S M L

बर्थडे स्पेशल: क्यों बस 'हैरी पॉटर' नहीं रहना चाहते डैनियल रैडक्लिफ

हैरी पॉटर की सफलता ने क्यों डैनियल रैडक्लिफ की राह और मुश्किल कर दी थी? पढ़िए.

Updated On: Jul 23, 2017 12:49 PM IST

Tulika Kushwaha Tulika Kushwaha

0
बर्थडे स्पेशल: क्यों बस 'हैरी पॉटर' नहीं रहना चाहते डैनियल रैडक्लिफ

सफलता और शोहरत कुछ शर्तों के साथ आती है. इसके लिए बड़ी कीमत चुकानी पड़ती है. खासकर जब बहुत कम उम्र में सफलता आपके कदमों में हो तो आपके सामने और चुनौतियां खड़ी होती हैं, उनमें से एक है खुद को उसके काबिल साबित करना.

74 मिलियन डॉलर. एक ही फिल्म से महज 22 साल की उम्र में इतनी रकम कमा लेने के बाद डैनियल रैडक्लिफ ने ये साबित करना शुरू किया कि वो इसके काबिल हैं.

साल 2000 में जेके रॉलिंग की वर्ल्ड फेमस बुक सीरीज हैरी पॉटर के लीड कैरेक्टर हैरी के रोल में नजर आया वो 11 साल का बच्चा आज 27 साल का हो रहा है. और उसने दुनिया के आगे साबित कर दिया है कि सफलता उसे प्लेट में रखकर नहीं मिली थी.

डैनियल जैकब रैडक्लिफ का जन्म लंदन के सबअर्बन इलाके फुल्हम में हुआ था. उनके पिता एलन रैडक्लिफ लिटरेरी एजेंट और उनकी मां मार्सिया रैडक्लिफ बीबीसी के साथ कास्टिंग एजेंट थीं. डैनियल 5 साल की उम्र से ही एक्टिंग करना चाहते थे. स्कूल के प्ले में हिस्सा लेने का उत्साह आज उन्हें ब्रॉडवे का एक भरोसेमंद कलाकार बना चुका है.

1999 में 10 साल की उम्र में डैनियल ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत बीबीसी टेलीफिल्म कॉपरफील्ड से की थी. चार्ल्स डिकेंस के सेमी-ऑटोबायोग्राफिकल नॉवेल पर बने इस टीवी शो में डैनियल ने यंग कॉपरफील्ड का रोल किया था. इसके बाद उन्होंने एक फिल्म द टेलर ऑफ पनामा में काम किया. लेकिन इसके बाद वो हुआ जो उस बच्चे की जिंदगी बदल देने वाला था.

हैरी पॉटर स्टार: द चोजेन वन

DANIEL RADCLIFFE AT HARRY POTTER PREMIERE.

महज 11 साल की उम्र में हैरी पॉटर का रोल मिल जाने वाले उस बच्चे ने कभी नहीं सोचा होगा कि ये सीरीज दूसरी सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म सीरीज होगी. 5 साल की उम्र से ही एक्टिंग का सपना देखने वाले डैनियल के लिए ये किसी सपने से कम नहीं था.

फिल्म के प्रोड्यूसर डेविड हेमैन ने डैनियल को एक प्ले के दौरान देखा था. डैनियल वहां अपने पिता के साथ थे. डेविड हेमैन ने डैनियल को देखते ही तय कर लिया था कि यही हैरी पॉटर है. फिल्म के निर्देशक क्रिस कोलंबस ने कहा था, ‘दैट्स इट. यही हमारा हैरी पॉटर है.'

कुछ महीने बाद खुशी से चिल्लाते हुए डैनियल के पिता बाथरूम में नहाते हए डैनियल के पास आए और बोले, ‘गेस करो, वो हैरी पॉटर का रोल किसको दे रहे हैं.’ डैनियल रोने लगे.

और डैनियल रैडक्लिफ बने द चोजेन वन.

लेकिन 7 किताबों पर बनी फिल्म के लिए लगभग 10 साल का वक्त चाहिए था और ये बहुत बड़ा कमिटमेंट था. डैनियल के माता-पिता बस दो फिल्मों के लिए तैयार हुए. लेकिन दो फिल्मों ने आगे का रास्ता भी आसान कर दिया.

डैनियल के हैरी पॉटर सफर पर अलग से लिखा जा सकता है लेकिन ये उसके बाद की कहानी है. हैरी पॉटर की तरह ही डैनियल को भी पढ़ाई में ज्यादा दिलचस्पी नहीं थी, साथ ही टाइट शेड्यूल की वजह से भी वो इसके बाद कभी नॉर्मल स्टूडेंट नहीं रहे. उन्होंने सेट पर ट्यूटरों से पढ़ाई की. साथ ही वो कभी कॉलेज या यूनिवर्सिटी भी नहीं गए लेकिन इसके लिए उनका पहला प्यार एक्टिंग और राइटिंग जिम्मेदार हैं.

हैरी पॉटर के बाद का सफर

डैनियल ने हैरी पॉटर फिल्म करने के साथ अपने थिएटर का प्यार भी जिंदा रखा. इस फिल्म के साथ-साथ डैनियल ने इक्का-दुक्का दूसरी फिल्में भी कीं लेकिन 2007 में नाटक इक्वस  में काम करके उन्होंने जता दिया कि वो हॉगवर्ट्स के शर्मीले जादूगर के किरदार में बंधकर रहने नहीं आए हैं. डैनियल ने इस प्ले में घोडों के अस्तबल में काम करने वाले एक ऐसे लड़के का रोल किया, जिसमें घोड़ों को लेकर अजीब सा ऑब्शेसन है. इस प्ले ने साबित कर दिया कि डैनियल रैडक्लिफ एक्टिंग को लेकर कितने जुनूनी हैं और एक्सपेरिमेंट करने को तैयार है. क्रिटिक्स ने इस प्ले को बहुत पसंद किया- खासकर डैनियल की एक्टिंग को.

Daniel Radcliffe

डैनियल ने इसके अलावा भी कई प्ले और म्यूजिकल ब्रॉडवे में काम किया है- जिसमें उन्होंने अपनी शानदार मौजूदगी दर्ज कराई है. हाउ टू सक्सीड इन बिजनेस विदाउट रियली ट्राइंग, द क्रिपल ऑफ इनिशमान, रॉजेनक्रान्तज एंड गिल्डेनस्टर्न आर डेड में डैनियल को काफी पसंद किया गया है.

इसके अलावा डैनियल ने अब तक हर तरह की फिल्में की है. रोमांटिक कॉमेडी (द एफ वर्ड), थ्रिलर (किल योर डार्लिंग्स, इम्पीरियम, नाउ यू सी मी2), हॉरर (द वुमेन इन ब्लैक), सुपरनैचुरल थ्रिलर (हॉर्न्स), कॉमेडी ड्रामा (स्विस मैन आर्मी), साइंस फिक्शन (विक्टर फ्रैंकेन्स्टाइन). ये फिल्में डैनियल की एक्टिंग के दायरे को काफी गुंजाइशें देती हैं.

सबसे बड़ा क्रिटिक

टैलेंट और मौकों से भरे डैनियल का अगर कोई सबसे बड़ा आलोचक है, तो वो खुद डैनियल हैं. डैनियल ने अपनी एक्टिंग को लेकर कहा था कि जब मैं बाद में हैरी पॉटर की पहली दोनों फिल्में देखता हूं तो बहुत बुरा लगता है, ऐसा लगता है जैसे मैं बस लाइनें पढ़ रहा हूं, एक्टिंग गायब है. वो कहते हैं कि मैं खुद को किसी रोल में देखना पसंद नहीं करता हूं, जब देखता हूं तो सोचता हूं, ‘ओह, चुप हो जाओ. बेवकूफ दिख रहे हो.’

रैडक्लिफ कहते हैं कि मैं जानता हूं कि हैरी पॉटर के बाद मेरे लिए चीजें ज्यादा मुश्किल थीं क्योंकि मुझे साबित करना था कि मैं लकी नहीं हूं कि मुझे ये रोल मिल गया है और मैं फेमस हो गया हूं. मुझे दिखाना था कि ये सफलता मेरी मेहनत से आई है. सफलता हमेशा मेहनत से ही आती है. मुझे इस बात से नफरत है कि मुझे ये कहा जाए कि मैं लकी रहा, लेकिन मुझे लगता है कि आप अपनी किस्मत खुद लिखते हैं. कम उम्र में शोहरत मिलने वालों को ये प्रूव करना पड़ता है कि जो कुछ उन्हें मिला है, वो उसके काबिल हैं.

डैनियल कभी खुद पर लिखी बातें नहीं पढ़ते, न ही सोशल होते हैं. वो एक बेहद प्राइवेट पर्सन हैं. शायद इसलिए हमारा ‘हैरी पॉटर’ जमीन से जुड़ा हुआ इंसान है.

भाड़ में जाए सबकुछ मैं हैरी पॉटर हूं

daniel-radcliffe-

डैनियल रैडक्लिफ ने बहुत सी कमजोरियों पर फतह हासिल की है. खुद को साबित करने में लगे इस एक्टर को डिस्परेक्सिया है. ये एक फिजिकल-मेंटल डिसऑर्डर है, जिसमें आंखों का बॉडी से रिदम नहीं बैठ पाता, जिससे छोटे-छोटे काम करने में भी दिक्कत होती है. हालांकि, डैनियल पर इसका असर बहुत थोड़ा है लेकिन उन्हें लिखने या जूते के फीते बांधने जैसी छोटी-छोटी चीजों में मुश्किल होती है.

डैनियल ने एक्सेप्ट किया था कि उन्हें अल्कोहल की बहुत बुरी लत लग गई थी. डैनियल ने एक इंटरव्यू में कहा था कि शराब आपको बदल देती है. आप कोई और इंसान बन जाते हैं. मैं नहीं बता सकता कि मैं क्या बन जाता था क्योंकि मुझे बिल्कुल याद नहीं है. लेकिन मेरी हालत इतनी खराब हो जाती थी कि किसी और को मेरा खयाल रखना पड़ता था, ये सब बहुत बुरा था. अब मैं बिल्कुल ड्रिंक नहीं करता.

डैनियल को सबसे ज्यादा फिक्र अपनी हाइट को लेकर होती थी. डैनियल की हाइट कम है, जिसको लेकर वो हमेशा कॉन्शस रहते थे. लेकिन इससे उबरने के लिए उन्हें बस एक लाइन की जरूरत पड़ी F*** that, I’m Harry Potter’.

डैनियल कहते हैं कि हैरी पॉटर ने उन्हें एक अच्छा इंसान बनने में मदद की है. हैरी ने मुझे कॉन्फिडेंस दिया है और अच्छे बुरे की समझ दी है. पहली बार किताब पढ़ने पर मुझे हैरी पॉटर पसंद नहीं आई लेकिन उस किरदार को जीने के बाद मैं एक बेहतर इंसान बना. डैनियल अपनी कमाई का बड़ा हिस्सा चैरिटी में देते हैं और अक्सर अपने अच्छे कामों के लिए चर्चा में रहते हैं कभी किसी ‘मगलू’ की मदद के लिए तो कभी अपनी कविताओं के लिए. डैनियल ने पेन नेम जैकब ग्रेशम से कुछ कविताएं लिखी हैं (और मुझे खुशी है कि वो लव पोएट्रीज नहीं हैं).

मैं हमेशा हैरी पॉटर रहूंगा

हालांकि, वो आगे कभी हैरी पॉटर का किरदार नहीं करना चाहते क्योंकि उनके हिसाब से एक किरदार को जीने के लिए 10 साल काफी हैं. लेकिन डैनियल का मानना है कि कुछ लोग कभी उन्हें हैरी से अलग करके नहीं देख पाएंगे. और उन्हें इस बात पर गर्व है कि वो इस किरदार से जुड़े हैं. डैनियल का कहना है कि मैं जानता हूं कि कुछ लोगों के लिए मैं हमेशा हैरी पॉटर रहूंगा लेकिन मैं चाहता हूं कि मुझे बतौर हैरी पॉटर उसी तरह याद किया जाए, जैसे स्टार वॉर्स के लिए हैरिसन फोर्ड को याद किया जाता है.

सच में कुछ लोगों के लिए डैनियल रैडक्लिफ हमेशा हैरी पॉटर ही रहेंगे और मैं भी उनमें से एक हूं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi