S M L

प्रॉमिस डे 2018: इन शायरी के साथ करें प्रॉमिस डे के वादे

दाग़ से गुलज़ार तक बहुत से शायरों ने वादा करने और निभाने के ऊपर शेर कहे हैं

Updated On: Feb 10, 2018 04:02 PM IST

FP Staff

0
प्रॉमिस डे 2018: इन शायरी के साथ करें प्रॉमिस डे के वादे

वैलेंटाइन वीक चल रहा है. 11 फरवरी 2018 को प्रॉमिस डे है. उर्दू शायरी और हिंदी कविता में प्रॉमिस, वादे निभाने और तोड़ने पर बहुत कुछ लिखा गया है.

दाग देह्लवी ने लिखा है,

वादा झूठा कर लिया चलिए तसल्ली हो गई है ज़रा सी बात ख़ुश करना दिल-ए-नाशाद का

valentine day banner

दाग का ही शेर है,

वफ़ा करेंगे निबाहेंगे बात मानेंगे तुम्हें भी याद है कुछ ये कलाम किस का था

मिर्ज़ा ग़ालिब ने तंज कसने के अंदाज में कहा है,

तेरे वादे पे जिए हम तो ये जान झूठ जाना खुशी से मर ही न जाते अगर ऐतबार होता.

valentine promise day 2018 love story images

जोश मलीहाबादी वादे के ऊपर कहते हैं,

सुबूत है ये मोहब्बत की सादा-लौही का जब उस ने वादा किया हम ने एतबार किया

valentine promise day 2018 love story images (1)

इसी तरह मोमिन खान मोमिन कहते हैं,

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो वही यानी वादा निबाह का तुम्हें याद हो कि न याद हो

A heart-shaped hot air balloon flies in the sky during the "Love Cup 2016" event, ahead of Valentine's Day, in Jekabpils

गुलज़ार अपने ही ढंग में कहते हैं,

आदतन तुम ने कर दिए वादे आदतन हम ने एतबार किया

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi