हिंदी फिल्म, अमिताभ बच्चन और और रेखा के किस कदर दीवाने हैं.

Updated On: Oct 10, 2018 07:13 AM IST

Shivendra Kumar Singh Shivendra Kumar Singh

0
जब पाकिस्तान में पूछा गया-क्यों नहीं हुई अमिताभ और रेखा की शादी

आज हिंदी फिल्मों की महाअभिनेत्री रेखा का जन्मदिन है. उनके करियर, कामयाबी और निजी जिंदगी से जुड़े सैकड़ों किस्से आपने सुने होंगे लेकिन आज हम आपको सुनाते हैं उनसे जुड़ी एक अनसुनी कहानी. साल 2004 की बात है. लाहौर में हॉकी चैंपियंस ट्रॉफी खेली जा रही थी. भारतीय मीडिया के कई लोग उस टूर्नामेंट को कवर करने के लिए गए हुए थे. मैं भी उनमें से एक था. टूर्नामेंट खत्म होने से पहले एक रोज हमें एक खास ‘न्योता’ मिला. ये ‘न्योता’ उस शख्स की तरफ से था जो स्टेडियम में केटरिंग किया करते थे. यानी हम हर रोज मैच के दौरान उनके यहां से आया खाना ही खा रहे थे लेकिन अब उनके यहां जाकर खाने का न्योता था.

मैं माफी चाहूंगा कि मुझे उनका नाम याद नहीं है. तय तारीख को रात के यही कोई साढ़े आठ नौ बजे हम खाना खाने उनके रेस्टोरेंट पहुंचे. उस दौरे को फ़र्स्टपोस्ट टीम के सहयोगी शैलेश चतुर्वेदी भी कवर कर रहे थे. उनके अलावा भी हमारे ग्रुप के कई लोग शाकाहारी थे और वो हजरत यह बात अच्छी तरह जान चुके थे. अपने रेस्टोरेंट में उन्होंने ऐसा स्वागत किया जैसे हम सब बड़े वीआईपी हों. मुझे याद है कि रेस्टोरेंट का एक कोना उन्होंने हमारे लिए ‘रिज़र्व’ कर दिया था.

हमारे लिए शुद्ध शाकाहारी खाने की पूरी ‘वेराइटी’ तैयार थी. हम लोग भी बड़ी बेतकुल्लफी के साथ वहां बैठे बातचीत कर रहे थे. पहले तो जाहिर तौर पर शाकाहारी खाने पर चर्चा हुई. उन्हें ये समझाने में खासी मशक्कत करनी पड़ी कि अंडे को भी भारत में मांसाहारी खाने में शुमार किया जाता है. थोड़ी देर तक तो मियां खान-पान और हिंदुस्तान पाकिस्तान की बातें करते रहे, फिर वो हिंदी फिल्मों पर आ गए. वो जानना चाहते थे कि हममें से कौन-कौन अमिताभ बच्चन और रेखा की जोड़ी का प्रशंसक है.

Rekha-SanjayDutt

ये सवाल ऐसा था जिसके जवाब से जाहिर है उन्हें निराशा नहीं हुई. हममें से ज्यादातर लोग अमिताभ बच्चन के प्रशंसक थे. ऐसे में बातें शुरू हुईं उनकी फिल्मों पर. हमारे मेजबान को हिंदी फिल्मों का ज्ञान कमाल का था. फिल्मों की बात करते-करते वो अचानक गानों पर आ गए, फिर गुनगुनाने लगे. हम सभी खाने का इंतजार कर रहे थे. मुझे और शैलेश को उसके बाद नूरजहां की बेटी के घर जाना था, जिसकी वजह से हम चाहते थे कि वहां खान-पान का कार्यक्रम जल्दी खत्म हो. लेकिन अब गुनगुनाने का सिलसिला गानों में तब्दील हो गया था.

मैंने और शैलेश ने एक-दूसरे की तरफ देखा, आंखों-आंखों में हमने कहा कि शाकाहारी खाना इतना महंगा पड़ेगा ये नहीं पता था. खैर, थोड़ी देर में हमारा खाना आ गया. खाने का कार्यक्रम भी शुरू हो गया. खाने के साथ-साथ हिंदी फिल्म इंडस्ट्री पर लगातार बातें चल रही थीं. हम लोगों के ग्रुप में लड़कियां भी थीं. इस वजह से शायद वो खुलकर कुछ पूछ नहीं पा रहे थे. आखिरकार हम लोगों में से किसी एक को उनकी परेशानी समझ आ गई और उलटा हमारी तरफ से ही पूछ लिया गया कि मियां, ऐसा लगता है कि आप कुछ पूछना चाह रहे हैं. इतनी शह मिलनी थी कि उन्होंने तपाक से पूछा बस ये बताइए कि अमिताभ बच्चन ने रेखा के साथ शादी क्यों नहीं की?

उनके इस सवाल का जवाब भला कौन दे सकता था पर ये समझ आ गया कि मियां हिंदी फिल्म, अमिताभ बच्चन और और रेखा के किस कदर दीवाने हैं. हमने पलटकर पूछा कि अमिताभ रेखा की कौन सी फिल्म आपको सबसे ज्यादा पसंद है. जवाब मिला-सिलसिला. फिल्म के जाने कितने डायलॉग उन्होंने बातचीत में सुनाए. उस वक्त तक सिलसिला 2 दशक से ज्यादा पुरानी फिल्म थी. लेकिन किसी फिल्म के डायलॉग का हर शब्द किसी को इस कदर याद हो सकता है, ये ताज्जुब करने वाला था.

उन्हें ये भी पता था कि ‘सिलसिला’ रेखा और अमिताभ बच्चन की एक साथ आखिरी फिल्म थी. दिलचस्प ये था कि वो सिलसिला की बात करते रहे, फिर खून पसीना पर आए, मिस्टर नटवरलाल की बातें करते रहे, मुकद्दर का सिकंदर का हर सीन उन्हें याद था. मजे की बात ये थी कि उनकी सभी पसंदीदा फिल्मों में अमिताभ बच्चन और रेखा की जोड़ी ही थी.

खैर, गलती उनकी नहीं थी. हिंदी फिल्मी दीवानों में आज भी ये जोड़ी लाजवाब मानी जाती है. आज अमिताभ और रेखा साथ काम नहीं करते लेकिन जब कभी किसी कार्यक्रम में आमने सामने होते हैं तो उनकी ‘बॉडी लैंगुएज’ को लेकर अब भी चर्चा होती है. दरअसल 80 के दशक में अमिताभ बच्चन और रेखा की जोड़ी का जलवा ही अलग था. ‘ऑनस्क्रीन केमिस्ट्री’ अद्भुत थी. ‘स्क्रीन प्रजेंस’ के लिहाज से रेखा अमिताभ जैसी ही लंबे कद की थीं. दोनों का अभिनय दमदार था. दोनों कमाल का डांस करते थे. ऐसे में जब अमिताभ और रेखा के बीच फिल्मी रिश्ते से ‘कुछ’ ज्यादा की खबर आई तो यकीनन लोगों को इस पर विश्वास करने में देर नहीं लगी. ये अलग बात है कि इस रिश्ते का पूरा सच सामने नहीं आया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi