S M L

जिमी हैंड्रिक्स: दुनिया का सबसे महान और सबसे दुर्भाग्यशाली गिटारिस्ट

जिमी को क्लब 27 का सबसे प्रसिद्ध नाम माना जाता है

Updated On: Sep 18, 2017 05:29 PM IST

FP Staff

0
जिमी हैंड्रिक्स: दुनिया का सबसे महान और सबसे दुर्भाग्यशाली गिटारिस्ट

कला की दुनिया में एक शब्द इस्तेमाल होता है लेजेंड. हिंदी रियलिटी शो में हर दूसरे अधेड़ आदमी को लेजेंड करने की परंपरा को छोड़ दें तो इस शब्द का इस्तेमाल ऐसी शख्सियत के लिए होता है जो कला की दुनिया को एक नया मोड़ देते हैं. रॉक एंड रोल की दुनिया में जिमी हैंड्रिक्स का है.

जिमी हैंड्रिक्स ने दुनिया भर के संगीत को दो नई चीजें दीं एक तो वो रॉक म्यूज़िक में लीड गिटार को एक दूसरे लेवल पर ले गए. आज भी दुनिया भर के संगीत समीक्षक उन्हें दुनिया का सर्वश्रेष्ठ गिटारिस्ट मानते हैं. मगर उनकी दूसरी देन संगीत की दुनिया के लिए अभिशाप है. जिमी को संगीत की दुनिया के कुख्यात क्लब 27 को लोकप्रिय करने का जिम्मेदार माना जाता है.

दांतो से गिटार बजाते जिमी

क्या है क्लब 27

रॉक एंड रोल की दुनिया में क्लब 27 ऐसे संगीतकारों का जमावड़ा है जो किसी न किसी कारण से 27 की उम्र में मर गए. इस क्लब में पहला नाम 1969 में मारे गए ब्रायन जोन्स का है. मगर इसको लोकप्रियता 1970 में 27 साल की उम्र में मर गए जिमी हैंड्रिक्स से ही मिली. 1994 में निर्वाणा बैंड के लीड सिंगर कर्ट कोबेन ने यह कहते हुए आत्महत्या की थी कि वो जिमी हैंड्रिक्स की तरह लेजेंड बनने के लिए क्लब 27 में शामिल हो रहे हैं. इसके बाद 2011 में एमी वाइनहाउस की मौत के बाद क्लब 27 और कुख्यात हो गया.

जिमी को लेजेंड्री गिटारिस्ट माना जाता है. जबकि उनका प्रोफेशनल करियर सिर्फ 4 साल चला. जिमी का बचपन बहुत खराब रहा था. 9 साल की उम्र तक वो अपने साथ स्कूल में एक झाड़ू रखते थे जिससे वो हर गिटार की नकल करते रहते थे. इसी दौर में उन्हें कूड़े में एक खराब यूकेलेले (बहुत छोटा गिटार) मिला जिसमें बस एक तार था. जिमी ने इस पर कई साल तक खुद ही गिटार बजाना सीखा. 15 साल की उम्र में उन्हें पहला गिटार मिला.

1962 में जिमी ने सेना छोड़ी और म्यूजिक की दुनिया में कदम रखा. शुरुआत में लोगों को इंप्रेस करने के लिए वो दांतों से गिटार बजाया करते थे. 1964 में जिमी का पहला अलबम रिकॉर्ड हुआ इसके बाद 1969 तक दुनिया भर में अपने सुपरहिट शो के साथ वो सबसे महंगे म्यूजीशियन बन गए. एक तरफ उनकी संगीत की यात्रा चल रही थी दूसरी तरफ जिमी नशे में डूबते जा रहे थे.

जिमी शराब में ड्रग्स मिलाकर पीते थे. इसके अलावा उन्होंने हर तरह का नशा किया. अपने यूरोप शो के आखिरी शो में वो सही से परफॉर्म नहीं कर पाए. इसके अड़तालीस घंटे के अंदर ही उनकी मौत हो गई.

ये भी पढ़ें: रॉडरीगेज़: संगीत की दुनिया में इससे रोमांचक कहानी नहीं है

जिमी की मौत ने दुनिया भर को स्तब्ध कर दिया मगर इससे संगीत की दुनिया में ड्रग्स के इस्तेमाल में कोई कमी नहीं आई. इसके बाद तमाम स्टार ड्रग्स का इस्तेमाल करते रहे और मरते रहे. वैसे आपको बता दें कि फरहान अख्तर की फिल्म रॉक ऑन का गाना क्या तुमने सोचा है जिमी हैंड्रिक्स की एक परफॉर्मेंस से प्रेरित था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi