S M L

International Women's Day 2018 : पॉलिटिकल-सोशल माइंडसेट बनातीं महिलाएं

इस एक साल में खबरों में बनी रहने वाली औरतों के जरिए हम पॉलिटिकल और सोशल माइंडसेट पर भी नजर डाल सकते हैं

Updated On: Mar 09, 2018 11:26 AM IST

Tulika Kushwaha Tulika Kushwaha

0
International Women's Day 2018 : पॉलिटिकल-सोशल माइंडसेट बनातीं महिलाएं

आज 8 मार्च है. औरतों का दिन. लेकिन यहां आज की बात करने के बजाए पिछले 1 साल में चर्चित हुई महिलाओं और उनसे जुड़ी घटनाओं पर बात होगी, चाहे सुर्खियां बनने की वजह जो कुछ भी रही हो. इस एक साल में खबरों में बनी रहने वाली औरतों के जरिए हम पॉलिटिकल और सोशल माइंडसेट पर भी नजर डाल सकते हैं.

वॉशिंगटन में वुमन्स मार्च

पिछले साल की शुरुआत में ही महिलाओं ने पूरा साल अपने नाम कर लिया था. अमेरिकी राष्ट्रपति पद की शपथ ले रहे डोनाल्ड ट्रंप के महिला विरोधी बयानों के विरोध में लाखों महिलाओं ने मार्च निकाला. इस प्रदर्शन को अमेरिका के इतिहास में एक दिन में होने वाला अब तक का सबसे बड़ा विरोध प्रदर्शन कहा गया. साल 2018 की शुरुआत में भी महिलाओं ने इस मार्च की एनिवर्सिरी मनाने के लिए मार्च निकाला था.

दुनिया के सबसे शक्तिशाली नेता के खिलाफ अमेरिकी महिलाओं का ये मुखर विरोध एक मिसाल है. ट्रंप पर इसका असर शायद ही पड़ा हो, लेकिन इस मार्च ने ये जरूर तय कर दिया कि कोई भी औरतों के लिए घटिया बयान देकर और दुर्भावना रखकर यूं ही नहीं निकल सकता. और अगर ऐसा होता है तो इसका विरोध करने के लिए लाखों महिलाएं आसानी से इकट्ठा हो सकती हैं.

metoo-rep-twitter

#MeToo कैंपेन

अगर इस साल सबसे ज्यादा चर्चा में कोई मुद्दा रहा तो यही था. हॉलीवुड की बड़ी-बड़ी हस्तियों ने अपने साथ अपने साथ हुए यौन शोषण पर पहली बार चुप्पी तोड़ी, जिससे दुनिया भर में इस मुद्दे पर नए सिरे से बात शुरू हुई. सेक्सुअल हैरेसमेंट की जड़ें कितने भीतर तक घुसी हुई हैं और इनका डर कितना गहरा है, इसका भयावह चेहरा इस दौरान निकलकर आया. ऐसी-ऐसी शख्सियतों ने अपने साथ हुई घटनाओं का खुलासा किया कि पूरी दुनिया हैरान रह गई. इनमें सलमा हायक, जूलियन मूर, टेलर स्विफ्ट जैसे हॉलीवुड के काफी बड़े-बड़े नाम शामिल रहे. सालों से कथित रूप से इंडस्ट्री की महिलाओं का यौन शोषण कर रहे फिल्म प्रोड्यूसर हार्वे विन्सटीन के खिलाफ इन महिलाओं ने मुहिम छेड़ दी.

ईरान की हिजाब उतारती औरतें

ईरान में पिछले दिनों एक बहुत ही खुशनुमा चीज देखने को मिली. ईरान की महिलाओं ने सार्वजनिक रूप से अपने हिजाब को उतारकर अपना विरोध प्रदर्शन किया. ऐसे कई वीडियोज भी सामने आएं, जिनमें महिलाएं अपने हिजाब उतारकर विरोध जता रही थीं. दिसंबर में ऐसी 30 से ज्यादा महिलाओं को गिरफ्तार भी कर लिया गया था.

ईरान में हिजाब को लेकर बहुत सख्त कानून है. यहां सिर खुला रखने पर जेल की सजा और जुर्माना भी हो जाता है. 1979 के ईरानी रिवॉल्यूशन के बाद ये कानून वहां की औरतों पर थोप दिए गए, जिनका महिलाएं अब पहले से ज्यादा मुखर तरीके से विरोध कर रही हैं.

Senior White House Advisor Ivanka Trump speaks before U.S. President Donald Trump signed an education memorandum in Washington

इवांका ट्रंप

यूं तो इवांका ट्रंप अपने पिता डोनाल्ड ट्रंप के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में खड़े होने के साथ ही राजनीतिक रूप से काफी अहम हो गई थीं लेकिन पिछले वक्त में उनका कद और बढ़ा है. कहा जाता है कि वाइट हाउस में डोनाल्ड ट्रंप के बाद इवांका ट्रंप के पास अच्छी खासी अथॉरिटी है. पिछले नवंबर में वो भारत भी आई थीं. उनकी ये यात्रा काफी चर्चा में रही. लेकिन इसी दौरान उनकी क्लोदिंग और शू चेन कंपनी काफी विवादों में रही. कंपनी पर बाहरी देशों में मैन्यूफैंक्चरिंग और लेबरों की सैलरी से जुड़े कई आरोप लगे.

आंग सान सू की

आंग सान सू की

आंग सान सू की

म्यांमार की राष्ट्रपति और नोबल पुरस्कार विजेता आंग सान सू ने इस साल बहुत ही अप्रत्याशित बातों के लिए चर्चा में रहीं. कभी शांति के लिए नोबल पुरस्कार विजेता बनीं आंग सान सू की एक के बाद एक अपने सम्मान (में मिले अवॉर्ड) खोती जा रही हैं. रोहिंग्या शरणार्थियों पर उनके रुख के चलते दुनिया भर में उनकी साख को बट्टा लगा है.

किम यो जोंग

फिलहाल नॉर्थ कोरिया की सबसे पॉवरफुल हथियार मानी जा रहीं किम यो जोंग तानाशाह किम जोंग उन की बहन हैं. फरवरी में प्योंगचांग में हुए विंटर अोलंपिक्स में किम यो जोंग ने अचानक से अपनी पब्लिक अपीयरेंस से सबको चौंका दिया था. इसके पहले सालों से उनकी कोई चर्चा नहीं हो रही थीं. लेकिन उन्होंने इस दौरान मीडिया को बात करने के लिए काफी कुछ दिया.

कहा जा रहा है कि किम जोंग उन के बाद नॉर्थ कोरिया में किम यो जोंग के पास ही सबसे ज्यादा पॉवर है. साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की एक रिपोर्ट की मानें तो अब जोंग को न्यूक्लियर वॉर जैसी स्थिति को हल करने के लिए डोनाल्ड ट्रंप से बात करने के लिए अमेरिका भेजा जा सकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi