विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

ऐसा कॉमेडियन जिसे कपिल शर्मा भी अपना गुरु मानते हैं

पंजाब चुनाव में गुरप्रीत सिंह घुग्गी के लिए वोट भी मांग चुके हैं कॉमेडी किंग कपिल शर्मा

Puneet Saini Puneet Saini Updated On: Jul 19, 2017 01:08 PM IST

0
ऐसा कॉमेडियन जिसे कपिल शर्मा भी अपना गुरु मानते हैं

पंजाबी कॉमेडियन के रूप में अपनी पहचान बनाने वाले गुरप्रीत सिंह वरैच आज 46 साल के हो गए हैं. पंजाब समेत पूरे भारत में पंजाबी कॉमेडियन गुरप्रीत सिंह वरैच को लोग ‘घुग्गी’ के नाम से जानते हैं. पंजाब के गुरुदासपुर में जन्मे घुग्गी 50 से ज्यादा हिंदी, पंजाबी फिल्मों में काम कर चुके हैं.

कपिल के लिए क्यों खास हैं घुग्गी

आज कॉमेडी किंग बोलते ही कपिल शर्मा का नाम सामने आता है. ये तो सब जानते हैं कि कपिल शर्मा ने अपने जीवन में संघर्ष बहुत किया है. लेकिन कपिल के संघर्ष की कहानी बिना घुग्गी के पूरी नहीं होती. कपिल 9 से ज्यादा छोटे बड़े शो कर चुके हैं. लेकिन उन्हें असली पहचान स्टार वन पर आने वाले कॉमेडी शो लाफ्टर चैलेंज से मिली. कपिल इस शो के ना सिर्फ विजेता बने बल्कि एक बड़े कॉमेडियन के रूप में भी उभरे.

कपिल लाफ्टर चैलेंज से पहले एमएच1 पर आने वाले शो 'हसदे हसांदे रहो' में भी काम कर चुके हैं. यह एक पंजाबी शो था. सबसे बड़ी बात है कि इस शो के जज गुरप्रीत सिंह घुग्गी और भगवंत मान थे. अपने नाम की पहचान तलाश रहे कपिल के लिए घुग्गी एक बड़ा नाम थे.

कपिल घुग्गी को कॉमेडी में अपना गुरु मानते हैं. इसका सबूत उन्होंने पंजाब चुनाव में घुग्गी के लिए वोट मांगकर भी दिया. चुनाव से पहले गुरप्रीत सिंह घुग्गी ने जब आम आदमी पार्टी का हाथ थामा तो कपिल ने वीडियो शेयर कर घुग्गी के लिए वोट मांगे. वहीं एक तरफ कपिल के मौजूदा शो के साथी नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस ज्वाइन की थी. तो गुरप्रीत सिंह घुग्गी ने आप ज्वाइन की थी. अपनी करीबी को दिखाते हुए कपिल ने वीडियो में कहा ‘मैंने इससे पहले किसी भी पॉलिटिकल पार्टी के लिए वोट नहीं मांगे. लेकिन हमें हमेशा काबिल उम्मीदवार को वोट देना चाहिए. गुरप्रीत जी ईमानदार व्यक्ति है’.

कपिल ने इस वीडियो में गुरप्रीत सिंह घुग्गी को अपना बड़ा भाई भी बताया. हालांकि चुनाव के बाद गुरप्रीत सिंह घुग्गी ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया.

स्टूडेंट से बेस्ट कॉमेडियन तक का सफर

गुरदासपुर में जन्मे गुरप्रीत सिंह घुग्गी जालंधर में बड़े हुए. 1990 में उन्होंने गुरुनानक देव यूनिवर्सिटी में बीए पार्ट 1 में एडमिशन लिया. कॉलेज के शुरुआती साल में ही गुरुनानक देव यूथ फेस्टिवल में उन्हें बेस्ट एक्टर इन ड्रामा का अवॉर्ड मिला. कॉलेज से अलग भी घुग्गी थियेटर किया करते थे. उनके साथियों का कहना है कि उनके हावभाव बचपन से ही कॉमेडियन और एक्टिंग वाले थे. अपने इसी अंदाज से घुग्गी स्कूल और कॉलेज में अपने साथियों का खूब मनोरंजन करते थे.

गुरप्रीत सिंह घुग्गी ने अपने पंजाबी एक्टिंग की शुरुआत जालंधर में दूरदर्शन की टेलीफिल्म और शो से की. सुनहरी जिल्द, घुग्गी एक्सप्रेस, बल्ले-बल्ले शावा-शावा और उडीक किरदार को लोगों ने खूब पसंद किया.

पंजाब में तो लोग घुग्गी को पहचान चुके थे. लेकिन अभी भी घुग्गी के लिए मंजिल बहुत दूर थी. स्टार वन पर आने वाले ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ से उन्हें इंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में बड़ा ब्रेक मिला. इसके बाद उनका टैलेंट ना सिर्फ भारत बल्कि विदेशों में भी पसंद किया जाने लगा.

इस शो के बाद उन्हें ना सिर्फ पंजाब बल्कि बॉलीवुड फिल्मों में भी ब्रेक मिला. खिलाड़ी अक्षय कुमार के साथ उन्होंने कई बॉलीवुड फिल्मों में काम किया. जिसमें नमस्ते लंदन, खिलाड़ी 786, हमको दीवाना कर गए, सिंह इज किंग जैसे फिल्में शामिल हैं.

घुग्गी ने स्टार वन पर आने वाले शो ‘हंस बलिए’ में पार्टिसिपेट किया और विजेता भी बने. पंजाबी फिल्मों में भी उनकी कॉमेडी को लोगों ने खूब पसंद किया. उनकी प्रमुख फिल्मों में ‘इक कुड़ी पंजाब दी, जी आया नूं, असां नूं मान वतना दा’ जैसी हिट फिल्में शामिल हैं. घुग्गी अमेरिका, इटली, फ्रांस, जर्मनी आदि जगहों पर स्टेज शो कर चुके हैं. आज घुग्गी ऐसा नाम बन गए हैं जिनके बिना पंजाबी कॉमेडी की कल्पना करना भी मुश्किल हो चुका है. घुग्गी ने यह मकाम सिर्फ अपनी मेहनत और टैलेंट के दम पर बनाया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi