S M L

जन्मदिन विशेष: गैराज में काम करते थे 'गुलजार', पत्नी की सरेआम कर दी थी पिटाई

बॉलीवुड में अगर गुलजार न हों तो एक अधूरापन सा लगेगा, उनकी मौजूदगी ही फिल्म इंडस्ट्री में इश्क का गुलशन महकाती है

Updated On: Aug 18, 2018 02:09 PM IST

Rituraj Tripathi Rituraj Tripathi

0
जन्मदिन विशेष: गैराज में काम करते थे 'गुलजार', पत्नी की सरेआम कर दी थी पिटाई
Loading...

तुझसे नाराज नहीं जिंदगी, हैरान हूं मैं..तेरे मासूम सवालों से परेशान हूं मैं.. इस गाने को तो आपने सुना ही होगा. प्रसिद्ध गीतकार गुलजार ने ही इसे दुनिया से रूबरू करवाया था. गुलजार नाम सुनते ही दिल में एक अलग किरदार की छवि बन जाती है. एक शायर, लेखक, गीतकार, निर्माता, निर्देशक जैसी कई पहचान उनके नाम के साथ जुड़ी हुई हैं.

बॉलीवुड में अगर गुलजार न हों तो एक अधूरापन सा लगेगा, उनकी मौजूदगी ही फिल्म इंडस्ट्री में इश्क का गुलशन महकाती है. आज यानि शनिवार को गुलजार का जन्मदिन है. गुलजार का जन्म 18 अगस्त 1934 को पंजाब के झेलम जिले में दीना गांव में हुआ था. अब यह हिस्सा पाकिस्तान में है. वह एक सिख परिवार में जन्मे थे. उनके बचपन का नाम सम्पूर्ण सिंह कालरा था.

बचपन में ही मां के गुजर जाने की वजह से उन्हें पिता का बहुत दुलार नहीं मिला. देश का बंटवारा होने की वजह से उनका परिवार अमृतसर आकर बस गया और गुलजार मुंबई चले आए. पैसे की तंगहाली की वजह से उन्होंने वर्ली के एक गैराज में मैकेनिक का काम करना शुरू कर दिया. गुजलार को लिखने का बहुत शौक था इसलिए वह खाली समय में कविताएं लिखा करते थे.

निर्देशक के तौर पर गुलजार ने अपना करियर 1971 में 'मेरे अपने' से शुरू किया था. इससे पहले बतौर लेखक उन्होंने आशीर्वाद, आनन्द, खामोशी जैसी फिल्मों के लिए डायलॉग और स्क्रिप्ट लिखी थी. गुलजार ने संजीव कुमार के साथ मिलकर आंधी, मौसम, अंगूर और नमकीन जैसी फिल्में भी निर्देशित कीं.

प्यार और तकरार के बाद शुरू हुआ 44 सालों से अकेले रहने का दौर

rakhi gulzar

गुलजार को गुजरे जमाने की मशहूर अदाकारा राखी से मोहब्बत हो गई थी. राखी पहले से शादीशुदा थीं. 15 साल की उम्र में उनकी शादी एक बांग्ला फिल्मकार से हो चुकी थी. लेकिन यह शादी लंबे समय तक नहीं चली और ये रिश्ता टूट गया. गुलजार की राखी से पहली मुलाकात बॉलीवुड की एक पार्टी में हुई और वह उन्हें दिल दे बैठे. आखिरकार दोनों ने 15 मई 1973 को शादी कर ली.

शादी के लिए गुलजार ने राखी के सामने एक शर्त रखी थी कि वह अब फिल्मों में काम नहीं करेंगी, लेकिन राखी दिल से इस शर्त को न मान सकीं. उन्हें लगता था कि एक दिन गुलजार फिल्मों में काम करने की इजाजत दे देंगे. हालांकि साल बीतते गए लेकिन गुलजार का दिल नहीं पसीजा. उस वक्त गुलजार के पास बहुत काम था लेकिन राखी खाली बैठी हुई थीं. इसी बात को लेकर दोनों में झगड़े होने लगे. राखी जब फिल्मों में काम करने की बात छेड़तीं तो गुलजार भड़क जाते, ऐसा अक्सर होने लगा था.

कश्मीर में 'आंधी' फिल्म की शूटिंग चल रही थी. इस फिल्म की हीरोइन सुचित्रा सेन, अभिनेता संजीव कुमार से नाराज चल रही थीं. इसीलिए गुलजार सुचित्रा को मनाने पहुंचे, बंद कमरे में घंटों दोनों के बीच बात होती रही. बहुत देर समझाने के बाद आखिर सुचित्रा मान गईं और गुलजार बंद कमरे से जैसे ही बाहर निकले, उनका राखी से सामना हो गया.

सुचित्रा के कमरे से गुलजार को बाहर आता देख आगबबूला हो गईं थी राखी

गुलजार को रात में सुचित्रा के कमरे से बाहर आता देख राखी भड़क गईं और उन्होंने पूछा कि इतनी रात को वह सुचित्रा के कमरे में क्या कर रहे हैं. गुलजार ने मामले को संभालने की कोशिश की लेकिन राखी का गुस्सा सातवें आसमान पर था. उनकी आवाज इतनी तेज थी कि होटल का स्टाफ इकट्ठा हो गया.

गुलजार के सब्र का बांध टूट चुका था और उन्होंने बिना सोचे समझे राखी पर हाथ छोड़ दिया. बाद में होटल के स्टाफ के जरिए खबर आई कि उस रात गुलजार ने राखी की खूब पिटाई की थी.

पति की पिटाई से आहत राखी ने दोबारा फिल्मों में जाने का मन बना लिया और यश चोपड़ा की फिल्म 'कभी कभी' से नई पारी शुरू कर दी. राखी और गुलजार बेटी के पैदा हो जाने के बाद 1974 में एक-दूसरे से अलग हो गए थे और तब से लेकर अब तक उनके बीच में तल्खी बनी हुई है. हालांकि दोनों सार्वजनिक मंचों पर साथ दिखाई दे जाते हैं लेकिन बीते 44 सालों से गुलजार अकेले ही रह रहे हैं.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi